मानवाधिकार संगठन पॉवर टू सेव ह्यूमन राइट्स ने प्रदेश अध्यक्ष आशीष नाथ ने बताया कि संगठन ने तंबाकू निषेध दिवस पर 2021 की थीम “तम्बाकू छोड़ने के लिए प्रतिबद्ध” विषय पर जनता तो तंबाकू उत्पादों को छोड़ने के लिए प्रेरित कर शपथ दिलाई और तंबाकू के दुष्परिणामों के बारे में जागरूक किया और समाज,परिवार में होने वाले नुकसान के बारे में बताया।

प्रदेशाध्यक्ष आशीष नाथ ने बताया कि तंबाकू सेवन करने वालो के लिए करोना ज्यादा खतरनाक है,लगातार सेवन से मानव शरीर की इम्यूनिटी पॉवर धीरे धीरे कम होती जाती हे।धूम्रपान करने वालों में कोरोना की गंभीरता और इससे मौत होने का जोखिम 50 फीसदी तक ज्यादा होता है, इसलिए कोरोना वायरस के जोखिम को कम करने के लिए धूम्रपान छोड़ देने में ही भलाई है। धूम्रपान की वजह से कैंसर, दिल की बीमारी और सांस की बीमारियों का जोखिम भी बढ़ जाता है।

ज्यादातर लोग तंबाकू का सेवन कच्ची तंबाकू, बीड़ी-सिगरेट, पान मसाला या हुक्का किसी भी तरह से कर रहे हैं उनको इसके नुकसान के बारे में समझाते हुए तंबाकू छोड़ने के लिए तो उनको प्रेरित किया है. उन युवाओं को भी इस बारे में समझाया जो इसकी शुरुआत कर सकते हैं.।

पॉवर टू सेव ह्यूमन राइट्स के आशीष नाथ, गुमान सिंह (गोपाल सा),यशपाल तंवर, रामचन्द्र टॉक, दीपक सिंह दैया,सुनीता कुमावत, श्रीमती आज्ञा, सतीश सोनी,अरुण चौधरी,गौरव मारू आदि ने लोगो को तंबाकू के हानिकारक कारणो के बारे में बताया और तंबाकू छोड़ने की सपथ दिलाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here