एक दुखद सच: बच्चे को बचाने लाए थे अब लाश लेकर जा रहे,डॉक्टरों की लापरवाही से बच्चे की मौत

 0
एक दुखद सच: बच्चे को बचाने लाए थे अब लाश लेकर जा रहे,डॉक्टरों की लापरवाही से बच्चे की मौत
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

एक दुखद सच: बच्चे को बचाने लाए थे अब लाश लेकर जा रहे,डॉक्टरों की लापरवाही से बच्चे की मौत

राजस्थान के भरतपुर जिले में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है, जिसमें एक 22 महीने के बच्चे की जान लेने के परिवार के लिए दुख की लहर उत्पन्न हो गई है। इस दुखद समाचार के अनुसार, भरतपुर के एक प्राइवेट अस्पताल में डॉक्टरों की लापरवाही के चलते बच्चे की मौत हो गई।

इस दुखद मामले के अनुसार, उत्तर प्रदेश के एक परिवार ने अपने छोटे बच्चे को हर्निया की समस्या के इलाज के लिए भरतपुर लाया था। बच्चे को प्राइवेट अस्पताल में इलाज कराया जा रहा था, जहां उसे ऑपरेशन की आवश्यकता थी। लेकिन अस्पताल के प्रशासन ने बच्चे को बेहोश करने के लिए दी गई दवा की गलती से बच्चे की हालत गंभीर हो गई, जिससे उसकी मौत हो गई।

इस दुर्भाग्यपूर्ण मामले में परिवार के लोग गहरे शोक में डूबे हुए हैं। उनका कहना है कि वे बच्चे की जान बचाने के लिए ही उसे अस्पताल लाए थे, लेकिन डॉक्टरों की लापरवाही ने उनके सपनों को सच कर दिया।

इस दुखद मामले में परिवार ने अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है और न्याय की मांग की है। उन्हें न्याय दिलाने के लिए न्यायिक प्रक्रिया में अटूट विश्वास है। 

इस दुखद घटना ने बच्चे के परिवार को एक अविस्मरणीय क्षण में डाल दिया है, और यह एक चेतावनी है कि डॉक्टरों को हमेशा सावधानी और सर्वोत्तम देखभाल के साथ काम करना चाहिए।

A sad truth: Had brought the child to save, now are taking the dead body, child died due to negligence of doctors

A heart-wrenching incident has come to light in Bharatpur district of Rajasthan, in which a wave of grief has arisen for the family of a 22-month-old child who took his life. According to this sad news, the child died due to negligence of doctors in a private hospital in Bharatpur.

According to this tragic case, a family from Uttar Pradesh had brought their young child to Bharatpur for treatment of hernia problem. The child was being treated in a private hospital, where he required an operation. But due to the mistake of the medicine given by the hospital administration to make the child unconscious, the child's condition became critical, due to which he died.

The family members are in deep mourning over this unfortunate case. They say that they had brought the child to the hospital only to save his life, but the negligence of the doctors made their dreams come true.

In this tragic case, the family has taken strict action against the hospital management and demanded justice. He has unwavering faith in the judicial process to provide him justice.

This tragic incident has put the child's family through an unforgettable moment, and is a reminder that doctors must always act with caution and the best care.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT