बीकानेर: लोन चुकाने के नाम पर ठगी का मामला सामने आया

बीकानेर में लोन चुकाने के नाम पर ठगी का मामला सामने आया। सफी खान ने सांवरमल पर 32 लाख रुपये लेकर संपत्ति और वाहन नहीं देने का आरोप लगाया। पुलिस जांच जारी।

 0
बीकानेर: लोन चुकाने के नाम पर ठगी का मामला सामने आया

बीकानेर: लोन चुकाने के नाम पर ठगी का मामला सामने आया

बीकानेर: शहर में लोन चुकाने के बहाने ठगी का एक नया मामला उजागर हुआ है। इस घटना ने शहरवासियों में काफी हलचल मचा दी है। भाटों का बास निवासी सफी खान पुत्र लाखे खान पडि़हार ने नया शहर थाने में शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें गंगाशहर निवासी सांवरमल पुत्र शिवलाल ब्राह्मण पर ठगी का आरोप लगाया गया है।

ठगी का मामला
परिवादी सफी खान का आरोप है कि सांवरमल ब्राह्मण और उसके बीच 32 लाख रुपए का सौदा हुआ था। सौदे के अनुसार, सांवरमल ने सफी खान से कहा था कि वह लोन की राशि जमा करवाने के बाद एक प्लॉट और एक वाहन सफी खान के नाम कर देगा। इस आश्वासन के आधार पर, सफी खान ने अलग-अलग किस्तों में कुल 32 लाख रुपए सांवरमल को दे दिए। 

 लोन की अदायगी
सांवरमल ने लोन की राशि जमा कर दी, लेकिन प्लॉट और वाहन को सफी खान के नाम पर ट्रांसफर करने से टालमटोल करने लगा। सफी खान का आरोप है कि 7 जून को सांवरमल ने साफ-साफ इनकार कर दिया कि वह प्लॉट और वाहन सफी के नाम पर ट्रांसफर नहीं करेगा और न ही दिए गए पैसे लौटाएगा।

पुलिस में शिकायत
ठगी का पता चलने पर सफी खान ने नया शहर थाने में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

कानूनी कार्रवाई
पुलिस अब मामले की तहकीकात कर रही है और आरोपी से पूछताछ की जा रही है। प्रारंभिक जांच में पुलिस ने पुष्टि की है कि सांवरमल ने लोन की राशि जमा करने के बाद भी संपत्ति और वाहन सफी खान के नाम पर ट्रांसफर नहीं किए।

मामले का सार
मामले की घटना: लोन चुकाने के नाम पर ठगी।
परिवादी: सफी खान, निवासी भाटों का बास।
आरोपी:सांवरमल पुत्र शिवलाल ब्राह्मण, निवासी गंगाशहर।
राशि: 32 लाख रुपए।
घटना का विवरण: सांवरमल ने लोन की राशि जमा करने के बाद प्लॉट और वाहन सफी खान के नाम पर ट्रांसफर करने का वादा किया था, जो बाद में उसने पूरा नहीं किया और रुपए भी नहीं लौटाए।
कानूनी कार्रवाई: नया शहर थाने में मामला दर्ज, पुलिस जांच जारी।

जनता के लिए चेतावनी
इस मामले ने शहरवासियों के बीच चिंता बढ़ा दी है और यह एक चेतावनी है कि आर्थिक लेन-देन में सतर्कता बरती जाए। विशेषकर, किसी भी संपत्ति या वाहन के सौदे में कानूनी दस्तावेज़ों की पुष्टि और जांच के बाद ही धनराशि का लेन-देन किया जाए। 

पुलिस इस मामले में सक्रिय रूप से जांच कर रही है और उम्मीद है कि जल्द ही न्याय मिलेगा और दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Bikaner: A case of fraud in the name of loan repayment came to light

Bikaner: A new case of fraud has come to light in the city on the pretext of loan repayment. This incident has created a lot of stir among the city residents. Safi Khan, son of Lakhe Khan Padihar, resident of Bhaton Ka Bas, has lodged a complaint in Naya Shahar police station, in which Sanwarmal son of Shivlal Brahmin, resident of Gangashahar, has been accused of fraud.

Case of fraud
The complainant Safi Khan alleges that a deal of Rs 32 lakh was struck between Sanwarmal Brahmin and him. According to the deal, Sanwarmal had told Safi Khan that he would transfer a plot and a vehicle in the name of Safi Khan after depositing the loan amount. Based on this assurance, Safi Khan gave a total of Rs 32 lakh to Sanwarmal in different installments.

Loan repayment
Sanwarmal deposited the loan amount, but started procrastinating in transferring the plot and vehicle in the name of Safi Khan. Safi Khan alleges that on June 7, Sanwarmal flatly refused that he would not transfer the plot and vehicle in Safi's name nor return the money given.

Complaint to the police
On coming to know about the fraud, Safi Khan lodged a complaint at Naya Shahar police station. The police have registered a case and started investigation.

Legal action
The police is now investigating the matter and the accused is being questioned. In the preliminary investigation, the police have confirmed that Sanwarmal did not transfer the property and vehicle in the name of Safi Khan even after depositing the loan amount.

Summary of the case
Incident of the case: Fraud in the name of repaying the loan.
Complainant: Safi Khan, resident of Bhaton Ka Bas.
Accused: Sanwarmal son Shivlal Brahmin, resident of Gangashahar.
Amount: Rs 32 lakh.
Details of the incident: Sanwarmal had promised to transfer the plot and vehicle in the name of Safi Khan after depositing the loan amount, which he later did not fulfill and did not return the money either.
Legal action: Case registered at Naya Shahar police station, police investigation underway.

Warning to the public
This case has raised concerns among the city residents and is a warning to be cautious in financial transactions. Especially, in any property or vehicle deal, money should be transacted only after verifying and checking the legal documents.

The police are actively investigating the case and it is hoped that justice will be delivered soon and strict action will be taken against the culprits.