Paytm ग्राहकों के लिए आई खुशखबरी, 15 मार्च के बाद भी ये यूजर्स इस्तेमाल कर सकेंगे

 0
Paytm ग्राहकों के लिए आई खुशखबरी, 15 मार्च के बाद भी ये यूजर्स इस्तेमाल कर सकेंगे
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

Paytm ग्राहकों के लिए आई खुशखबरी, 15 मार्च के बाद भी ये यूजर्स इस्तेमाल कर सकेंगे वॉलेट

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Resere Bank of India) ने पेटीएम ग्राहकों (Paytm user) को बड़ी राहत दी है. अगर आप भी पेटीएम यूजर हैं तो आपको 15 मार्च के बाद ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा. वॉलेट का यूज करने वाले 85 प्रतिशत ग्राहक 15 मार्च के बाद भी इसका आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं. 

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बुधवार को कहा कि पेटीएम वॉलेट का इस्तेमाल करने वाले 80-85 प्रतिशत उपयोगकर्ताओं को नियामकीय कार्रवाई की वजह से किसी भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा. वहीं, शेष यूजर को अपने ऐप को अन्य बैंकों से जोड़ने की सलाह दी गई है.

दूसरे बैंकों के साथ 15 मार्च तक जोड़े खाता
रिजर्व बैंक ने 31 जनवरी को पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (PPBL) को किसी भी ग्राहक खाते में जमा या ‘टॉप-अप’ स्वीकार करने से रोक दिया गया था. दास ने कहा कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक से जुड़े वॉलेट को अन्य बैंकों के साथ जोड़ने की समयसीमा 15 मार्च तय की गई है. उन्होंने समयसीमा आगे बढ़ाये जाने की संभावना से इनकार किया है. 

80 से 85 प्रतिशत ग्राहक दूसरे बैंकों से जुड़े हुए हैं
उन्होंने कहा कि 15 मार्च तक का दिया गया समय पर्याप्त है और इसे आगे बढ़ाने की कोई जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि 80-85 प्रतिशत पेटीएम वॉलेट अन्य बैंकों से जुड़े हुए हैं और शेष 15 प्रतिशत को अन्य बैंकों से जुड़ने की सलाह दी गई है. 

आरबीआई फिनटेक कंपनियों को करता है सपोर्ट
एक न्यूज चैनल के साथ खास बातचीत में उन्होंने कहा है कि आरबीआई फिनटेक कंपनियों का पूरा समर्थन करता है और करता रहेगा... आरबीआई फिनटेक के विकास के लिए पूरी तरह तैयार है.’’ उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि कोई व्यक्ति फेरारी का मालिक हो सकता है और उसे चला सकता है, लेकिन फिर भी उसे दुर्घटनाओं से बचने के लिए यातायात नियमों का पालन करना होगा. 
यह पूछे जाने पर कि भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) पेटीएम पेमेंट ऐप लाइसेंस पर कब निर्णय लेगा...? दास ने कहा कि आंतरिक जांच-पड़ताल के बाद ही इस संबंध में कदम उठाया जाना है. 

NPCI करेगा फैसला
दास ने कहा है कि जहां तक ​​आरबीआई का सवाल है, हमने उन्हें सूचित कर दिया है कि अगर एनपीसीआई पेटीएम पेमेंट ऐप को जारी रखने पर विचार करता है तो हमें कोई आपत्ति नहीं है क्योंकि हमारी कार्रवाई पेटीएम पेमेंट बैंक के खिलाफ थी. ऐप एनपीसीआई के पास है... एनपीसीआई इसपर विचार करेगा... मुझे लगता है कि उन्हें इस बारे में जल्द ही निर्णय करना चाहिए.

आर्थिक ग्रोथ पर बोले आरबीआई गवर्नर
आर्थिक वृद्धि के बारे में उन्होंने कहा है कि जीएसटी कलेक्शन, बिजली खपत, पीएमआई आदि के आधार पर हमारा मानना है कि चौथी तिमाही में आर्थिक वृद्धि 5.9 प्रतिशत को पार कर जाएगी. दास ने कहा और जब यह होगा तो निश्चित रूप से सालाना वृद्धि दर 7.6 प्रतिशत से अधिक होगी. इसकी काफी संभावना है कि चालू वर्ष में जीडीपी आंकड़ा आठ प्रतिशत के आसपास होगा.

उन्होंने यह भी कहा कि हाल की मौद्रिक नीति समीक्षा में अगले वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर सात प्रतिशत रहने का अनुमान जताया गया है. महंगाई के बारे में दास ने कहा कि हाल के आंकड़े के अनुसार मुद्रास्फीति 5.1 प्रतिशत रही है जो चार प्रतिशत के लक्ष्य से 1.10 प्रतिशत अधिक है. उन्होंने कहा कि हालांकि मुद्रास्फीति का रुख नरमी की ओर है और आरबीआई अब महंगाई को टिकाऊ आधार पर चार प्रतिशत पर लाने के लक्ष्य पर ध्यान दे रहा है.

Good news for Paytm customers, these users will be able to use the wallet even after March 15

Reserve Bank of India has given big relief to Paytm users. If you are also a Paytm user then you will not have to face much trouble after March 15. 85 percent of the customers using the wallet can easily use it even after March 15.

Reserve Bank of India Governor Shaktikanta Das said on Wednesday that 80-85 percent of users using Paytm wallet will not face any problem due to regulatory action. At the same time, the remaining users have been advised to link their app with other banks.

Add accounts with other banks by March 15
The Reserve Bank on January 31 had barred Paytm Payments Bank Limited (PPBL) from accepting deposits or 'top-up' any customer account. Das said that the deadline for linking the wallet linked to Paytm Payments Bank with other banks has been fixed as March 15. He has ruled out the possibility of extending the deadline.

80 to 85 percent customers are associated with other banks
He said that the time given till March 15 is sufficient and there is no need to extend it further. He said that 80-85 percent of Paytm wallets are linked to other banks and the remaining 15 percent have been advised to link to other banks.

RBI supports fintech companies
In a special conversation with a news channel, he said that RBI fully supports fintech companies and will continue to do so... RBI is fully prepared for the development of fintech. Giving an example, he said that a person owns a Ferrari. He may own and drive it, but he still has to follow traffic rules to avoid accidents.
When asked when will National Payments Corporation of India (NPCI) take a decision on Paytm payment app license? Das said that action in this regard has to be taken only after internal investigation.

NPCI will decide
Das has said that as far as RBI is concerned, we have informed them that we have no objection if NPCI considers continuing with Paytm Payment App because our action was against Paytm Payment Bank. The app is with NPCI... NPCI will consider it... I think they should take a decision on this soon.

RBI Governor spoke on economic growth
Regarding economic growth, he has said that on the basis of GST collection, electricity consumption, PMI etc., we believe that the economic growth will cross 5.9 percent in the fourth quarter. Das said and when this happens, the annual growth rate will definitely be more than 7.6 percent. There is a strong possibility that the GDP figure in the current year will be around eight percent.

He also said that in the recent monetary policy review, the growth rate for the next financial year has been estimated at seven percent. Regarding inflation, Das said that according to the recent data, inflation has been 5.1 percent which is 1.10 percent more than the target of four percent. He said that although the trend of inflation is towards moderation and RBI is now focusing on the target of bringing inflation down to four percent on a sustainable basis.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT