इन जुड़वा भाइयों पर बने फिल्म तो होगी 'सुपरहिट', साथ पढ़े, एक ही दिन नौकरी लगी, अब एक साथ रिटायर

 0
इन जुड़वा भाइयों पर बने फिल्म तो होगी 'सुपरहिट', साथ पढ़े, एक ही दिन नौकरी लगी, अब एक साथ रिटायर

इन जुड़वा भाइयों पर बने फिल्म तो होगी 'सुपरहिट', साथ पढ़े, एक ही दिन नौकरी लगी, अब एक साथ रिटायर

जुड़वा बच्चों के बारे में खूब सुना और पढ़ा होगा। जुड़वा को लेकर कई फिल्में भी बनीं, लेकिन अब आपको बताते हैं कि असली जुड़वा क्या होता है......। साठ साल के ये दो भाई हैं जुड़वा......। दोनो 30 अप्रेल को राजस्थान पुलिस से रिटायर हुए हैं। एक जैसा चेहरा, एक सी कदकाठी, एक सी आदतें और अब रिटायरमेंट भी एक साथ......। नाम हैं भीम और अर्जुन....। तीस अप्रेल को राजस्थान पुलिस के हैड़ कांस्टेबल के पद से दोनो साथ रिटायर हुए हैं।

भीम और अर्जुन की कहानी फिल्मों सी....
दरअसल अलवर जिले के मुंडावर कस्बे में 25 अप्रेल 1964 को जुड़वा भाईयों का जन्म हुआ। परिवार ने नाम दिया भीम और अर्जुन....। उसके बाद साथ स्कूल गए, साथ कॉलेज गए और फिर 1986 में एक ही साथ राजस्थान पुलिस के सिपाही बने। भीम को पहली पोस्टिंग टोंक जिले में मिली और अर्जुन को पहली पोस्टिंग अलवर में मिली। उसके बाद दोनो ने अलग अलग जिलों में काम किया। अब कुछ महीनों से दोनो अलवर में पुलिस लाइन में तैनात किए गए। इस बीच दोनो भाईयों का प्रमोशन भी हुआ और दोनो कांस्टेबल से हैड कांस्टेबल बना दिए गए। अब 38 साल पुलिस में नौकरी करने के बाद 30 अप्रेल को दोनो एक साथ ही रिटायर हुए हैं।

यह खबर भी पढ़ें:-


आधा परिवार पुलिस में, कुछ मेडिकल फील्ड में और कुछ टीचर
भीम और अर्जुन के पांच बच्चे हैं। बड़े भाई भीम के दो बेटे जिनमें एक आर्मी में मेडिकल में सूबेदार है और बहू नर्सिंग अफसर है। छोटा बेटा विका रेलवे में है और बहू प्राईवेट टीचर है। छोटे भाई अर्जुन के दो बेटे हैं। बड़ा बेटा प्रतीक राजस्थान पुलिस में है और बहू प्राईवेट टीचर है। छोटा बेटा पीयूष सीआरपीएफ में है।

जुड़वा भाइयों की लाइफ दिलचस्प है
भीम और अर्जुन के साथियों ने बताया कि 38 साल की नौकरी में दस से ज्यादा बार पोस्टिंग और तबादले हुए। लेकिन आधे से ज्यादा तबादलों में दोनो भाई साथ ही रहे। कभी भी किसी के खिलाफ शिकायत नहीं आई। ट्रेक रिकॉर्ड एक दम साफ ही रहा। अब दोनो गांव में बने घर में रह रहे हैं।

A film made on these twin brothers will be a 'superhit', they studied together, got a job on the same day, now retire together

You must have heard and read a lot about twins. Many films were made about twins, but now let us tell you what real twins are…. These two sixty year old brothers are twins. Both of them retired from Rajasthan Police on 30 April. Same face, same physique, same habits and now retirement also together... The names are Bhima and Arjun…. On April 30, both of them retired from the post of head constable of Rajasthan Police.

Story of Bheem and Arjun from movies....
Actually, twin brothers were born on 25 April 1964 in Mundawar town of Alwar district. The family named them Bhima and Arjun. After that they went to school together, went to college together and then in 1986 became constables of Rajasthan Police together. Bhima got his first posting in Tonk district and Arjun got his first posting in Alwar. After that both worked in different districts. Now for the past few months both of them were deployed in the police line in Alwar. Meanwhile, both the brothers were also promoted and both were made head constables from constables. Now, after serving in the police for 38 years, both of them have retired together on April 30.

Half the family is in police, some in medical field and some teachers
Bhima and Arjun have five children. Elder brother Bhim has two sons, one of whom is a medical subedar in the army and the daughter-in-law is a nursing officer. Younger son Vika is in Railways and daughter-in-law is a private teacher. Younger brother Arjun has two sons. Elder son Prateek is in Rajasthan Police and daughter-in-law is a private teacher. Younger son Piyush is in CRPF.

The life of twin brothers is interesting
Colleagues of Bhim and Arjun told that in their 38 years of service, there were postings and transfers more than ten times. But in more than half of the transfers, both brothers remained together. There was never any complaint against anyone. The track record remained absolutely clean. Now both are living in a house built in the village.