एक और दुखद सुसाइड मामला, 14 साल की नाबालिग छात्रा ने की खुदकुशी, MP से फ्यूचर बनाने गई थी छात्रा

 0
एक और दुखद सुसाइड मामला, 14 साल की नाबालिग छात्रा ने की खुदकुशी, MP से फ्यूचर बनाने गई थी छात्रा
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

 एक और दुखद सुसाइड मामला, 14 साल की नाबालिग छात्रा ने की खुदकुशी, MP से फ्यूचर बनाने गई थी छात्रा

 राजस्थान के कोटा जिले को पूरे देश में एजुकेशन सिटी के नाम से जाना जाता है। लेकिन यहां लगातार हो रहे सुसाइड के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। इसी बीच एक दर्दनाक खबर सामने आई है। एजुकेशन सिटी कोटा में एक और सुसाइड हुआ। यह सुसाइड कोई मेडिकल या इंजीनियरिंग की तैयारी कर रहे स्टूडेंट का नहीं बल्कि आठवीं क्लास में पढ़ने वाली नाबालिग लड़की का है।

मध्य प्रदेश की रहने वाली थी छात्रा
जिसकी उम्र केवल 14 साल है और वह पिछले 10 सालों से अपने मामा के घर पर रहकर पढ़ाई कर रही थी। नाबालिग मूल रूप से मध्य प्रदेश की रहने वाली है। जिसने अपने कमरे को बंद किया हुआ था। घर वालों के कई बार गेट बजाने पर भी उसने गेट नहीं खोला। ऐसे में परिवार के लोगों को किसी अनहोनी का शक नही हुआ।इसके बाद मौके पर पुलिस को बुलाकर खिड़की से देखा गया तो नाबालिग फांसी के फंदे पर लटकी हुई थी। जिसके बाद उसके शव को कमरे से बाहर लाया गया।

आखिरकार नाबालिग लड़की के सुसाइड की क्या है वजह
मौके से कोई भी सुसाइड नोट नहीं मिल पाया है जिसके चलते यह पता चल सके कि आखिरकार सुसाइड का कारण क्या रहा। फिलहाल पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। वहीं नाबालिग के माता-पिता को भी सूचना दे दी गई है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है कि आखिरकार नाबालिग लड़की के सुसाइड का कारण क्या रहा। आपको बता दे कि कोटा में हर साल करीब एक दर्जन स्टूडेंट सुसाइड करते हैं।

Another tragic suicide case, a 14 year old minor student committed suicide, the student had gone to MP to make her future.

Kota district of Rajasthan is known as Education City in the entire country. But the continuous suicide cases here are not showing any signs of stopping. Meanwhile, a painful news has come to light. Another suicide took place in Education City Kota. This suicide is not of a student preparing for medical or engineering but of a minor girl studying in eighth class.

The student was from Madhya Pradesh
Who is only 14 years old and was studying at her maternal uncle's house for the last 10 years. The minor is originally from Madhya Pradesh. Who had locked his room. Despite the family members ringing the gate several times, he did not open the gate. In such a situation, the family members did not suspect any untoward incident. After this, the police were called on the spot and when they looked through the window, the minor was found hanging. After which his body was brought out of the room.

After all, what is the reason for the suicide of a minor girl?
No suicide note has been found from the spot so that it can be known what was the reason behind the suicide. At present, the police has started the process of getting the body post-mortem done. The parents of the minor have also been informed. At present, the police is busy investigating the entire matter to find out what was the reason for the suicide of the minor girl. Let us tell you that every year about a dozen students commit suicide in Kota.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT