तारीख पर तारीख.,..तारीख पर तारीख, जज पर इतना गुस्सा आया भरी कोर्ट में चप्पल फेंककर दे मारी

 0
तारीख पर तारीख.,..तारीख पर तारीख, जज पर इतना गुस्सा आया भरी कोर्ट में चप्पल फेंककर दे मारी

तारीख पर तारीख.,..तारीख पर तारीख, जज पर इतना गुस्सा आया भरी कोर्ट में चप्पल फेंककर दे मारी

खबर राजस्थान के भीलवाड़ा जिले से है। जहां आज स्थानीय कोर्ट में दोपहर में हंगामा हो गया। चोरी के आरोप में 2 साल से बंद एक बदमाश को सुनवाई के लिए पुलिस वाले कोर्ट लेकर आए थे। उसने जज से कहा आज फैसला सुना दो मैं परेशान हो चुका हूं । जज ने उसकी बात नहीं सुनी और अगली तारीख दे दी।‌ इसी बात पर गुस्सा होते हुए उसने भरी कोर्ट में जज के ऊपर चप्पल फेंक कर मारी । यह देखकर कोर्ट में हंगामा मच गया। पुलिस ने उसे तुरंत काबू किया।


कैदी 2 साल में 20 बार कोर्ट में पेश हुआ था
पुलिस ने बताया कि भीलवाड़ा जिले की स्थानीय कोर्ट में इस्माइल खान नाम के विचाराधीन कैदी को लेकर आए थे। वह 2 साल से जेल में बंद है । उस पर चोरी के दो केस चल रहे हैं । 2 साल के दौरान करीब 20 बार वह कोर्ट में पेश हुआ है और हर बार अगली तारीख दी गई है। उसने जज को कहा कि उसके केस में फैसला सुना दिया जाए या तो उसे जेल कर दी जाए या फिर जमानत दे दी जाए।

फैसले को सुरक्षित रखा और दे दी अगली तारीख
जज ने पुलिस और गवाहों के पक्ष सुनने के बाद फैसले को सुरक्षित रखा और अगली तारीख के लिए पुलिस को फिर से पेशी पर लाने के लिए कहा । इसी बात से इस्माइल को गुस्सा आ गया और उसने जज पर गुस्सा निकाल दिया। इस घटना के बाद पुलिस सुरक्षा में जज को कोर्ट से बाहर किया गया। आरोपी के ऊपर एक और केस दर्ज करने की तैयारी की जा रही है।

Date after date, date after date, I got so angry at the judge that I threw slippers in the court and hit him.

The news is from Bhilwara district of Rajasthan. Where there was a ruckus in the local court today in the afternoon. The police had brought a criminal who had been imprisoned for 2 years on theft charges to the court for hearing. He told the judge to give the verdict today, I am upset. The judge did not listen to him and gave him the next date. Being angry at this, he threw slippers at the judge in the crowded court. Seeing this there was an uproar in the court. The police immediately controlled him.


The prisoner appeared in court 20 times in 2 years
Police said that an undertrial prisoner named Ismail Khan was brought to the local court of Bhilwara district. He is in jail for 2 years. Two cases of theft are pending against him. He has appeared in the court about 20 times in the last 2 years and has been given the next date every time. He asked the judge to give a verdict in his case either he should be jailed or he should be given bail.

Kept the decision reserved and gave next date
The judge, after hearing the police and witnesses, reserved the verdict and asked the police to appear again for the next date. This made Ismail angry and he vented his anger on the judge. After this incident, the judge was taken out of the court under police protection. Preparations are being made to register another case against the accused.