नरेंद्र मोदी और अमित शाह भी आ जाए तो जबलपुर पश्चिम से नहीं जीत सकते... सांसद को टिकट मिलने के बाद बोली जनता

 0
नरेंद्र मोदी और अमित शाह भी आ जाए तो जबलपुर पश्चिम से नहीं जीत सकते... सांसद को टिकट मिलने के बाद बोली जनता
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

नरेंद्र मोदी और अमित शाह भी आ जाए तो जबलपुर पश्चिम से नहीं जीत सकते... सांसद को टिकट मिलने के बाद बोली जनता

विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी ने अपने 79 सीटों पर उम्‍मीदवार घोषित कर दिए हैं। दूसरी लिस्‍ट में बीजेपी ने अपने दिग्‍गज नेताओं को मैदान में उतारा है। जिनमें तीन केंद्रीय मंत्री और चार सांसद और बीजेपी राष्‍ट्रीय महासचिव को प्रत्‍याशी बनाया है। जबलपुर पश्चिम सीट से चार बार के सांसद राकेश सिंह को प्रत्‍याशी बनाया गया है। जबलपुर की जनता की बीजेपी उम्‍मीदवार राकेश सिंह को लेकर क्‍या राय है आइए जानते हैं।

बीजेपी ने दूसरी लिस्ट में जबलपुर पश्चिम से इस बार सांसद राकेश सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है। जबलपुर लोकसभा से 4 बार जीत चुके राकेश सिंह वर्तमान में लोकसभा के मुख्य सचेतक भी हैं। बीजेपी ने विधानसभा चुनाव में राकेश सिंह को जबलपुर पश्चिम विधानसभा से प्रत्‍याशी बनाया है। इसके पीछे पार्टी की सोची समझी रणनीति बताई जा रही है। राकेश सिंह को जिस विधान सभा का उम्मीदवार बनाया गया है, उस विधानसभा से वर्तमान विधायक कांग्रेस के तरुण भनोट है।

तरुण भनोट पिछले दो बार से इस विधानसभा से जीतते आ रहे है। 2018 के विधानसभा चुनाव में एमपी में जब कांग्रेस की सरकार बनी थी, उस वक्त भनोट को प्रदेश का वित्त मंत्री बनाया गया था। हालांकि 15 महीने तक रही कांग्रेस की सरकार के कई विधायक ज्योदित्यराज सिंधिया के साथ बीजेपी में शामिल हो गए और प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में दोबारा बीजेपी की सरकार बनी।

2023 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी की स्तिथि काफी नाजुक बताई जा रही है यही वजह है की इस बार विधानसभा में प्रदेश में कई सांसदों और केंद्रीय मंत्रियों को चुनावी मैदान में उनकी योग्यता परखने के लिए उतारा गया है। जबलपुर पश्चिम विधानसभा से राकेश सिंह को बीजेपी का उम्मीदवार बनाये जाने के बाद कई दावेदारों का जोश ठंडा हो गया है।

पश्चिम विधानसभा में कई उम्मीदवार अपनी उम्मीदवारी को लेकर दावे कर रहे थे अब उनके हौंसले पस्त हो गए है। अगर बात पश्चिम विधानसभा की जनता की करें तो उन्हें ये भी नहीं पता कि राकेश सिंह कौन है।

Even if Narendra Modi and Amit Shah come, they cannot win from Jabalpur West... Public said after MP got ticket

BJP has declared its candidates for 79 seats regarding the assembly elections. In the second list, BJP has fielded its veteran leaders. In which three Union Ministers and four MPs and BJP National General Secretary have been made candidates. Four-time MP Rakesh Singh has been made the candidate from Jabalpur West seat. Let us know what is the opinion of the people of Jabalpur about BJP candidate Rakesh Singh.

This time BJP has made MP Rakesh Singh its candidate from Jabalpur West in the second list. Rakesh Singh, who has won from Jabalpur Lok Sabha 4 times, is also currently the Chief Whip of the Lok Sabha. BJP has made Rakesh Singh its candidate from Jabalpur West Assembly elections in the assembly elections. The party is said to have a well thought out strategy behind this. The current MLA from the assembly for which Rakesh Singh has been made the candidate is Tarun Bhanot of Congress.

Tarun Bhanot has been winning from this assembly for the last two times. When the Congress government was formed in MP in the 2018 assembly elections, Bhanot was made the Finance Minister of the state. However, many MLAs of the Congress government that lasted for 15 months joined BJP along with Jyodityraj Scindia and BJP government was formed again in the state under the leadership of Shivraj Singh Chauhan.

BJP's position is said to be very critical in the 2023 assembly elections, which is why this time many MPs and Union ministers have been fielded in the assembly to test their mettle in the electoral field. After making Rakesh Singh the BJP candidate from Jabalpur West Assembly, the enthusiasm of many contenders has cooled down.

Many candidates in the Western Assembly were making claims regarding their candidature, now their spirits have been dashed. If we talk about the people of West Assembly, they do not even know who Rakesh Singh is.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT