SOG का बड़ा ऑपेरशन, फर्जी डिग्रियां बांटने के मामले में मेवाड़ यूनिवर्सिटी में दी दबिश

 0
SOG का बड़ा ऑपेरशन, फर्जी डिग्रियां बांटने के मामले में मेवाड़ यूनिवर्सिटी में दी दबिश
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

SOG का बड़ा ऑपेरशन, फर्जी डिग्रियां बांटने के मामले में मेवाड़ यूनिवर्सिटी में दी दबिश

अक्सर सुर्खियों में रहने वाले मेवाड़ यूनिवर्सिटी एक बार फिर चर्चा में है. इस बार मेवाड़ यूनिवर्सिटी से फर्जी डिग्री देने का मामला सामने आया है. फर्जी डिग्री देने के मामले में अब मेवाड़ यूनिवर्सिटी स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप (एसओजी) की रडार पर आ गई है. शनिवार को एसओजी ने मेवाड़ यूनिवर्सिटी में दबिश देकर कागजात अपने साथ ले गई हैं.

जानकारी के अनुसार राजस्थान लोक सेवा आयोग की हिंदी लेक्चरर भर्ती-2022 में फर्जी डिग्री से नौकरी पाने के मामले एसओजी ने गंगरार स्थित मेवाड़ यूनिवर्सिटी में दबिश दी और जांच पड़ताल के बाद कई दस्तावेज अपने साथ लेकर गई. फर्जी डिग्री देने के मामले में अब जांच की जा रही हैं.

MU से फर्जी डिग्री लेकर मिली नियुक्ति ! 
राजस्थान लोक सेवा आयोग की हिंदी लेक्चरर भर्ती-2022 में फर्जी डिग्री से नौकरी पाने के मामले में एसओजी ने सांचौर निवासी कमला विश्नोई और ब्रह्माकुमारी को अरेस्ट किया था. एसओजी ने दोनों महिलाओं से पूछताछ में मेवाड़ यूनिवर्सिटी से फर्जी डिग्री लेकर नियुक्ति पाने की बात कबूली थी. जांच में दोनों महिला आरोपियों के भाइयों की ओर से फर्जी डिग्री उपलब्ध करवाने की बात सामने आई थी. इस पर दोनों महिला आरोपियों के भाइयों को एसओजी ने गिरफ्तार किया.

मामले में पुलिस ने किया 2 लोगों को गिरफ्तार 
एसओजी ने इस मामले में कमला विश्नोई, ब्रह्माकुमारी के भाई सुरेश विश्नोई और दलपत सिंह को गिरफ्तार किया है और फर्जी डिग्री के बारे में पूछताछ की. दोनों आरोपियों ने रुपए देकर गंगरार स्थित मेवाड़ यूनिवर्सिटी से फर्जी डिग्री लाने की बात कबूली थी. आरोपियों से पूछताछ में मेवाड़ यूनिवर्सिटी का नाम सामने आने पर जयपुर से एसओजी की टीम गंगरार पहुंची. यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार कार्यालय में करीब 5-6 घण्टे तक जांच पड़ताल की.

जांच के दौरान एसओजी टीम ने कई कागजात अपने साथ जयपुर ले गई. दो दिन पहले हुई इस कार्यवाही से मेवाड़ यूनिवर्सिटी में हड़कंप मच गया. आपको बता दे कि मेवाड़ यूनिवर्सिटी देश-विदेश के छात्र पढ़ते हैं.

Big operation of SOG, raid in Mewar University in case of distribution of fake degrees

Mewar University, which is often in the headlines, is once again in the news. This time a case of giving fake degree from Mewar University has come to light. Mewar University has now come under the radar of Special Operations Group (SOG) in the matter of awarding fake degrees. On Saturday, SOG raided Mewar University and took the documents with them.

According to the information, in the case of Rajasthan Public Service Commission's Hindi Lecturer Recruitment-2022 for getting job through fake degree, SOG raided Mewar University located in Gangrar and after investigation took many documents with itself. Now investigation is being done in the matter of giving fake degree.

Got appointment from MU with fake degree!
SOG had arrested Kamla Vishnoi and Brahma Kumari, residents of Sanchore, in the case of getting job through fake degree in Rajasthan Public Service Commission's Hindi Lecturer Recruitment-2022. While interrogating both the women, SOG had confessed to getting appointment from Mewar University by taking a fake degree. The investigation revealed that the brothers of both the female accused had provided fake degrees. On this, the brothers of both the female accused were arrested by SOG.

Police arrested 2 people in the case
SOG has arrested Kamla Vishnoi, Brahma Kumari's brother Suresh Vishnoi and Dalpat Singh in this case and interrogated them about the fake degree. Both the accused had confessed to getting a fake degree from Mewar University located in Gangrar by paying money. When the name of Mewar University came up during the interrogation of the accused, the SOG team from Jaipur reached Gangrar. Investigation took place for about 5-6 hours in the registrar office of the university.

During the investigation, the SOG team took many documents with itself to Jaipur. This action, which took place two days ago, created a stir in Mewar University. Let us tell you that students from India and abroad study in Mewar University.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT