कोचिंग कर रही छात्रा ने की आत्महत्या, 3 महीने में आत्महत्या का 7वां मामला

 0
कोचिंग कर रही छात्रा ने की आत्महत्या, 3 महीने में आत्महत्या का 7वां मामला
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

कोचिंग कर रही छात्रा ने की आत्महत्या, 3 महीने में आत्महत्या का 7वां मामला

कोटा में कोचिंग स्टूडेंटस के सुसाइड के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. अभी 2 दिन पहले ही उत्तर प्रदेश के कन्नौज के छात्र ने सुसाइड किया था और बीती रात लखनऊ की एक छात्रा ने सुसाइड कर लिया. यह बेहद ही विचित्र है कि सरकार के प्रयासों के बावजूद कोटा में छात्रों की आत्महत्या के मामले कम नहीं रहे हो रहे हैं. 

मृतक छात्रा जवाहर नगर थाना इलाके में रहती थी और अपने कमरे में फांसी का फंदा लगाकर उसने आत्महत्या कर ली. मृतका नीट की तैयारी कर रही थी और  पिछले साल ही कोटा आई थी. वह महावीर नगर फर्स्ट स्थित एक पीजी में किराए पर रह रही थी.

रिपोर्ट के मुताबिक छात्रा के सुसाइड की सूचना देर रात पुलिस को मिली. मृतका की पहचान सौम्या के रूप में हुई है, मौके पर पहुंची पुलिस ने एफएसएल की टीम को भी बुलाया है. पुलिस के अनुसार छात्रा को लास्ट टाइम उसके दोस्त ने देखा था. पुलिस ने मृतका के परिजनों को सूचना दे दी है. फिलहाल, पुलिस मामले में पुलिस जांच में जुटी हुई हैं.

साल के शुरुआती 3 महीने में सुसाइड का सातवां मामला
कोटा में बढ़ते कोचिंग स्टूडेंट के सुसाइड मामलों को लेकर केंद्र सरकार की ओर से गाइडलाइन भी जारी की गई है. वही बच्चों को अवसाद मुक्त रखने के लिए जिला प्रशासन की ओर से कई प्रयास भी किया जा रहे हैं, लेकिन कोचिंग स्टूडेंट के सुसाइड के मामले रुक नहीं रहे हैं.

साल 2023 में दो दर्जन से अधिक स्टूडेंट्स कर चुके हैं सुसाइड
कोटा कोचिंग स्टूडेंट्स के साल 2023 में सुसाइड के आंकड़े भयावह है. पिछले साल दो दर्जन से अधिक छात्रों ने आत्महत्या किया था. इसके बाद से जिला प्रशासन सरकार और कोचिंग संस्थानों की ओर से बच्चों को स्ट्रेस फ्री रखने के लिए कई कार्यक्रम किया जा रहे हैं, लेकिन सुसाइड के मामलों पर विराम नहीं लग रहा हैं.

साल 2024 में अब तक कुल सात कोचिंग छात्र कर चुके हैं सुसाइड
पिछले साल की तरह नए साल 2024 में भी कोटा स्टूडेंट्रस के सुसाइड की प्रवृत्ति में कमी आती नहीं दिख रही है. साल के शुरुआती 3 महीने में कोटा के कोचिंग स्टूडेंट के सुसाइड का सातवां मामला सामने आ चुका है. फिलहाल, लखनऊ की छात्रा के सुसाइड के कारणों का खुलासा नहीं हुआ है. परिजनों के कोटा पहुंचने के बाद ही पुलिस कुछ खुलासा कर पाएगी.

 student doing coaching commits suicide, 7th case of suicide in 3 months

The cases of suicide of coaching students in Kota are not showing any signs of stopping. Just 2 days ago, a student from Kannauj, Uttar Pradesh had committed suicide and last night a student from Lucknow committed suicide. It is very strange that despite the efforts of the government, the cases of suicide of students in Kota are not decreasing.

The deceased student lived in Jawahar Nagar police station area and committed suicide by hanging herself in her room. The deceased was preparing for NEET and had come to Kota only last year. She was living on rent in a PG located in Mahavir Nagar First.

According to the report, the police received information about the student's suicide late at night. The deceased has been identified as Soumya, the police reached the spot and also called the FSL team. According to the police, the student was last seen by her friend. The police have informed the relatives of the deceased. At present, the police are busy investigating the matter.

Seventh case of suicide in the first 3 months of the year
A guideline has also been issued by the Central Government regarding the increasing suicide cases of coaching students in Kota. Many efforts are being made by the district administration to keep the children free from depression, but the cases of suicide of coaching students are not stopping.

More than two dozen students have committed suicide in the year 2023
The suicide figures of Kota coaching students in the year 2023 are horrifying. Last year, more than two dozen students had committed suicide. Since then, many programs are being organized by the district administration, government and coaching institutes to keep children stress free, but there is no stop to the suicide cases.

A total of seven coaching students have committed suicide so far in the year 2024.
Like last year, the suicide trend of Kota students does not seem to be decreasing in the new year 2024. In the first three months of the year, the seventh case of suicide of a coaching student of Kota has come to light. At present, the reasons for the suicide of the Lucknow student have not been revealed. The police will be able to reveal something only after the family members reach Kota.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT