अस्पताल में लाठीचार्ज, दो घायल - अस्पताल प्रशासन और पुलिस ने हालात को कंट्रोल किया

 0
अस्पताल में लाठीचार्ज, दो घायल - अस्पताल प्रशासन और पुलिस ने हालात को कंट्रोल किया
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

चूरू:अस्पताल में लाठीचार्ज, दो घायल - अस्पताल प्रशासन और पुलिस ने हालात को कंट्रोल किया

चूरू के डीबी अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में रविवार रात लाठी चार्ज का मामला सामने आया है। वार्दात के बाद ड्यूटी डॉक्टर सहित स्टाफ में डर दिखाई दी। अस्पताल प्रशासन का आरोप है कि उन्होंने नर्सिंग ऑफिसर पर लाठी से हमला किया, लेकिन लाठी के वार से नर्सिंग ऑफिसर बच गए। सूचना मिलते ही कोतवाली थाना पुलिस और दूधवाखारा पुलिस अस्पताल पहुंची और हालात को कंट्रोल किया।

बीकानेर जिले के झंझेऊ गांव के छेलूसिंह का यहां एक्सीडेंट हो गया था। उनके साथी शिव सिंह (26) ने उन्हें गाड़ी में लेकर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड पहुंचाया, लेकिन उस समय अस्पताल स्टाफ किसी सीरियस मरीज के इलाज में लगा हुआ था। इसके कारण उन्हें तुरंत इलाज नहीं मिला, जिससे शिव सिंह का गुस्सा बढ़ा। उन्होंने लाठी निकालकर गाली गलौच की और तोड़फोड़ शुरू की। डॉक्टर और स्टाफ के केबिन के शीशे और प्लाई तोड़ दी।

इसी बीच अस्पताल अधीक्षक डॉ. हनुमान जयपाल और इमरजेंसी वार्ड इंचार्ज डॉ. आनंद प्रकाश वार्ड में पहुंचे। अस्पताल प्रशासन ने पुलिस को लिखित रिपोर्ट दी, जिसमें राजकारण में बाधा, अस्पताल के खिड़कियों और दरवाजों की तोड़फोड़ का आरोप लगाया गया है।


   
   
   

Churu: Lathi charge in hospital, two injured - hospital administration and police controlled the situation.

A case of lathi charge has come to light in the emergency ward of DB Hospital, Churu on Sunday night. After the incident, fear was seen among the staff including the duty doctor. The hospital administration alleges that they attacked the nursing officer with sticks, but the nursing officer escaped the attack. As soon as the information was received, Kotwali police station and Doodhwakhara police reached the hospital and controlled the situation.

Chhelusingh of Jhanjheu village of Bikaner district had an accident here. His friend Shiv Singh (26) took him in the car and took him to the emergency ward of the hospital, but at that time the hospital staff was engaged in the treatment of a serious patient. Due to this, he did not get immediate treatment, which increased Shiv Singh's anger. They took out sticks, abused them and started vandalism. The glass and ply of the cabin of the doctor and staff were broken.

Meanwhile, Hospital Superintendent Dr. Hanuman Jaipal and Emergency Ward Incharge Dr. Anand Prakash reached the ward. The hospital administration submitted a written report to the police, alleging political obstruction and vandalism of the hospital's windows and doors.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT