लेबर डे पर राजस्थान में बड़ा हादसा: मौत के मुंह गए 15 मजदूर...दहल गया इलाका

 0
लेबर डे पर राजस्थान में बड़ा हादसा: मौत के मुंह गए 15 मजदूर...दहल गया इलाका

लेबर डे पर राजस्थान में बड़ा हादसा: मौत के मुंह गए 15 मजदूर...दहल गया इलाका

मजदूर दिवस की बधाइयां सोशल मीडिया पर लगातार जारी है। इसी बीच राजस्थान के धौलपुर जिले में मजदूर परिवारों में मातम छा गया। क्योंकि यहां पर जिस मकान में कंस्ट्रक्शन चल रहा था उसकी तीसरी मंजिल की छत अचानक गिर गई। जिसके नीचे करीब आठ मजदूर दब गए।

जब मिट्टी के नीचे से निकली लाशें तो दहल गया दिल
2 घंटे तक चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद आठों मजदूरों को निकाल तो लिया गया लेकिन 2 की मौत हो गई। यह घटना धौलपुर जिले के बाड़ी कोतवाली क्षेत्र की है। पूरे मकान में करीब 20 मजदूर काम कर रहे थे। इसी दौरान यह हादसा हुआ। हादसे में लखन और भोला नाम के दो मजदूरों की मौत हो गई।

दोनों की मौत के बाद परिवार हो जाएगी दो वक्त की रोटी के लिए मोहताज
वहीं इस घटना में कृपालए कन्हैयालाल, भूरी लोकेश और गोपीचंद घायल हो गए। जिन्हें पहले तो स्थानीय बाड़ी अस्पताल ले जाया गया लेकिन हालत ज्यादा गंभीर होने पर धौलपुर रेफर कर दिया गया। अभी दोनों मजदूरों के शव का पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सौंपा जाएगा। बता दें कि दोनों ही मजदूर स्थानीय है। जिनका पूरा परिवार ही पिछले कई सालों से मजदूरी का काम करता है। लेकिन दोनों ही परिवारों में जवान मौत हो जाने के बाद अब रोटी के संकट खड़े हो चुके हैं।

यह खबर भी पढ़ें:-


Big accident in Rajasthan on Labor Day: 15 laborers died...area shaken

Labor Day greetings continue on social media. Meanwhile, there was mourning among labor families in Dholpur district of Rajasthan. Because the roof of the third floor of the house where construction was going on suddenly collapsed. Under which about eight laborers got buried.

My heart was shaken when the dead bodies came out from under the soil.
After a rescue operation that lasted for 2 hours, all eight workers were rescued but two died. This incident took place in Bari Kotwali area of Dholpur district. About 20 laborers were working in the entire house. This accident happened during this time. Two laborers named Lakhan and Bhola died in the accident.

After the death of both, the family will be in need of food for two meals a day.
Kripal, Kanhaiyalal, Bhuri Lokesh and Gopichand were injured in this incident. They were first taken to the local Bari hospital but when their condition became serious, they were referred to Dholpur. Now the bodies of both the laborers will be handed over to their families after post-mortem. Let us tell you that both the laborers are local. Whose entire family has been working as laborers for the last many years. But after the death of young people in both the families, there is now a crisis of livelihood.