मैं जी कर क्या करूंगी, कोटा में सुसाइड करने वाली लड़की का चैट आया सामने; पिता का कोचिंग संस्थान पर गंभीर आरोप

 0
मैं जी कर क्या करूंगी, कोटा में सुसाइड करने वाली लड़की का चैट आया सामने; पिता का कोचिंग संस्थान पर गंभीर आरोप
विज्ञापन3
.

शिक्षा की काशी कहे जाने वाले राजस्थान के कोटा में एक और छात्रा की मौत ने कई सवाल खड़े कर दिये हैं। उत्तर प्रदेश के मऊ निवासी कोचिंग छात्रा प्रियम सिंह द्वारा आत्महत्या किये जाने के बाद उसके परिजन कोटा पहुंच गए। जिसके बाद पुलिस ने छात्रा के शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। वहीं छात्रा के पिता ने बेटी की मौत के लिए कोचिंग संस्थान को जिम्मेदार बताते हुए पुलिस से  कार्रवाई की मांग की है। जिसपर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आपको बता दें कि छात्रा, एक कोचिंग सेंटर से नीट की तैयारी कर रही थी और करीब डेढ साल पहले ही कोटा पढाई के लिए आई थी।

छात्रा की वाट्सअप चैट हुई वायरल

छात्रा के सुसाइड के बाद उसकी मौत एक पहेली बन गई है। इसी बीच छात्रा का एक वाट्सअप चैट सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। जिसमें उसने कथित तौर से प्यार में असफल होने की बात कही है साथ ही साथ मरने का भी जिक्र किया है। हालांकी, पुलिस का कहना है कि उनके पास कोई चैट उपलब्ध नहीं है। लेकिन पुलिस हर एंगल से मामले की जांच कर रही है। एएसपी भगवत सिंह हिंगड का कहना है कि मामले में कोई कोताही नहीं बरती जा रही है। छात्रा के पिता ने जो रिपोर्ट दी है उसकी जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल प्रकरण दर्ज कर लिया गया है।

कोचिंग संस्थान पर दबाव बनाने का आरोप

विज्ञापन9 .
विज्ञापन .

वहीं बेटी की मौत की जानकारी मिलने के बाद कोटा पहुंचे छात्रा के पिता ने साफतौर पर कोचिंग संस्थान पर बेटी के ऊपर दवाब डालने का आरोप लगाया है। पिता का कहना है कि उनकी बेटी पर कोचिंग के टीचर पढाई को लेकर दवाब बना रहे थे और फेल होने की बात से डरा रहे थे। जिसकी वजह से बेटी प्रियम डिप्रेशन में आ गई और मौत को गले लगा लिया। सामने ये भी आ रहा है छात्रा के पिता को कोचिंग के खिलाफ न बोलने के लिए धमकाया भी जा रहा है। इस मामले की रिपोर्ट पुलिस को भी दे दी गई है।

25 छात्रों ने की आत्महत्या

शिक्षा नगरी कोटा छात्रों के भविष्य बनाने के लिए देश-विदेश में अपनी पहचान रखती है लेकिन बीते कुछ सालो से छात्रों द्वारा आत्महत्या करने के बाद ये छवि धूमिल होती जा रही है। साल 2023 में जनवरी से अब तक 25 छात्रों ने सुसाइड कर लिया है। वहीं सितंबर माह में एक सप्ताह के अंदर दो छात्राओं ने सुसाइड ने कर लिया है। 

रिचा के सुसाइड को मंत्री धारीवाल ने बताया था प्रेम प्रसंग

विज्ञापन0 .
विज्ञापन .

आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले झारखंड की रहने वाली रिचा ने कोटा में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। छात्रा कोटा से नीट की तैयारी कर रही थी। जिसकी जांच पुलिस कर ही रही थी। उस वक्त कांग्रेस के बड़े नेता और यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने एक भाषण में छात्रा के सुसाइड के पीछे प्रेम-प्रसंग बताया था। हालांकि, छात्रा के पिता ने सभी आरोपों को खारिज करते हुए मंत्री से सबूत मांगे थे। इस मामले में छात्रा के पास मिली एक डायरी में उसने घर जाने और कोटा में मन नहीं लगने की बात कही थी।

The death of another student in Kota, Rajasthan, which is known as the Kashi of education, has raised many questions. After the suicide of coaching student Priyam Singh, resident of Mau, Uttar Pradesh, his family reached Kota. After which the police got the post-mortem of the student's body done by the medical board and handed it over to the family members. The student's father has demanded action from the police, holding the coaching institute responsible for his daughter's death. On which the police have registered the case and started investigation. Let us tell you that the student was preparing for NEET from a coaching center and had come to Kota to study about one and a half years ago.

Student's WhatsApp chat went viral

After the suicide of the student, her death has become a mystery. Meanwhile, a WhatsApp chat of the student has gone viral on social media. In which he allegedly talked about failing in love and also mentioned about dying. However, police say they do not have any chat available. But the police is investigating the matter from every angle. ASP Bhagwat Singh Hingad says that there is no negligence in the matter. Action will be taken after investigating the report given by the student's father. At present the case has been registered.

Accused of putting pressure on coaching institute

The student's father, who reached Kota after getting information about his daughter's death, has clearly accused the coaching institute of putting pressure on his daughter. The father says that the coaching teachers were pressurizing his daughter regarding her studies and threatening her with the fear of failure. Due to which daughter Priyam fell into depression and embraced death. It is also coming to light that the student's father is being threatened for not speaking against the coaching. The report of this matter has also been given to the police.

25 students committed suicide

Kota, the education city, has its own identity in the country and abroad for building the future of the students, but in the last few years, this image is getting tarnished after the suicides by the students. Since January 2023, 25 students have committed suicide. In the month of September, two girl students committed suicide within a week.

Minister Dhariwal had described Richa's suicide as a love affair.

Let us tell you that a few days ago, Richa, a resident of Jharkhand, had committed suicide by hanging herself in Kota. The student was preparing for NEET from Kota. Which the police was still investigating. At that time, senior Congress leader and UDH minister Shanti Dhariwal in a speech had said that a love affair was the reason behind the student's suicide. However, the student's father rejected all the allegations and sought proof from the minister. In this case, in a diary found with the student, she had talked about going home and not being interested in Kota.

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow

विज्ञापन4 .