सबसे बड़ा दान, रक्तदान ही जीवनदान! जैसी पावन पंक्तियों को बीकानेर ब्लड सेवा समिति के रक्तदाता नियमित साकार कर पीड़ितों को राहत प्रदान कर रहे है। समिति के कार्यकारिणी सदस्य रक्तमित्र हर्षित चाण्डक ने अपने नव निर्मित गृह के प्रवेश से पूर्व आपात प्लेटलेट्स बी पॉजिटिव का दान कर अपने रक्तदान सेवा धर्म को बखूबी निभाया और हम सबके सामने एक अनुकरणीय उदाहरण पेश किया। आप अपने पिताजी रक्तमित्र इन्द्र कुमार चाण्डक (सह संचालक बीकानेर ब्लड सेवा समिति) के आदर्शो को अपना कर मौका मिलते ही रक्तदान करते है।

समिति के संचालक रवि व्यास पारीक ने बताया कि यह हर्षित का तीसरा प्लेटलेट्स दान था और आप कुल आठ रक्तदान कर चुके है। ऐसे रक्तवीरों से हम सभी को प्रेरणा मिलती है कि रक्तदान के आगे कोई बहाना और जरूरी कार्य मायने नहीं रखता, फिक्र रहती है सिर्फ एक अनजान जीवन की। इस मौके पर समिति के सचिव एवं प्रभारी विक्रम इछपुल्याणी (अरोड़ा), शेखर इछपुल्याणी, रक्तमित्र मुकुल डागा, तरूण सिंह शेखावत और चंचल शर्मा आदि सदस्य गण उपस्थित रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here