राजस्थान में ईडी के नाम पर प्रोफेसर महिला से 7.50 करोड़ की ठगी

 0
राजस्थान में ईडी के नाम पर प्रोफेसर महिला से 7.50 करोड़ की ठगी
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

राजस्थान में ईडी के नाम पर प्रोफेसर महिला से 7.50 करोड़ की ठगी

ईडी यानि प्रवर्तन निदेशालय, इसका नाम आपने राजस्थान में खूब सुना होगा। राजस्थान में इस एजेंसी ने कई नेताओं और उद्योगपतियों पर बीते दिनों शिकंजा कसा। लेकिन क्या आप कभी सोच सकते हैं कि इसके नाम पर ही कोई आरोपी ठगी कर ले। ठगी भी कोई छोटी-मोटी नहीं बल्कि 7.50 करोड़ की। पूरा मामला राजस्थान के झुंझुनू जिले का है।


महिला प्रोफेसर को ठगा
जहां देश की मशहूर बिट्स पिलानी यूनिवर्सिटी की महिला प्रोफेसर को आरोपियों ने अपने झांसे में लिया और फिर उनसे ठगी की वारदात को अंजाम दिया। आरोपी उन्हें मनी लांड्रिंग के नाम पर डराकर पैसों की मांग कर रहे थे। दरअसल इस मामले में प्रोफेसर श्रीजाता डे ने झुंझुनूं एसपी देवेंद्र बिश्नोई से मिलकर उन्हें पूरा घटनाक्रम बताया इसके बाद आकाश कुलहरी और संदीप रावत सहित एक अन्य के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज किया गया है।

दूसरी सिम से अश्लील मैसेज
पुलिस को दी शिकायत में उन्होंने बताया कि 29 अक्टूबर को सुबह 8:30 बजे के करीब उनके पास एक कॉल आया और कॉल करने वाले ने कहा कि वह दूरसंचार विभाग से बोल रहा है और इस नंबर पर साइबर क्राइम से जुड़ी हुई शिकायत प्राप्त हुई है। आपका फोन 1 घंटे में बंद हो जाएगा। फोन करने वाले ने कहा कि आपका आधार से दूसरी सिम अलॉट है जिससे लोगों को अश्लील मैसेज भेजे जा रहे हैं।

मनी लांड्रिंग केस में आप संदिग्ध
इसके बाद महिला प्रोफेसर को कई कॉल आए और आरोपियों ने उनसे स्काइप पर वीडियो कॉल करने की बात भी कही। आरोपियों ने उन्हें कहा कि आप नरेश गोयल मनी लांड्रिंग केस में आप संदिग्ध पाए गए हैं। आपके 20 लाख रुपए मिले हैं। फोन करने वाले बदमाशों ने कहा कि आपका गिरफ्तारी वारंट भी जारी हो चुका है। एक आरोपी ने उनसे सीबीआई ऑफिसर बनकर भी बातचीत की। आरोपियों ने नेशनल सिक्योरिटी का झांसा देकर महिला से पूरी ठगी कर ली। अब फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

In Rajasthan, a woman professor was cheated of Rs 7.50 crore in the name of ED.

ED i.e. Enforcement Directorate, you must have heard its name a lot in Rajasthan. In Rajasthan, this agency tightened its grip on many politicians and industrialists in the past. But can you ever imagine that an accused would commit fraud in its name only? The fraud is also not a small one but of Rs 7.50 crore. The whole matter is of Jhunjhunu district of Rajasthan.


Cheated female professor
Where the accused lured a female professor of the country's famous BITS Pilani University and then defrauded her. The accused were demanding money by threatening them in the name of money laundering. In fact, in this matter, Professor Shrijata De met Jhunjhunu SP Devendra Bishnoi and told him the entire incident, after which a case of fraud has been registered against Akash Kulhari and Sandeep Rawat and others.

obscene messages from second sim
In the complaint given to the police, he told that on October 29, around 8:30 am, he received a call and the caller said that he was calling from the Department of Telecommunications and a complaint related to cyber crime had been received on this number. . Your phone will shut down in 1 hour. The caller said that you have a second SIM allotted from your Aadhaar due to which obscene messages are being sent to people.

You are a suspect in a money laundering case.
After this, the female professor received several calls and the accused also asked her to make a video call on Skype. The accused told him that he has been found a suspect in the Naresh Goyal money laundering case. Your 20 lakh rupees have been received. The miscreants who called said that your arrest warrant has also been issued. One accused also talked to him posing as a CBI officer. The accused completely cheated the woman on the pretext of national security. Now the police is currently busy investigating the case.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT