नाबालिग से रेप के आरोपी को 20 साल की कठोर सजा, 49 हजार रुपए का आर्थिक दंड भी लगा

 0
नाबालिग से रेप के आरोपी को 20 साल की कठोर सजा, 49 हजार रुपए का आर्थिक दंड भी लगा
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

 

नाबालिग से रेप के आरोपी को 20 साल की कठोर सजा, 49 हजार रुपए का आर्थिक दंड भी लगा

राजस्थान के अजमेर में एक नाबालिग से रेप के आरोपी को 20 साल की सजा सुनाई गई है। पोक्सो कोर्ट ने आरोपी को 20 साल कठोर कारावास की सजा के साथ ही 49 हजार रुपए का आर्थिक दंड लगाया है। मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से 16 गवाह और 23 दस्तावेज पेश किए गए थे। जिसके बाद अदालत ने गुरुवार को आरोपी को सजा सुनाई।

पोक्सो कोर्ट संख्या-1 के अधिवक्ता रूपेंद्र कुमार परिहार ने बताया कि 20 नवंबर 2021 को जवाजा थाने में FIR दर्ज हुई थी। पीड़ित ने शिकायत में अपनी नाबालिग बेटी को बहला-फुसलाकर ले जाने का आरोप लगाया था। इसके बाद पुलिस ने मामले में मुकदमा दर्ज कर टीम का गठन किया और कार्रवाई के निर्देश दिए थे।

पीड़िता के बयान के बाद आरोपी गिरफ्तार…
पुलिस टीम ने पीड़िता को गुजरात से दस्तयाब किया। पीड़िता के बयानों पर आरोपी के खिलाफ पोक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया। इसके बाद टीम ने जिला ब्यावर निवासी आरोपित गोविंद सिंह उर्फ राहुल (22) पुत्र नारायण सिंह को गिरफ्तार कर लिया था। बुधवार को पॉक्सो कोर्ट ने मामले में सुनवाई हुई।

पीड़िता को मिलेंगे 6 लाख रुपए…
अभियोजन पक्ष की ओर से 16 गवाह और 23 दस्तावेज पेश किए गए। एफएसएल व डीएनए रिपोर्ट में पीड़िता के साथ रेप और प्रेग्नेंट होने की पुष्टि हुई। इसके बाद जज ने मामले में सुनवाई करते हुए आरोपी गोविंद सिंह को 20 साल कठोर कारावास की सजा सुनाई। इसके साथ ही 49 हजार का आर्थिक दंड भी लगाया है। जज ने पीड़िता को पीड़ित प्रतिकर स्कीम के तहत पीड़िता को 6 लाख रुपए दिलाए जाने के आदेश भी दिए हैं।

The accused of raping a minor was sentenced to 20 years rigorous imprisonment and also imposed a financial penalty of Rs 49 thousand.


The accused of raping a minor in Ajmer, Rajasthan has been sentenced to 20 years. The POCSO court has sentenced the accused to 20 years rigorous imprisonment and also imposed a financial penalty of Rs 49 thousand. 16 witnesses and 23 documents were presented by the prosecution in the case. After which the court sentenced the accused on Thursday.

Advocate Rupendra Kumar Parihar of POCSO Court No. 1 said that an FIR was registered at Jawaja police station on 20 November 2021. In the complaint, the victim had accused him of luring his minor daughter. After this, the police registered a case in the case, formed a team and gave instructions for action.

The accused was arrested after the victim's statement…
The police team arrested the victim from Gujarat. Based on the statements of the victim, a case was registered against the accused under POCSO Act. After this, the team arrested the accused Govind Singh alias Rahul (22), son of Narayan Singh, resident of Beawar district. The POCSO court heard the case on Wednesday.

The victim will get Rs 6 lakh…
The prosecution presented 16 witnesses and 23 documents. FSL and DNA reports confirmed that the victim was raped and pregnant. After this, the judge, while hearing the case, sentenced the accused Govind Singh to 20 years of rigorous imprisonment. Along with this, a financial penalty of Rs 49 thousand has also been imposed. The judge has also ordered the victim to be given Rs 6 lakh under the Victim Compensation Scheme."

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT