पूरे राजस्थान में इस शादी के कार्ड ने मचा दिया था तहलका, हिल गया था प्रशासन, दूल्हे को भरना पड़ा था भारी भरकम जुर्माना

 0
पूरे राजस्थान में इस शादी के कार्ड ने मचा दिया था तहलका, हिल गया था प्रशासन, दूल्हे को भरना पड़ा था भारी भरकम जुर्माना
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

पूरे राजस्थान में इस शादी के कार्ड ने मचा दिया था तहलका, हिल गया था प्रशासन, दूल्हे को भरना पड़ा था भारी भरकम जुर्माना

जोधपुर की शादी का कार्ड सोशल मीडिया पर जबरदस्त वायरल हुआ था। इस कार्ड की वजह से दूल्हे को भारी भरकम जुर्माना भी देना पड़ गया था। जिसके पीछे का कारण है कार्ड में छपे नाम। इस कार्ड में 15-20 नहीं बल्कि पूरे 301 नाम छपे थे और कोरोना के समय शादी करने के लिए प्रशासन ने सिर्फ 50 लोगों को अनुमति दे रखी थी, लेकिन वायरल हुए इस कार्ड में 301 नाम छपवाए गए। सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल के बेटे और बेटी की शादी का कार्ड सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद प्रशासन भी हरकत में आया और शादी में से कई व्यक्तियों को वापस भेजा और आयोजनकर्ताओं पर 25 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया।

इसलिए छपवाए थे 301 नाम
राजस्थान के मारवाड़ ग्रामीण क्षेत्रों में शादी के कार्ड पर बड़ी संख्यां में नाम छपवाने की परम्परा है। ऐसा कहा जाता है कि जितने ज्यादा लोगों के नाम कार्ड पर होंगे परिवार का रिश्ता उन लोगों से उतना ही मजबूत होगा। इसलिए सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल ने अपने बेटे और बेटी के मुकलावा में 301 नाम छपवाए थे।

This wedding card had created a stir all over Rajasthan, the administration was shaken, the groom had to pay a huge fine.

Jodhpur's wedding card had gone viral on social media. Because of this card the groom also had to pay a huge fine. The reason behind which is the names printed in the card. In this card, not 15-20 but full 301 names were printed and at the time of Corona, the administration had given permission to only 50 people to get married, but 301 names were printed in this card that went viral. After the wedding card of a government school principal's son and daughter went viral on social media, the administration also swung into action and sent back many people from the wedding and also imposed a fine of Rs 25,000 on the organisers.

That's why 301 names were printed
In Marwar rural areas of Rajasthan, there is a tradition of printing a large number of names on wedding cards. It is said that the more people's names are on the card, the stronger will be the family's relationship with those people. Therefore, the principal of the government school had printed 301 names of his son and daughter in the Muklawaa.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT