Home राजस्थान खुलासा: गला घोंटकर बेटों ने ही की थी शराबी पिता की हत्या;...

खुलासा: गला घोंटकर बेटों ने ही की थी शराबी पिता की हत्या; फिर शव घर में ही दफनाकर गुजरात भाग गए थे, पकड़े गए

0
  • खेरवाड़ा क्षेत्र के रोबिया गांव में अधेड़ की हत्या का मामला, पत्नी सहित दो बेटे गिरफ्तार, बेटी डिटेन

खेरवाड़ा थाना क्षेत्र के रोबिया गांव में अधेड़ की हत्या कर सूने मकान में शव दफनाने के मामले का खेरवाड़ा पुलिस ने रविवार को खुलासा कर दिया है। मृतक के बेटों ने ही मिल कर की थी पिता की हत्या। हत्या के बाद शव घर में ही दफना दिया और गुजरात चले गए थे। पूछताछ में आरोपियों ने हत्या का कारण मृतक की रोज-रोज की प्रताड़ना बताया। आरोपियों को रविवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें पांच दिन के रिमांड पर सौंपा गया। इनमें एक बाल अपचारिका है, जिसे बाल संरक्षण गृह भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार 11 फरवरी को रोबिया गांव के एक सूने मकान में शव गढ़े होने की सूचना पर खेरवाड़ा पुलिस मौके पर पहुंची और एफएसएल टीम की सहायता से सूने मकान के अंदर जमीन को खोद कर मृतक भगु (60) उर्फ शंकर पुत्र रूपसिंह अहारी के शव को बाहर निकाला। शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया था।

वहीं भगु की हत्या के मामले में खेरवाड़ा थानाधिकारी श्याम सिंह, एएसआई महेंद्र सिंह चावड़ा, हेड कांस्टेबल मुकेश कुमार, कांस्टेबल डालचंद, राकेश, संदीप और महिला कांस्टेबल सुशीला मय जाप्ता की टीम गठित कर आरोपियों की तलाश में दबिश दी गई। इस दौरान पुलिस ने शनिवार को गुजरात के मांडली, विजापुर में दबिश देकर मृतक के परिवार के सदस्यों को पकड़ा और खेरवाड़ा थाने लाकर पूछताछ की, जिसमें उन्होंने हत्या करना स्वीकार किया। पुलिस ने मृतक की पत्नी सदण देवी (50), पुत्र नरेश अहारी (19), दत्तक पुत्र अरविंद (20) पुत्र ऐलु मीणा को गिरफ्तार कर रविवार को न्यायालय में पेश किया, जहां से पांच दिन के रिमांड पर भेज दिया। वहीं एक बाल अपचारिका को डिटेन कर बाल सुधार गृह भेज दिया।

एक शादी, दो महिलाओं को नाते लाया था, परिवार वालों से मारपीट करता था

पुलिस ने बताया कि मृतक भगु ने करीब 40 वर्ष पूर्व बंजारिया निवासी एक महिला को पत्नी बनाकर रखा था। कुछ दिनों बाद भगु शराब पीकर आए दिन महिला से मारपीट करता था, जिससे वह महिला घर छोड़ कर चली गई। बाद में भगु ने बावलवाड़ा के मडडिया निवासी सदण देवी से विवाह किया, जिसके 2 लड़के और 4 लड़कियां हुईं। फिर भगु पोगरा गांव की एक महिला को भगा कर ले आया। इस दौरान यह महिला अपने साथ 2 लड़कियां और 1 लड़का अरविंद को लेकर भगु के साथ रहने लगी।

इस दौरान भगु आए दिन शराब पीकर बच्चों और पत्नी से झगड़ा ओर मारपीट करता था, जिससे तंग आकर अरविंद की मां अपने तीनों बच्चों को भगु के पास छोड़ कर गुजरात में नाते चली गई। वहीं अरविंद के कोई वारिश नहीं रहने से उसे पोगरा और रोबिया में कोई घर और जमीन नहीं मिली। वहीं इस बीच भगु एक महिला को और भगा लाया, लेकिन वह महिला भी भगु की प्रताड़ना से बचने के लिए घर से भाग गई। दूसरी ओर भगु की पहली पत्नी की 3 लड़कियां और दूसरी पत्नी की 2 लड़कियों ने गुजरात में प्रेम विवाह कर लिया।

वहीं एक बार भगु ने परिवार को भगाने की नीयत से गुजरात के मांडली और रोबिया के घर में आग लगाई थी, जिससे कई दस्तावेज भी जल गए। भगु के आए दिन परिवार वालों को प्रताड़ित करने के चलते 18 नवंबर 2020 की रात को अरविंद और नरेश ने मिलकर भगु की रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी। सदण देवी के साथ मिलकर भगु के शव को घर में ही गड्ढा खोदकर दफना दिया। फिर सभी गुजरात भाग गए। पुलिस के अनुसार भगु का एक पुत्र अपंग है। इस दौरान सदण देवी और उसके पुत्र गुजरात में मजदूरी कर अपना गुजर-बसर कर रहे थे तथा अपंग पुत्र की भी सेवा कर रहे थे।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here