600 गायों का कत्ल और होम डिलीवरी, अलवर की बीफ मंडी के खुलासे से हड़कंप; भागे सारे मर्द

 0
600 गायों का कत्ल और होम डिलीवरी, अलवर की बीफ मंडी के खुलासे से हड़कंप; भागे सारे मर्द
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

600 गायों का कत्ल और होम डिलीवरी, अलवर की बीफ मंडी के खुलासे से हड़कंप; भागे सारे मर्द

राजस्थान के अलवर में बीफ मंडी के खुलासे से हड़कंप मच गया है। बीहड़ में सालों से चल रही बीफ मंडी पर राजस्थान की भजनलाल सरकार ने बड़ा ऐक्शन लिया है। जयपुर रेंज के आईजी ने किशनगढ़बास थाने के 4 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है तो एसएचओ समेत 38 को लाइन हाजिर किया गया है। जिन पुलिसकर्मियो को निलंबित किया गया है उनमें एएसआई ज्ञानचंद, बीट कॉन्स्टेबल स्वयं प्रकाश, रविकात और हेड कॉस्टेबल रघुवीर शामिल हैं। 

दरअसल, एक अखबार में इस बीफ मंडी की तस्वीरें छपीं तो जयपुर तक हलचल मच गई। खुद आईजी उमेश चंद्र दत्त ने छापेमारी की। इस दौरान 12 बाइक और एक पिकअप बरामद की गई है। गोवंश के अवशेष भी बरामद किए गए हैं और इन्हें परीक्षण के लिए भेजा गया है। बताया जा रहा है कि कई लोगों को हिरासत में लिया गया है। 

कहां लगती है बीफ मंडी और कैसे चल रहा था पूरा खेल
अलवर के किशनगढ़बास थाना क्षेत्र में यह बीफ मंडी चल रही थी। बीहड़ के बीच बसे बिरसंगपुर के पास रूंध गिदवड़ा में दिनदहाड़े गोकशी होती थी। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया कि यहां हर महीने 600 गायें काटीं जाती थीं। हर दिन बड़ी संख्या में लोग यहां मांस खरीदने पहुंचते थे। वही मेवात के करीब 50 गांवो में होम डिलीवरी भी होती थी। 

पुलिस से मिलीभगत का आरोप
आरोप है कि किशनगढ़बास थाने के पुलिसकर्मियों को मंडी की पूरी खबर थी। लेकिन कोई ऐक्शन नहीं लिया जाता था। अलवर से करीब 60 किलोमीटर दूर इस इलाके में करीब बीफ की बिरयानी भी बेची जाती थी। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया कि मांस और खाल बेचकर यहां के कुछ लोग महीने में 4 लाख से ज्यादा तक की कमाई कर रहे थे।  

ऐक्शन के बाद गांव से भागे मर्द
रूंध गिदवड़ा में पुलिस के ऐक्शन से हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि गांव के लगभग सभी मर्द इलाका छोड़कर भाग चुके हैं। गांव में सिर्फ महिलाएं, बच्चे और बिस्तर पर पड़े बुजुर्ग ही हैं। पुलिस अब दबिश देकर आरोपियों को दबोचने की कोशिश में जुट गई है। बीहड़ में उनकी तलाश की जा रही है। 

Slaughter of 600 cows and home delivery, revelations in Alwar's beef market create stir; all the men ran away

The revelation of beef market in Alwar, Rajasthan has created a stir. The Bhajanlal government of Rajasthan has taken major action on the beef market that has been going on in the ravines for years. Jaipur Range IG has suspended 4 policemen of Kishangarhbas police station while 38 including the SHO have been put on alert. The policemen who have been suspended include ASI Gyan Chand, Beat Constable Swayam Prakash, Ravikat and Head Constable Raghuveer.

In fact, when pictures of this beef market were published in a newspaper, there was a stir in Jaipur. IG Umesh Chandra Dutt himself conducted the raid. During this period, 12 bikes and one pickup have been recovered. Bovine remains have also been recovered and sent for testing. It is being told that many people have been detained.

Where is the beef market and how was the whole game going on?
This beef market was running in Kishangarhbas police station area of Alwar. Cow slaughter used to take place in broad daylight in Rundh Gidwada near Birsangpur, situated amidst the ravines. Media reports claimed that 600 cows were slaughtered here every month. Every day a large number of people used to come here to buy meat. Home delivery was also done in about 50 villages of Mewat.

Allegation of collusion with police
It is alleged that the policemen of Kishangarhbas police station had complete information about the market. But no action was taken. Beef biryani was also sold in this area, about 60 kilometers away from Alwar. Media reports claimed that some people here were earning more than Rs 4 lakh a month by selling meat and skin.

Men ran away from the village after the action
Police action has created a stir in Rundh Gidwada. It is being told that almost all the men of the village have fled the area. There are only women, children and bedridden elderly people in the village. The police have now started raiding and trying to nab the accused. They are being searched in the ravines.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT