तेजी से आगे बढ रहे तूफान ‘टाउते’ के अगले 12 घन्टों में अति सीवियर साइक्लोन में तब्दील होने की संभावना प्रबल हो गई है. इसके उत्तर पश्चिम दिशा की तरफ बढ़ने का अनुमान है. इसका असर राजस्थान में 16 मई से नजर आना शुरू हो जाएगा. पिछले 6 घंटों में दक्षिण पूर्वी अरब सागर की खाड़ी में बना चक्रवाती तूफान 11 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से उत्तर उत्तर पश्चिमी दिशा में आगे बढ़ा है.

इसका केंद्र 12.8  12.8 deg N व 72.5 deg E  पर स्थित है.  इसके अगले 6 घंटों में और तीव्र होकर सीवियर साइक्लोन  (SEVERE CYCLONE)  बनने और उसके बाद अगले 12 घंटों में तीव्र हो कर अति सीवियर साइक्लोन में परिवर्तित होने के साथ इसके उत्तर उत्तर पश्चिम दिशा की तरफ आगे बढऩे की प्रबल संभावना है. वर्तमान परिस्थिति के अनुसार यह गुजरात के पोरबंदर व नलिया के बीच 18 मई  को पहुंचने की संभावना है.

राजस्थान में भी दिखेगा असर
राजस्थान में चक्रवाती तूफान टाउते के असर से थंडर स्टॉर्म के साथ बारिश की गतिविधियों में 16 मई से ही बढ़ोतरी शुरू होगी. विशेष रूप से उदयपुर, कोटा और जोधपुर संभाग के जिलों में 16 मई को थंडरस्टॉर्म व अचानक तेज हवाओं  (40-50 Kmph)   के साथ हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना है. 17 मई को भी इसका असर देखने को मिलेगा. 17 मई को  कोटा, उदयपुर अजमेर और जोधपुर संभाग के जिलों में थंडरस्टोर्म व अचानक तेज हवाओं  (40-50 Kmph)  के साथ ज्यादातर भागों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने जबकि एक दो स्थानों पर भारी बारिश होने की भी संभावना है.

18 मई को रहेगा सबसे ज्यादा असर
18-19 मई को सिस्टम का सर्वाधिक असर रहेगा इस दौरान जोधपुर संभाग के बाड़मेर, जालौर, जैसलमेर जोधपुर तथा आसपास के जिलों में कहीं-कहीं भारी से भारी बारिश होने की संभावना है. इसके अलावा नागौर, बीकानेर, चूरू, अजमेर, सिरोही जयपुर, भरतपुर सम्भाग और आस-पास के जिलों में कहीं मध्यम से भारी बारिश होने की संभावना है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here