25 रुपए के लिए चाय वाले ने दोस्त की कर दी हत्या, खोपड़ी के कर दिये टुकड़े-टुकड़े

 0
25 रुपए के लिए चाय वाले ने दोस्त की कर दी हत्या, खोपड़ी के कर दिये टुकड़े-टुकड़े

25 रुपए के लिए चाय वाले ने दोस्त की कर दी हत्या, खोपड़ी के कर दिये टुकड़े-टुकड़े

राजस्थान के कोटा जिले से बड़ी खबर सामने आई है। सिर्फ 25 रुपए की उधारी के लिए एक युवक ने अपने दोस्त को इतनी बुरी तरह से मारा की लाश की हालत देखकर पुलिस वालों तक के रोंगटे खड़े हो गए। जब पोस्टमार्टम कराया गया तो पता चला खोपड़ी के टुकड़े-टुकड़े कर दिए गए। घटना कोटा जिले के रेलवे कॉलोनी थाना इलाके की है।

45 साल के शख्स की हत्या
पुलिस ने बताया 45 साल के मजदूर मोहम्मद रमजान की हत्या कर दी गई। वह मूल रूप से बिहार का रहने वाला था। लेकिन कुछ सालों से कोटा जिले में रहकर मजदूरी करता था। उसकी जान पहचान रेलवे कॉलोनी के नजदीक रहने वाले पप्पू नाम के दूसरे मजदूर से थी।

25 रुपए का सामान उधार लिया
दोनों दोस्त थे। पप्पू दोपहर से शाम तक मजदूरी करता था और रात को कॉलोनी के बाहर चाय की थड़ी लगता था। वहां गुटका और सिगरेट भी बेचता था।‌ कुछ दिन पहले मोहम्मद रमजान पप्पू की दुकान पर आया था। उसने 45 रुपए का सामान लिया था लेकिन उसके पास देने के लिए सिर्फ 20 रुपए थे। उसने 25 रुपए बाद में देने की बात पर पप्पू ने मोहम्मद रमजान को सामान दे दिया था।


हत्या कर फरार हो गया पप्पू
3 दिन पहले रमजान फिर सामान लेने के लिए पप्पू की दुकान पर आया तो दोनों में पुराने हिसाब को लेकर झगड़ा हो गया।‌ झगड़े में पप्पू ने पास ही रखी डंडे से रमजान को इतना बड़ा मारा कि उसके सिर के टुकड़े-टुकड़े हो गए। अस्पताल में उसकी मौत हो गई। उसकी हत्या के बाद अब मुकदमा उसके परिवार वालों ने दर्ज कराया है, पप्पू फरार हो गया है।

For 25 rupees, a tea seller killed his friend, broke his skull into pieces

A big news has come from Kota district of Rajasthan. For a loan of just 25 rupees, a young man beat his friend so badly that even the policemen got goosebumps after seeing the condition of the dead body. When the post-mortem was done, it was found that the skull was broken into pieces. The incident is from Railway Colony police station area of ​​Kota district.

Murder of a 45-year-old man

Police said that 45-year-old laborer Mohammad Ramzan was murdered. He was originally from Bihar. But for some years, he was living in Kota district and working as a laborer. He was acquainted with another laborer named Pappu who lived near the Railway Colony.

Born goods worth 25 rupees

Both were friends. Pappu used to work as a laborer from afternoon to evening and at night he used to set up a tea stall outside the colony. He also used to sell gutka and cigarettes there. A few days ago, Mohammad Ramzan came to Pappu's shop. He had bought goods worth 45 rupees but he had only 20 rupees to pay. Pappu gave the goods to Mohammad Ramzan on the promise of paying 25 rupees later.

Pappu absconded after murder

Three days ago Ramzan came to Pappu's shop to buy goods again and both of them had a fight over old accounts. In the fight Pappu hit Ramzan so hard with a stick kept nearby that his head broke into pieces. He died in the hospital. After his murder, his family has filed a case, Pappu has absconded.