पति की मौत के बाद किसी और से हुआ प्यार तो प्रेमी के लिए मां ने किया बेटी का सौदा, 4 गिरफ्तार

 0
पति की मौत के बाद किसी और से हुआ प्यार तो प्रेमी के लिए मां ने किया बेटी का सौदा, 4 गिरफ्तार
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

प्रेमी के साथ रहने के लिए एक महिला ने अपनी बेटी का ही सौदा कर दिया. एक बेटा भी है जो मुजफ्फरपुर में हॉस्टल में रहता है. मामला सामने आने के बाद एक्शन में आई पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया. मंगलवार (29 अगस्त) को टाउन एएसपी अवधेश दीक्षित ने बताया कि आरोपी महिला, उसके प्रेमी, नाबालिग लड़की का पति और उसे बेचने में मदद करने वाली महिला को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

एएसपी अवधेश दीक्षित ने बताया कि रांची के रातू थाना से जीरो एफआईआर दर्ज की गई थी. इसके बाद केस मुजफ्फरपुर के सदर थाने पहुंचा. इस आधार पर पुलिस ने कार्रवाई शुरू की. बताया जाता है कि बच्ची की उम्र 14 साल के आसपास है और उसे 2.50 लाख रुपये में बेचा गया था. हालांकि रकम को लेकर पुलिस ने कुछ बताने से इनकार कर दिया है. बच्ची का बयान कोर्ट में दर्ज कराया गया है. मेडिकल जांच कराई गई है.

अब समझें पूरा मामला

झारखंड के रांची की रहने वाली महिला अपने पति की मौत के बाद किसी तरह से अपना गुजारा मुजफ्फरपुर के सदर थाना क्षेत्र के गोबरसही में रहकर रही थी. इसी दौरान उसे अपने पति के ही एक दोस्त से प्यार हो गया. महिला की एक बेटी थी. एक बेटा लड़की से छोटा था जो हॉस्टल में रहता था. प्यार में सबसे बड़ी बाधा महिला की बेटी हो रही थी. इसके बाद महिला ने पहले अपने बेटे को हॉस्टल में डाल दिया इसके बाद बेटी को अपने पति के दोस्त दंपती से बेच दिया. फिर प्रेमी के साथ फरार हो गई.

कैसे सामने आया मामला?

बताया जाता है कि महिला के बेटे के हॉस्टल की फीस के लिए हॉस्टल वालों ने दबाव बनाया. इसके बाद लड़के के दादा से हॉस्टल वालों ने रांची में संपर्क किया. इसके बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ. फिर उसके परिजनों ने रांची में ही मामला दर्ज करवाया.

यह बात भी सामने आई है कि बच्ची के पिता झारखंड के रहने वाले थे. वे काम के सिलसिले में मुजफ्फरपुर आए थे. यहीं परिवार के साथ गोबरसही में किराए के घर मे रहने लगे. दो साल पहले उनकी मौत हो गई. उस समय बच्ची 12 साल की थी. इसके बाद ही महिला को दूसरे शख्स से प्यार हो गया. प्रेमी शादी के लिए तैयार हुआ लेकिन बच्चे विवाद बन रहे थे.

A woman traded her daughter to be with her lover. There is also a son who lives in a hostel in Muzaffarpur. After the matter came to light, the police came into action and arrested four people. On Tuesday (29 August), Town ASP Awadhesh Dixit said that the accused woman, her lover, the husband of the minor girl and the woman who helped in selling her have been arrested by the police.

ASP Awadhesh Dixit said that zero FIR was registered from Ratu police station of Ranchi. After this the case reached Sadar police station of Muzaffarpur. On this basis, the police started action. It is said that the age of the girl is around 14 years and she was sold for Rs 2.50 lakh. However, the police has refused to reveal anything regarding the amount. The statement of the girl has been recorded in the court. Medical examination has been done.

Now understand the whole matter

After the death of her husband, the woman, resident of Ranchi, Jharkhand, was somehow living her life in Gobarsahi of Sadar police station area of Muzaffarpur. During this, she fell in love with a friend of her husband. The woman had a daughter. One son was younger than the girl who lived in the hostel. The biggest obstacle in love was having a woman's daughter. After this, the woman first put her son in a hostel and then sold her daughter to her husband's friend couple. Then eloped with her lover.

How did the matter come to light?

It is said that the hostel owners put pressure on the woman to pay the hostel fees for her son. After this, the hostel people contacted the boy's grandfather in Ranchi. After this the whole matter was revealed. Then his relatives got the case registered in Ranchi itself.

It has also come to light that the girl's father was a resident of Jharkhand. He had come to Muzaffarpur in connection with work. Here he started living in a rented house in Gobarsahi with his family. He died two years ago. At that time the girl was 12 years old. Only after this the woman fell in love with another person. The lover got ready for marriage but the children were becoming a dispute.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT