IAS अफसर से काम निकालने 22 साल की लड़की ने बनाएं शारीरिक संबंध, फिर लगाया केस

आईएएस अफसर बनने आई एक लड़की के साथ अफसर ने पहले दोस्ती की, इसके बाद उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। उसके बाद न जाने ऐसा क्या हुआ जो लड़की ने अफसर पर रेप केस कर दिया।

 0
IAS अफसर से काम निकालने 22 साल की लड़की ने बनाएं शारीरिक संबंध, फिर लगाया केस

IAS अफसर से काम निकालने 22 साल की लड़की ने बनाएं शारीरिक संबंध, फिर लगाया केस

राजस्थान की राजधानी जयपुर में आईएएस की तैयारी करने आई एक लड़की ने आईएएस अफसर पर बलात्कार का केस दर्ज करा दिया। ऐसे में अफसर को नौकरी चाकरी सब छोड़कर भागना पड़ा, काफी परेशान होकर जब उसने खुद सरेंडर कर दिया तो कोर्ट से भी वह बरी हो गया। क्योंकि वकील ने यह साबित कर दिया कि युवती को पहले से मालूम था कि वह शादीशुदा है। इसके बावजूद उसने निजी हितों के लिए संबंध बनाए थे।

ये है पूरा मामला
साल 2014 में राजधानी जयपुर के महेश नगर थाना इलाके में रहने वाली 22 साल की एक लड़की के साथ उस समय राजस्थान के अतिरिक्त मुख्य सचिव रहे आईएएस अफसर बीबी मोहंती ने संबध बनाए। लड़की दूसरे शहर से आईएएस की तैयारी करने के लिए आई थी और उसे आईएएस बनने के लिए टिप्स देने के नाम पर अफसर से दोस्ती हुई थी। अफसर ने टिप्स देने के नाम पर संबध बनाए और बाद में लड़की ने रेप केस कर दिया। महेश नगर पुलिस अरेस्ट करने पहुंची लेकिन इससे पहले ही अफसर फरार हो गया।

अफसर ने किया खुद सरेंडर
अफसर को निलंबित कर दिया गया, सभी पद छिन गए। पुलिस ने पूरे राजस्थान समेत आसपास के राज्यों में उसे तलाशा लेकिन वह नहीं मिला। उसके बाद साल 2017 में अफसर ने खुद सरेंडर कर दिया। कोर्ट में अफसर ने कहा कि उसके पास खाने तक के पैसे नहीं बचे हैं। कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया और बाद में उसे जमानत मिल गई।


कोर्ट ने किया आरोपी को बरी
इस मामले में अब नया मोड़ आया है। दस साल से चल रहे इस केस में अब कोर्ट ने मोहंती को सभी आरोपों से बरी कर दिया है। मोहंती के वकील भंवर सिंह चौहान ने कोर्ट में दलील दी कि जिस लड़की से रेप किया गया, वह बालिग थी। उसे पता था कि मोहंती शादीशुदा हैं। उसने अपने निजी हितों के लिए मोहंती से दोस्ती की और संबध बनाए। मोहंती के वकील की दलील पर अब कोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया है। लेकिन दस साल में उनका सब कुछ छीन गया है।

22 year old girl had physical relations with IAS officer to get work, then filed a case

In Jaipur, the capital of Rajasthan, a girl who had come to prepare for IAS filed a case of rape against an IAS officer. In such a situation, the officer had to leave his job and run away, after being very upset, he surrendered himself and was acquitted by the court. Because the lawyer proved that the girl already knew that he was married. Despite this, he had formed relationships for personal interests.

This is the whole matter
In the year 2014, IAS officer BB Mohanty, who was the Additional Chief Secretary of Rajasthan at that time, had a relationship with a 22-year-old girl living in Mahesh Nagar police station area of the capital Jaipur. The girl had come from another city to prepare for IAS and befriended the officer in the name of giving her tips to become an IAS. The officer established a relationship in the name of giving tips and later the girl filed a rape case. Mahesh Nagar police arrived to arrest but before that the officer absconded.

The officer surrendered himself
The officer was suspended, all posts were taken away. Police searched for him in entire Rajasthan and surrounding states but could not find him. After that in the year 2017, the officer himself surrendered. The officer said in the court that he did not even have money left for food. The court sent him to jail and later he got bail.


The court acquitted the accused
Now there is a new twist in this matter. In this case that has been going on for ten years, the court has now acquitted Mohanty of all charges. Mohanty's lawyer Bhanwar Singh Chauhan argued in the court that the girl who was raped was an adult. He knew that Mohanty was married. He befriended and developed relations with Mohanty for his personal interests. Now, on the argument of Mohanty's lawyer, the court has acquitted him. But in ten years everything has been taken away from them.