शादी के 16 साल बाद बेटा हुआ, मन्नत पूरी करने गए और इकलौती बेटी समेत 3 की मौत

 0
शादी के 16 साल बाद बेटा हुआ, मन्नत पूरी करने गए और इकलौती बेटी समेत 3 की मौत

शादी के 16 साल बाद बेटा हुआ, मन्नत पूरी करने गए और इकलौती बेटी समेत 3 की मौत

राजस्थान के जोधपुर जिले में एक सड़क हादसा हुआ। इसमें तेरह साल की बच्ची समेत तीन लोगों की मौत हो गई। वैन में कुल ग्यारह लोग सवार थे। इनमें से आठ को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस घटना में वह बच्चा भी घायल हो गया जिसका मुंडन कराने का पूरा कार्यक्रम रखा गया था। 

बेटा सोलह साल के बाद पैदा हुआ था। परिवार के लोग उसका मुंडन कराने के लिए जैसलमेर में स्थित बाबा रामदेव मंदिर में आए थे। अच्छी तरह से पूजा पाठ और आयोजन होने के बाद एमपी का परिवार वापस एमपी लौट रहा था। हादसे में सोलह साल के बाद जन्मा बेटा तो बच गया लेकिन माता पिता ने अपनी तेरह साल की इकलौती बेटी हमेशा के लिए खो दी।

मध्य प्रदेश से जोधपुर आया था परिवार
दरअसल जोधपुर से होकर गुजरने वाले स्टेट हाइवे 61 के नजदीक पिचयाक गांव के पास यह हादसा हुआ। वैन में ग्यारह लोग सवार थे। यह वैन सड़क किनारे खड़े ट्रक में घुसी। हादसे में 13 साल की कोमल, उसके फूफा श्याम सिंह और परिवार के एक अन्य सदस्य की जान चली गई। कल दोपहर में एमपी से कोमल के मामा और अन्य रिश्तेदार जोधपुर पहुंचे तब जाकर परिवार के हाल चाल जाने।

बेटा होने के लिए मन्नत मांगकर पूरी करने आया था परिवार
पुलिस ने बताया कि कोमल के पिता प्रेम सिंह और पूरा परिवार मध्य प्रदेश के राजगढ़ इलाके का रहने वाला था। सोलह साल पहले रामदेवरा आए थे और बेटा होने के लिए मन्नत मांगकर गए थे। अब मन्नत पूरी होने पर बेटे का मुंडन कराने के लिए परिवार वापस आया था। लेकिन घर लौटते समय परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। जिस बेटे का मुंडन कराने आए थे, वह भी चोटिल हुआ है।

यह खबर भी पढ़ें:-


Son born after 16 years of marriage, went to fulfill vow and 3 including only daughter died

A road accident occurred in Jodhpur district of Rajasthan. Three people including a thirteen year old girl died in this. There were a total of eleven people in the van. Eight of these have been admitted to the hospital. In this incident, the child who was scheduled to get tonsured was also injured.

The son was born after sixteen years. The family members had come to Baba Ramdev temple in Jaisalmer to get his head shaved. After a good puja and celebration, the MP's family was returning back to MP. In the accident, the son born after sixteen years survived but the parents lost their thirteen year old only daughter forever.

The family came to Jodhpur from Madhya Pradesh
Actually, this accident happened near Pichayak village near State Highway 61 passing through Jodhpur. There were eleven people in the van. This van rammed into a truck parked on the roadside. 13 year old Komal, her uncle Shyam Singh and another family member lost their lives in the accident. Yesterday afternoon, Komal's maternal uncle and other relatives from MP reached Jodhpur to inquire about the well-being of the family.

The family had come to fulfill their wish of having a son.
Police said that Komal's father Prem Singh and the entire family were residents of Rajgarh area of Madhya Pradesh. Sixteen years ago, Ramdevra had come with a vow to have a son. Now, after the vow was fulfilled, the family came back to get their son tonsured. But three members of the family died while returning home. The son who had come to get his head shaved is also injured.