छोटी उम्र में बड़ा धमाल... 11वीं में पढ़ने वाली छात्रा बनी कथावाचक, अमेरिका से मिला कथा करने का ऑफर

 0
छोटी उम्र में बड़ा धमाल... 11वीं में पढ़ने वाली छात्रा बनी कथावाचक, अमेरिका से मिला कथा करने का ऑफर
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

छोटी उम्र में बड़ा धमाल... 11वीं में पढ़ने वाली छात्रा बनी कथावाचक, अमेरिका से मिला कथा करने का ऑफर

कहते हैं की प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती और इसे किसी भी उम्र में निखारा जा सकता है. फिरोजाबाद में भी एक ऐसी कहानी देखने को मिली है, 11 वीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़की ने बेहद कम उम्र में कथावाचक बनकर खूब नाम कमाया है. इस लड़की ने बेहद कम उम्र में कथावाचक बनकर पूरे भारत में अलग-अलग जगह पर कथाएं की है और अब उसे विदेश जाने का भी मौका मिला है.

फिरोजाबाद के आसफाबाद पर रहने वाली किशोरी बृज नंदनी ने बताया कि उसे बचपन से ही कथाएं सुनने, रामायण पढ़ने का शौक था. घर में मां से उसे काफी प्रेरणा मिली और उसने कथावाचक बनने का मन बनाया. इसके बाद पिता का उसे पूरा सहयोग मिला, परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक न होने पर भी पिता ने उसे गोकुल पढ़ाई के लिए भेज दिया.

अब तक कर चुकी है 32 कथाएं
उसने अपनी स्कूल की पढ़ाई के साथ साथ भागवत आचार्य की भी पढ़ाई की और अब भारत के कई राज्यों में वह कथाएं कर चुकी है. वहीं उसने बताया कि 16 वर्ष की उम्र में उसने अब तक 32 कथाएं की हैं. जिनमें जयपुर, कोटा, राजस्थान,आगरा समेत कई शहर है. कथावाचक ने बताया कि एक कथा का खर्चा एक लाख रुपये तक आता है, जिसमें वह अपनी कोई फीस नहीं लेती है.

अमेरिका से मिला है श्रीमद् भागवत का ऑफर
किशोरी बृजनंदनी ने बताया कि भारत में कथाएं करने के बाद अब उसे विदेश से भी ऑफर मिलने लगे हैं. जनवरी में उसे अमेरिका में कथा शुरू करनी है जिसके लिए उसने तैयारी शुरू कर दी है. वहीं अमेरिका के लिए अब वह वीजा पासपोर्ट भी बनवा रही है. जिसके बाद कथा करने के लिए वह अमेरिका चली जाएगी.

Big bang at a young age... 11th class student became a storyteller, got an offer to do stories from America

It is said that talent is not dependent on anyone and it can be developed at any age. A similar story has been seen in Firozabad also, a girl studying in 11th class has earned a lot of name by becoming a storyteller at a very young age. This girl has become a storyteller at a very young age and has narrated stories at different places all over India and now she has also got a chance to go abroad.

Brij Nandani, a teenager living in Asafabad, Firozabad, told that she was fond of listening to stories and reading Ramayana since childhood. He got a lot of inspiration from his mother at home and he decided to become a storyteller. After this, he got full support from his father, even though the financial condition of the family was not good, his father sent him to Gokul for studies.

Have done 32 stories till now
Along with her school studies, she also studied Bhagwat Acharya and now she has done Katha in many states of India. At the same time, he told that at the age of 16, he has done 32 stories till now. In which there are many cities including Jaipur, Kota, Rajasthan, Agra. The narrator told that the cost of one story comes to one lakh rupees, in which she does not take any fee of her own.

Shrimad Bhagwat's offer received from America
Kishori Brijnandani told that after doing stories in India, she has started getting offers from abroad also. He has to start Katha in America in January for which he has started preparations. Now she is also getting a visa passport made for America. After which she will go to America to do Katha.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT