नशे की गोलियों के साथ गिरफ्तार हुआ युवक, पुलिस कर रही है जांच

 0
नशे की गोलियों के साथ गिरफ्तार हुआ युवक, पुलिस कर रही है जांच
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

नशे की गोलियों के साथ गिरफ्तार हुआ युवक, पुलिस कर रही है जांच

श्रीगंगानगर में पुलिस ने शुक्रवार को एक युवक को 25,500 नशे की गोलियों के साथ गिरफ्तार किया। यह युवक शहर के पुरानी आबादी थाना क्षेत्र में स्थित गवर्नमेंट स्कूल नंबर सात के पास रहता है। उसका नाम नीरज कुमार है, जो श्याम नगर पुलिया के पास के इलाके से पैदल आ रहा था। पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार, युवक के पास नशे की गोलियों की थी। मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर, पुलिस ने उसे रोका और जांच की। युवक के पास साढ़े पच्चीस हजार नशे की गोलियां मिली। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

नीरज कुमार, पुत्र हीरानंद, जो डिस्पोजल बर्तनों का व्यापार करता है, उसने ये नशे की गोलियां बेचने का आरोप माना है। वह श्याम नगर पुलिया से गिरफ्तार किया गया है। शहर के श्याम नगर इलाके में पहले भी नशे के कारोबार में लिप्त लोग मिल चुके हैं। पुलिस अब युवक से नशे के मुख्य सप्लायर का पता लगाने का काम कर रही है, ताकि नशे के कारोबार में शामिल लोगों की पहचान हो सके।

 Youth arrested with intoxicating pills, police is investigating

Police in Sriganganagar on Friday arrested a youth with 25,500 intoxicating pills. This young man lives near Government School Number 7, located in the old Abadi police station area of the city. His name is Neeraj Kumar, who was coming on foot from the area near Shyam Nagar Pulia. According to the information received by the police, the young man had intoxicating pills. Based on information received from the informer, the police stopped him and investigated. Twenty-five and a half thousand intoxicating pills were found with the young man. After this the police arrested him.

Neeraj Kumar, son of Hiranand, who deals in disposable utensils, has confessed to the charge of selling these intoxicating pills. He has been arrested from Shyam Nagar Pulia. People involved in drug trade have already been found in Shyam Nagar area of the city. The police is now working to find out the main supplier of drugs from the youth, so that the people involved in the drug trade can be identified.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT