राजस्थान में पेपर लीक मामले में ED ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया, सरकार ने एसआईटी का गठन किया

 0
राजस्थान में पेपर लीक मामले में ED ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया, सरकार ने एसआईटी का गठन किया
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

राजस्थान में पेपर लीक मामले में ED ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया, सरकार ने एसआईटी का गठन किया

राजस्थान में भाजपा की सरकार बनने के बाद पेपर लीक मामले में लगातार कार्रवाई जारी है. मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा ने पदभार संभालते ही पेपर लीक मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया है. एसआईटी अपना काम कर रही है. इस बीच पेपर लीक मामले की जांच में केंद्रीय एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय (ED) भी एक्टिव हो गई है. ED ने पेपर लीक मामले में मास्टरमाइंड सहित 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. गिरोह के सरगना सुरेश साहू, विजय डामोर, पुखराज और अरूण शर्मा को ईडी ने गिरफ्तार किया है.

ये पांचों अलग-अलग समय में राजस्थान पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए थे. अब ईडी इन पांचों से पूछताछ करेगी. मिली जानकारी के अनुसार प्रवर्तन निदेशालय ने पेपर लीक मामले में बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए राजधानी जयपुर में पांच आरोपियों को प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार किया है.

मुख्य सरगना सुरेश डाका का जीजा है सुरेश साहू
इन आरोपियों में गिरोह का सरगना सुरेश साहू, विजय डामोर, पुखराज, अरुण शर्मा, पीराराम शामिल हैं. सुरेश साहू पेपर लीक मामले में गिरोह के मुख्य सरगना सुरेश डाका का जीजा बताया जा रहा है. ईडी द्वारा गिरफ्तार किया गया एक और आरोपी विजय डामोर आरपीएससी के सदस्य बाबूलाल कटारा का भतीजा बताया जा रहा है.

विजय ने आरपीएसएसी के मूल पेपर को किया था आउट
मिली जानकारी के अनुसार विजय ने आरपीएससी के मूल पेपर को आउट किया था. मूल पेपर के जो सभी सवाल थे वह एक रजिस्टर में आरोपी विजय ने लिखे थे. आरोपियों को प्रोडक्शन द्वारा पर गिरफ्तार करने के बाद ईडी की अधिकारियों ने कोर्ट में आरोपियों को पेश किया. जहां से रिमांड की मांग की गई.

पिछली सरकार में राजस्थान में पेपर लीक के 17 मामले हुए
कोर्ट ने पांचों ही आरोपियों को तीन दिन की डिमांड पर ईडी को सौंप दिया है. फिलहाल प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार करने के बाद आरोपियों से पूछताछ ईडी के आला अधिकारी पूछताछ करेंगे. मालूम हो कि मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा अपने कई भाषणों में यह कह चुके हैं कि पिछली सरकार के समय राजस्थान में पेपर लीक के 17 मामले हुए. अब एजेंसी इन सब मामलों में तेजी से जांच में जुटी है.


ED arrested 5 accused in paper leak case in Rajasthan, government formed SIT

After the formation of BJP government in Rajasthan, continuous action is going on in the paper leak case. As soon as Chief Minister Bhajan Lal Sharma took charge, he has constituted SIT to investigate the paper leak case. SIT is doing its work. Meanwhile, central agency Enforcement Directorate (ED) has also become active in the investigation of the paper leak case. ED has arrested 5 accused including the mastermind in the paper leak case. Gang leaders Suresh Sahu, Vijay Damor, Pukhraj and Arun Sharma have been arrested by ED.

All five were arrested by Rajasthan Police at different times. Now ED will interrogate these five. According to the information received, the Enforcement Directorate, taking major action in the paper leak case, has arrested five accused on production warrant in the capital Jaipur.

Suresh Sahu is the brother-in-law of the main kingpin Suresh Daka.
These accused include gang leader Suresh Sahu, Vijay Damor, Pukhraj, Arun Sharma, Peeraram. Suresh Sahu is said to be the brother-in-law of Suresh Daka, the main leader of the gang in the paper leak case. Another accused arrested by ED, Vijay Damor, is said to be the nephew of RPSC member Babulal Katara.

Vijay had given out the original paper of RPSAC
According to the information received, Vijay had outed the original paper of RPSC. All the questions in the original paper were written by accused Vijay in a register. After arresting the accused through production, ED officials presented the accused in the court. From where remand was demanded.

There were 17 cases of paper leak in Rajasthan during the previous government.
The court has handed over all the five accused to ED on demand of three days. At present, after arresting them on production warrant, top ED officials will interrogate the accused. It is known that Chief Minister Bhajanlal Sharma has said in many of his speeches that during the previous government, there were 17 cases of paper leak in Rajasthan. Now the agency is rapidly investigating all these cases.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT