राजस्थान में ससुर ने बहू को गिफ्ट की लग्जरी कार, सवा रुपए में कर ली पूरी शादी...

 0
राजस्थान में ससुर ने बहू को गिफ्ट की लग्जरी कार, सवा रुपए में कर ली पूरी शादी...
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

राजस्थान में ससुर ने बहू को गिफ्ट की लग्जरी कार, सवा रुपए में कर ली पूरी शादी...

राजस्थान में चाहे कोई सरकारी नौकरी का रिजल्ट आने की बात हो या फिर शादियों का सीजन हो। हमेशा राजस्थान चर्चा में ही रहता है। कभी शाही शादी तो कहीं सादगी भरी शादियों के लिए राजस्थान कई बार चर्चाओं में आ चुका है। कुछ ऐसा ही मामला अब राजस्थान के झुंझुनू जिले से सामने आया है।


दहेज में लिया सवा रुपए लेकर बहू को लाए घर
अक्सर शादियों में लड़की के पिता दूल्हे को गाड़ी गिफ्ट करते हैं। लेकिन झुंझुनू में शादी के बाद ससुर ने अपनी बहू को एक लग्जरी गाड़ी गिफ्ट की है। यह नेक काम किया है असम प्रवासी और झुंझुनू के ही मूल निवासी रामस्वरूप ढाका ने। इतना ही नहीं उन्होंने दहेज की जगह केवल नेग के सवा रुपए लेकर अपने बेटे की शादी की।

पूरे राजस्थान में चर्चा का विषय बनी यह शादी
दरअसल उनके बेटे विकास की शादी कटराथल के रहने वाले सुभाष गढ़वाल की बेटी निकिता के साथ हुई। इन्होंने अपनी बहू को 16 लाख रुपए की लग्जरी किया गाड़ी गिफ्ट की है। जो अब पूरे राजस्थान में चर्चा का विषय बनी हुई है।

बेटी और बहू घर की लक्ष्मी...
रामस्वरूप ढाका कहते हैं कि आमतौर पर माना जाता है कि बेटी और बहू घर की लक्ष्मी होती है। उनके आने से घर में सुख और समृद्धि आती है। तो फिर सभी को यह सोचना चाहिए कि देवी की तरह ही हमेशा सिर आंखों पर रखना चाहिए।

In Rajasthan, father-in-law gifted a luxury car to his daughter-in-law, the entire marriage took place in just Rs. 1.25.

In Rajasthan, whether it is the result of any government job or it is the wedding season. Rajasthan always remains in discussion. Rajasthan has been in the news many times, sometimes for royal weddings and sometimes for simple weddings. A similar case has now come to light from Jhunjhunu district of Rajasthan.


Took one and a quarter rupees as dowry and brought the daughter-in-law home
Often in weddings the girl's father gifts a car to the groom. But after the marriage in Jhunjhunu, the father-in-law has gifted a luxury car to his daughter-in-law. This noble work has been done by Ramswaroop Dhaka, an Assam migrant and a native of Jhunjhunu. Not only this, instead of dowry, he married his son by taking only 1.25 rupees.

This marriage became a topic of discussion in entire Rajasthan
Actually, his son Vikas was married to Nikita, daughter of Subhash Garhwal, resident of Katrathal. He has gifted a luxury car worth Rs 16 lakh to his daughter-in-law. Which is now a topic of discussion in entire Rajasthan.

Daughter and daughter-in-law Lakshmi of the house...
Ramswaroop Dhaka says that it is generally believed that the daughter and daughter-in-law are the Lakshmi of the house. Their arrival brings happiness and prosperity in the house. Then everyone should think that like a goddess, one should always keep one's head above one's eyes.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT