धनतेरस कल, जानें खरीदारी का शुभ मुहूर्त, महत्व और इस दिन क्या खरीदें क्या नहीं

 0
धनतेरस कल, जानें खरीदारी का शुभ मुहूर्त, महत्व और इस दिन क्या खरीदें क्या नहीं

धनतेरस कल, जानें खरीदारी का शुभ मुहूर्त, महत्व और इस दिन क्या खरीदें क्या नहीं


हर वर्ष कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस का पर्व मनाया जाता है। इसी तिथि पर भगवान धन्वंतरि सोने के कलश के साथ प्रकट हुए थे। साथ ही त्रयोदशी के दिन ही आयुर्वेद के देवता धन्वंतरि जी की जयंती भी मनाई जाती है। इस साल 10 नवंबर को धनतेरस है। धनतेरस पर नई चीजों की खरीदारी का विशेष महत्व होता है। ऐसी मान्यता है जो कोई भी धनतेरस के दिन खरीदारी करता है, उसके घर पर सुख और समृद्धि आती है। मान्यता है कि धनतेरस के दिन खरीदी गई वस्तुएं कई वर्षों तक शुभ फल प्रदान करती हैं। ऐसे में चलिए जानते हैं इस साल धनतेरस पर खरीदारी का शुभ मुहूर्त, महत्व और इस दिन क्या खरीदें क्या नहीं... 

धनतेरस पर खरीदारी का शुभ मुहूर्त 
धनतेरस पर शुभ मुहूर्त में खरीदारी करना अच्छा माना जाता है। पंचांग के अनुसार धनतेरस के दिन यानी 10 नवंबर को दोपहर 12 बजकर 35 मिनट से लेकर अगले दिन यानी 11 नवंबर की सुबह तक खरीदारी करने का शुभ मुहूर्त है। 


धनतेरस लक्ष्मी पूजा मुहूर्त
धनतेरस के पावन पर्व पर भगवान गणेश, मां लक्ष्मी और कुबेर देवता की पूजा की जाती है। धनतेरस पर लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त 10 नवंबर, शुक्रवार को शाम 05 बजकर 47 मिनट से शाम 07 बजकर 47 मिनट तक रहेगा। 
धनतेरस पर खरीदारी का महत्व
धनतेरस पर शुभ मुहूर्त में बर्तन और सोने-चांदी के अलावा वाहन, जमीन-जायदाद के सौदे, लग्जरी चीजें और घर में काम आने वाले अन्य दूसरी चीजों की खरीदारी करना शुभ माना जाता है। मान्यता है कि धनतेरस के दिन खरीदी गई चल-अचल संपत्ति में तेरह गुणा वृद्धि होती है। 

धनतेरस पर क्या खरीदें?
धनतेरस के दिन सोना-चांदी के अलावा बर्तन, वाहन और कुबेर यंत्र खरीदना शुभ होता है। 
इसके अलावा झाड़ू खरीदना भी अच्छा माना जाता है। मान्यता है इस दिन झाड़ू खरीदने से मां लक्ष्मी मेहरबान रहती हैं।
वहीं यदि धनतेरस के दिन आप कोई कीमती वस्तु नहीं खरीद पा रहे हैं तो साबुत धनिया जरूर घर ले आएं। 
मान्यता है इससे धन की कभी कमी नहीं होती है। इसके अलावा आप गोमती चक्र भी खरीद सकते हैं। इससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।


धनतेरस पर क्या नहीं खरीदें?
इस दिन लोहा या लोहे से बनी वस्तुएं घर लाना शुभ नहीं माना जाता है। ज्योतिष के अनुसार यदि आप धनतेरस के दिन लोहे से बनी कोई भी वस्तु घर लाते हैं, तो घर में दुर्भाग्य का प्रवेश हो जाता है। 
धनतेरस पर एल्युमिनियम या स्टील की वस्तुएं न खरीदें। मान्यता है कि स्टील या एल्युमिनियम से बने बर्तन या अन्य कोई सामान खरीदने से मां लक्ष्मी रूठ जाती हैं।
ज्योतिष के अनुसार यदि आप धनतेरस के दिन घर में कोई भी प्लास्टिक की चीज लेकर आएंगे तो इससे धन के स्थायित्व और बरकत में कमी आ सकती है, इसलिए धनतेरस के दिन प्लास्टिक की वस्तुएं भी न खरीदें। 
धनतेरस के शुभ अवसर पर शीशे या कांच की बनी चीजें भी बिल्कुल नहीं खरीदनी चाहिए। 
ज्योतिष के अनुसार धनतेरस के दिन चीनी मिट्टी या बोन चाइना की कोई भी वस्तु नहीं खरीदनी चाहिए।


धनतेरस पर करें ये उपाय
धनतेरस पर भगवान धन्वंतरि, माता लक्ष्मी, कुबेर, यमराज और भगवान गणेश जी की पूजा करें। 
धनतेरस के दिन घर और बाहर 13 दीपक जलाने से बीमारियों को दूर किया जा सकता है। 
दान करना पुण्य कर्म है। माना जाता है कि, दान करने से पिछले जन्म के पाप धुल जाते है। धनतेरस के दिन दान करने का विशेष महत्व होता है। 
इस दिन यदि आप सूर्यास्त से पहले दान करते हैं तो आपको धन की कमी नहीं होगी। हालांकि इस दिन सफेद कपड़ा, चावल, चीनी आदि का दान नहीं करना है।  
धनतेरस पर पशुओं की पूजा करने से आर्थिक परेशानियां दूर होती हैं। 


धनतेरस कथा
पौराणिक कथा के अनुसार जब अमृत प्राप्ति के लिए देवताओं और दानवों के द्वारा समुद्र मंथन किया गया था, तो एक-एक करके उससे क्रमशः चौदह रत्नों की प्राप्ति हुई। समुद्र मंथन के बाद सबसे अंत में अमृत की प्राप्ति हुई थी। कहा जाता है कि भगवान धन्वंतरि समुद्र से अपने हाथों में अमृत कलश लेकर प्रकट हुए थे। जिस दिन भगवान धन्वंतरि अमृत कलश लेकर प्रकट हुए वह कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि थी, इसलिए धनतेरस या धनत्रयोदशी के दिन धन्वंतरि देव के पूजन का विधान है। 

Dhanteras tomorrow, know the auspicious time for shopping, its importance and what to buy and what not to buy on this day.


Every year the festival of Dhanteras is celebrated on the Trayodashi date of Kartik Krishna Paksha. On this date Lord Dhanvantari appeared with a golden pot. Besides, the birth anniversary of Dhanvantari, the god of Ayurveda, is also celebrated on the day of Trayodashi. This year Dhanteras is on 10th November. Purchasing new things has special significance on Dhanteras. There is a belief that whoever makes purchases on Dhanteras brings happiness and prosperity to his home. It is believed that items purchased on the day of Dhanteras provide auspicious results for many years. In such a situation, let us know the auspicious time for shopping on Dhanteras this year, its importance and what to buy and what not to buy on this day...

Auspicious time for shopping on Dhanteras
It is considered good to do shopping during auspicious time on Dhanteras. According to the Panchang, the auspicious time for shopping is from 12:35 pm on Dhanteras day i.e. 10th November till the morning of the next day i.e. 11th November.


Dhanteras Lakshmi Puja Muhurat
Lord Ganesha, Goddess Lakshmi and Lord Kuber are worshiped on the holy festival of Dhanteras. The auspicious time for Lakshmi Puja on Dhanteras will be from 05:47 pm to 07:47 pm on Friday, November 10.
Importance of shopping on Dhanteras
During the auspicious time on Dhanteras, apart from utensils and gold and silver, it is considered auspicious to purchase vehicles, real estate deals, luxury items and other household items. It is believed that the movable and immovable property purchased on the day of Dhanteras increases thirteen times.


What to buy on Dhanteras?
Apart from gold and silver, it is auspicious to buy utensils, vehicles and Kuber Yantra on the day of Dhanteras.
Apart from this, buying a broom is also considered good. It is believed that buying a broom on this day brings blessings to Goddess Lakshmi.
On the other hand, if you are not able to buy any expensive item on the day of Dhanteras, then definitely bring home whole coriander.
It is believed that there is never any shortage of money due to this. Apart from this you can also buy Gomati Chakra. Mother Lakshmi is pleased with this.


What not to buy on Dhanteras?
It is not considered auspicious to bring home iron or items made of iron on this day. According to astrology, if you bring home any item made of iron on the day of Dhanteras, then bad luck enters the house.
Do not buy aluminum or steel items on Dhanteras. It is believed that buying utensils or any other item made of steel or aluminum makes Goddess Lakshmi angry.
According to astrology, if you bring any plastic item into the house on the day of Dhanteras, it can reduce the stability of wealth and blessings, hence do not buy plastic items on the day of Dhanteras.
On the auspicious occasion of Dhanteras, one should not buy glass or glass items at all.
According to astrology, one should not buy any ceramic or bone china item on the day of Dhanteras.


Do these measures on Dhanteras
On Dhanteras, worship Lord Dhanvantari, Mata Lakshmi, Kuber, Yamraj and Lord Ganesha.
Diseases can be cured by lighting 13 lamps inside and outside the house on the day of Dhanteras.
Donating is a virtuous act. It is believed that by donating, the sins of the previous birth are washed away. Donating on the day of Dhanteras has special significance.
If you donate before sunset on this day, you will not face shortage of money. However, white cloth, rice, sugar etc. are not to be donated on this day.
Worshiping animals on Dhanteras relieves financial problems.


Dhanteras story
According to the legend, when the ocean was churned by gods and demons to obtain nectar, fourteen gems were obtained from it one by one. After the churning of the ocean, nectar was obtained last. It is said that Lord Dhanvantari appeared from the sea with a pot of nectar in his hands. The day on which Lord Dhanvantari appeared with the nectar pot was Trayodashi date of Krishna Paksha of Kartik month, hence there is a tradition of worshiping Lord Dhanvantari on the day of Dhanteras or Dhantrayodashi.