ड्यूटी ज्वाइन करने से पहले 15 इंस्पेक्टर पकड़े, राजस्थान में क्यों धड़ाधड़ गिरफ्तार हो रहे हैं थानेदार

राजस्थान में साल 2014 और साल 2021 में सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षाएं हुई थी । अभी यह दोनों भर्ती परीक्षाएं नकल कारणों के चलते स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप यानी एसओजी के रडार पर है और इन दोनों परीक्षाओं के बाद लगातार गिरफ्तारियां की जा रही है।

 0
ड्यूटी ज्वाइन करने से पहले 15 इंस्पेक्टर पकड़े, राजस्थान में क्यों धड़ाधड़ गिरफ्तार हो रहे हैं थानेदार
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

ड्यूटी ज्वाइन करने से पहले 15 इंस्पेक्टर पकड़े, राजस्थान में क्यों धड़ाधड़ गिरफ्तार हो रहे हैं थानेदार

राजस्थान पुलिस की स्पेशल टीम यानी स्पेशल ऑपरेशन विंग ने राजधानी जयपुर में चल रहे पुलिस के ट्रेनिंग सेंटर पर छापा मारा है।  राजस्थान पुलिस अकादमी में मारे गए इस छापे में 15 सब इंस्पेक्टर हिरासत में लिए गए हैं । उनमें दो महिला सब इंस्पेक्टर भी शामिल है । 

यह तमाम सब इंस्पेक्टर ट्रेनिंग ले रहे थे और जल्द ही ड्यूटी ज्वाइन करने वाले थे । लेकिन अब इन्हें स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के सवालों के जवाब देने होंगे । इससे पहले भी 40 सब इंस्पेक्टर हिरासत में और गिरफ्तार किए गए हैं।‌ जिनमें कई महिला सब इंस्पेक्टर शामिल रही है।  यह पूरा बैच साल 2021 में सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा पास करके ट्रेनिंग के लिए आया हुआ है।  यह परीक्षा पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कार्यकाल में आयोजित की गई थी।

एडीजी ने सभी सब इंस्पेक्टर को भेजा जेल
स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के एडीजी वीके सिंह ने कहा कि हमने पेपर लीक और अन्य शिकायतों के बाद पिछले दिनों 40 सब इंस्पेक्टर को गिरफ्तार करने की प्रक्रिया शुरू की थी।  उनमें से अधिकतर गिरफ्तार कर लिए गए हैं और 15 दिन की डिमांड पूरी कर उन्हें जेल भेज दिया गया है।  कई अभी फरार चल रहे हैं। गिरफ्तारी के बाद उनसे जो पूछताछ की गई उस पूछताछ के दस्तावेज बनाकर अब अन्य 15 सब इंस्पेक्टर को हिरासत में लिया गया है।  इनमें से कई को गिरफ्तार करने की तैयारी की जा रही है।‌

राजस्थान में साल 2014 और साल 2021 में सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षाएं हुई
एडीजी विजय कुमार सिंह ने कहा कि दो महिलाएं भी थानेदार बनने की होड़ में शामिल है।  इन सब ने नकल करके, पेपर खरीद के और अन्य अनुचित साधनों से परीक्षाएं पास की थी और अब इन्हें लगातार गिरफ्तार किया जा रहा है।  उल्लेखनीय है राजस्थान में साल 2014 और साल 2021 में सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षाएं हुई थी । अभी यह दोनों भर्ती परीक्षाएं नकल कारणों के चलते स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप यानी एसओजी के रडार पर है और इन दोनों परीक्षाओं के बाद लगातार गिरफ्तारियां की जा रही है।

15 inspectors caught before joining duty, why police officers are being arrested indiscriminately in Rajasthan

The special team of Rajasthan Police i.e. Special Operation Wing has raided the police training center running in the capital Jaipur. 15 sub-inspectors have been detained in this raid at Rajasthan Police Academy. Two women sub-inspectors are also included among them.

All these sub-inspectors were taking training and were going to join duty soon. But now they will have to answer the questions of the Special Operation Group. Even before this, 40 sub-inspectors have been detained and arrested. These include many women sub-inspectors. This entire batch has come for training after passing the Sub Inspector Recruitment Examination in the year 2021. This examination was conducted during the tenure of former Chief Minister Ashok Gehlot.

ADG sent all sub inspectors to jail
Special Operation Group ADG VK Singh said that we had recently started the process of arresting 40 sub-inspectors after paper leak and other complaints. Most of them have been arrested and after fulfilling the demand of 15 days, they have been sent to jail. Many are still absconding. Now 15 other sub-inspectors have been taken into custody after preparing documents of the interrogation that was done to them after their arrest. Preparations are being made to arrest many of them.

Sub Inspector recruitment examinations were held in Rajasthan in the year 2014 and 2021.
ADG Vijay Kumar Singh said that two women are also in the race to become police station officer. All of them had passed the examinations by cheating, buying papers and other unfair means and now they are being arrested continuously. It is noteworthy that Sub Inspector recruitment examinations were held in Rajasthan in the year 2014 and 2021. Currently, both these recruitment examinations are on the radar of Special Operation Group (SOG) due to cheating reasons and arrests are being made continuously after these two examinations.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT