डॉग्स पालने वालों के लिए अलर्ट;कुत्तों के हमले से पिता-बेटी की मौत, इस घटना ने बचाने वाले को भी भुगतना पड़ा महंगा

 0
डॉग्स पालने वालों के लिए अलर्ट;कुत्तों के हमले से पिता-बेटी की मौत, इस घटना ने बचाने वाले को भी भुगतना पड़ा महंगा
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

डॉग्स पालने वालों के लिए अलर्ट;कुत्तों के हमले से पिता-बेटी की मौत, इस घटना ने बचाने वाले को भी भुगतना पड़ा महंगा

राजस्थान के पाली जिले के गाँव हेमावास में रहने वाले जोधाराम मालवीय के साथ एक अद्भुत घटना घटी। जिसे जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे। दरअसल, एक पिल्ले को गली के कुत्तों से बचाने के चक्कर में उनकी मौत हो गई। इस खबर के आगमन के बाद, उनकी बेटी भी सदमें में मर गई। बेटी और पिता के चले जाने से पूरा परिवार उजड़ गया। अब इस परिवार में मुखिया की पत्नी ही बची है।

जिसे बचाया उसी ने गड़ा दिए दांत। वास्तव में, पिछले साल दिसंबर महीने के अंत में, घर के पास ही दो कुत्तों ने एक पिल्ले पर हमला किया। पिल्ले को बचाने के लिए जोधाराम ने उसे हाथों में उठाया, जिससे पिल्ले ने हाथों पर ही दांत और नाखून लगा दिए। जोधाराम ने घर जाकर घाव को डेटॉल से धो लिया, लेकिन उसने उपचार नहीं कराया। करीब 2 महीने बाद, फरवरी महीने में, जोधाराम की तबीयत अचानक बिगड़ी। परिवार ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया, जहाँ पता चला कि उन्हें रेबीज की बीमारी हो गई है।

पिता की जान जाते ही बेटी भी नहीं रही। इलाज के दौरान, जोधाराम की तबीयत बिगड़ने लगी और वह पानी देखते ही चीखने-चिल्लाने लगे। अंत में, तीन दिन पहले, उन्होंने दम तोड़ दिया। जब पिता की मौत की खबर सुनी तो 20 साल की बेटी सुरेखा ने भी जान गवाई।

डॉग्स पालने वालों के लिए अलर्ट। इस घटना ने एक संदेश दिया है कि जो लोग सड़क के कुत्तों को फीड कराते हैं या पालते हैं, उन्हें सतर्क रहना चाहिए और सड़क के कुत्तों को रेबीज के इंजेक्शन देने का प्रयास करना चाहिए।

Alert for those keeping dogs; Father and daughter died due to dog attack, the rescuer also had to bear the cost of this incident

An amazing incident happened with Jodharam Malviya, living in village Hemawas in Pali district of Rajasthan. You will also be surprised to know this. Actually, he died while trying to save a puppy from street dogs. After the arrival of this news, his daughter also died of shock. The entire family was devastated by the departure of the daughter and father. Now only the head's wife is left in this family.

The one whom he saved bit him. In fact, at the end of December last year, two dogs attacked a puppy near the house. To save the puppy, Jodharam picked it up in his hands, due to which the puppy bit his hands with its teeth and nails. Jodharam went home and washed the wound with Dettol, but did not get it treated. About two months later, in the month of February, Jodharam's health suddenly deteriorated. The family admitted him to the hospital, where he was diagnosed with rabies.

As soon as the father died, even the daughter was no more. During treatment, Jodharam's health started deteriorating and he started screaming at the sight of water. Finally, three days ago, he succumbed to his injuries. When she heard the news of her father's death, 20 year old daughter Surekha also lost her life.

Alert for dog owners. This incident has sent a message that people who feed or keep street dogs should be cautious and should avoid giving rabies injections to street dogs.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT