इस घर के बेटा, बेटी, दामाद, सभी कर रहे देश की सेवा, कारगिल युद्ध में शहीद हुए थे यहां के सबसे अधिक सैनिक

 0
इस घर के बेटा, बेटी, दामाद, सभी कर रहे देश की सेवा, कारगिल युद्ध में शहीद हुए थे यहां के सबसे अधिक सैनिक

इस घर के बेटा, बेटी, दामाद, सभी कर रहे देश की सेवा, कारगिल युद्ध में शहीद हुए थे यहां के सबसे अधिक सैनिक

जब भी बात राजस्थान के झुंझुनू जिले की आती है। तो यहां की देशभक्ति का जिक्र जरूर होता है। यह वह जिला है जहां से कारगिल की युद्ध के दौरान सबसे ज्यादा सैनिक शहीद हुए। इतना ही नहीं इस जिले से ही वर्तमान में भारतीय सेनाओं में सबसे ज्यादा है जहां पर हर घर में सैनिक मिलेगा।

भाई बहन सब कर रहे देशसेवा
यहां एक परिवार ऐसा भी है जिसमें तीन भाई बहन देश की तीनों अलग-अलग सेनाओं में नौकरी कर रहे हैं। जो अब स्थानीय युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत बन चुके हैं। हम बात कर रहे हैं झुंझुनू जिले के पिलानी क्षेत्र के कुल्हरियों का बास के कुल्हरी परिवार की। यहां तीन चचेरे भाई बहन देश की तीन अलग-अलग सेनाओं में नौकरी कर रहे हैं।

कंचन लेफ्टिनेंट कर्नल
इनमें सबसे पहले कंचन कुल्हरी है। जो वर्तमान में भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल है। उन्हें सेना में नौकरी करते हुए 20 साल हो गए। उनके पति गुंजन भी सेना में नौकरी कर रहे हैं। पिता ख्यालीराम भी सेना से रिटायर्ड है। दूसरी का नाम कृतिका है। जो एयरफोर्स में फ्लाइट लेफ्टिनेंट के पद पर नौकरी कर रही है। उनके पति भी एयरफोर्स में नौकरी कर रहे हैं।

सौम्य इंडियन नेवी में लेफ्टिनेंट
इसके बाद सौम्य है। जो इंडियन नेवी में सब लेफ्टिनेंट है। मार्च में उनकी ट्रेनिंग पूरी होने के बाद अब यह भी नौकरी करते हुए नजर आएंगे। यह कृतिका के सगे भाई है। इसी परिवार में पहले भी कई सैनिक रह चुके हैं।


सामाजिक कार्य में भी आगे
मोटिवेशन के मामले में यह परिवार जितना आगे है उतना ही सामाजिक सरोकारों में। आज भी परिवार के लोग गांव में विकास कार्य करवाना,टीनशेड लगवाना जैसे काम जारी रखते है।

यह खबर भी पढ़ें:-


Son, daughter, son-in-law of this house, all are serving the country, most of the soldiers here were martyred in the Kargil war.

Whenever it comes to Jhunjhunu district of Rajasthan. So there is definitely mention of patriotism here. This is the district from where the maximum number of soldiers were martyred during the Kargil war. Not only this, currently the Indian Army has the highest number from this district itself where soldiers will be found in every house.

Brothers and sisters are all serving the country.
There is a family here in which three brothers and sisters are working in three different armies of the country. Who have now become a source of inspiration for the local youth. We are talking about the Kulhari family of Pilani area of Jhunjhunu district. Here three cousin brothers and sisters are serving in three different armies of the country.

Kanchan Lieutenant Colonel
The first among these is Kanchan Kulhari. Who is currently a Lieutenant Colonel in the Indian Army. It has been 20 years since he served in the army. Her husband Gunjan is also working in the army. Father Khayaliram is also retired from the army. The name of the second one is Kritika. Who is working as a flight lieutenant in the Air Force. Her husband is also working in the Air Force.

Lieutenant in Soumya Indian Navy
After this there is Soumya. Who is a Sub Lieutenant in the Indian Navy. After completing his training in March, he will also be seen working. He is Kritika's real brother. Many soldiers have lived in this family before.


also ahead in social work
This family is as ahead in terms of motivation as it is in social concerns. Even today the family members continue the work like getting development work done in the village and setting up teen sheds.