स्कूल में छेड़छाड़ का मामला, पीड़ित छात्राओं के घर तक पहुंच गए आरोपी के परिजन

 0
 स्कूल में छेड़छाड़ का मामला, पीड़ित छात्राओं के घर तक पहुंच गए आरोपी के परिजन
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

शिक्षक के परिजनों ने स्कूल में छात्राओं के साथ की छेड़छाड़, पुलिस कमिश्नर को प्रिंसिपल ने लिखा पत्र

 स्कूल में छेड़छाड़ का मामला, पीड़ित छात्राओं के घर तक पहुंच गए आरोपी के परिजन

एक सरकारी स्कूल में छात्राओं से छेड़छाड़ के मामले में स्कूल की 10 छात्राएं और उनके परिजन कोर्ट पहुंचे, लेकिन स्कूल से लेकर घर तक छात्राओं और स्कूल प्रशासन को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। आरोप है कि निलंबित शिक्षक दिनेश पूनिया के परिजन सुबह से छात्राओं के पीछे लगे रहे। यहां तक की एक परिजन कोर्ट में भी छात्राओं के सामने ही बैठा रहा। स्कूल प्रशासन ने सबूत के तौर पर परिजन का वीडियो भी बनाया।

पोक्सो एक्ट में दर्ज हुआ था मामला रविवार को पुलिस की ओर से पोक्सो में एफआईआर दर्ज होने के बाद निलंबित शिक्षक के परिजन छात्राओं के घर पहुंच गए और उन्हें बयान बदलने के लिए दबाव बनाया। कोर्ट में आई 2 छात्राओं को आरोपी शिक्षक के परिजन अपनी गाड़ी में बैठाकर कोर्ट लेकर आए। स्कूल प्रशासन का कहना है कि पुलिस को सभी छात्राओं के नाम-पते दिए गए थे। वहां से लीक होने का अंदेशा है। वहीं पुलिस ने यह कहते हुए पल्ला झाड़ लिया कि छात्राएं -परिजन शिकायत करती हैं तो संबंधित पर कार्रवाई की जाएगी।

गरिमा पेटी में की थी शिकायत छात्राओं के साथ कुड़ी भगतासनी पुलिस थाना से सब इंस्पेक्टर रामभरोसे के साथ केवल एक महिला कांस्टेबल साथ भेजी गई। स्कूल प्रशासन ने बार-बार परिजन के सामने आने की शिकायत की, लेकिन पुलिस ने बात नहीं सुनी। अधिक विरोध करने पर ही परिजन को वहां से हटाया गया। गौरतलब है कि छात्राओं ने सामूहिक रूप से स्कूल की गरिमा पेटी में शिक्षक के विरुद्ध छेड़छाड़ की शिकायत की थी। शिक्षक को पहले चार्जशीट दी गई और एफआईआर के बाद निलंबित कर दिया गया है।

प्रिंसिपल ने पुलिस कमिश्नर को लिखा पत्र प्रिंसिपल ने पुलिस कमिश्नर राजेंद्र सिंह को पत्र लिखकर बताया कि सब इंस्पेक्टर राम भरोसे ने उनको और स्कूल की प्रभारी को धमकाया। पुलिस ने छात्राओं की गोपनीयता भंग की। पुलिस ने छात्राओं के साथ सहयोगात्मक रवैया नहीं अपनाया। प्रिंसिपल ने पुलिस पर आरोपी शिक्षक के रिश्तेदारों से मिले होने का आरोप भी लगाया। प्रिंसिपल ने छात्राओं और स्कूल प्रशासन को सुरक्षा मुहैया कराने की भी मांग की है।


   
   
   

Teacher's family molests girl students in school, principal writes letter to police commissioner
Case of molestation in school, family members of the accused reached the house of the victim girl students

In the case of molestation of girl students in a government school, 10 girl students of the school and their families reached the court, but from school to home, the girl students and the school administration had to face a lot of trouble. It is alleged that the family members of suspended teacher Dinesh Poonia were following the girl students since morning. Even a family member remained sitting in front of the girl students in the court. The school administration also made a video of the family as evidence.

The case was registered under the POCSO Act. After the FIR was registered by the police on Sunday, the family members of the suspended teacher reached the house of the girl students and pressured them to change their statements. The family members of the accused teacher brought the two girl students who came to the court in their car. The school administration says that the names and addresses of all the girl students were given to the police. There is a possibility of leakage from there. The police shrugged it off saying that if the girl students and their families complain, action will be taken against the concerned.

Complaint was lodged in the dignity box along with the girl students and only one woman constable was sent along with Sub Inspector Rambharose from Kudi Bhagatasani police station. The school administration repeatedly complained about the family coming forward, but the police did not listen. The family members were removed from there only after much protest. It is noteworthy that the girl students had collectively complained about molestation against the teacher in the dignity box of the school. The teacher was first given a charge sheet and suspended after the FIR.

The principal wrote a letter to the police commissioner. The principal wrote a letter to the police commissioner Rajendra Singh saying that Sub Inspector Ram Bharose threatened him and the school in-charge. Police violated the privacy of the girl students. The police did not adopt a cooperative attitude with the girl students. The principal also accused the police of having met the relatives of the accused teacher. The principal has also demanded to provide security to the girl students and the school administration.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT