एक कॉल आया और हैवान बन गया पति: मुंह में कपड़ा ठूंसकर पत्नी से की दरिंदगी, फिर मार डाला

 0
एक कॉल आया और हैवान बन गया पति: मुंह में कपड़ा ठूंसकर पत्नी से की दरिंदगी, फिर मार डाला

एक कॉल आया और हैवान बन गया पति: मुंह में कपड़ा ठूंसकर पत्नी से की दरिंदगी, फिर मार डाला

घटना दिल दहला देगी....। कैसे कोई व्यक्ति इतना हैवान हो सकता है। जरा से शक पर अपनी ही पत्नी को इस कदर पीटा कि दोनो बच्चों के सिर से मां का साया ही उठ गया। देर रात पुलिस ने पति को अरेस्ट कर लिया है। उसका साथ देने वाले देवर को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। पाली जिले के ट्रांसपोर्ट नगर थाना इलाके में स्थित सुदंर विहार कॉलोनी का यह पूरा मामला है।

पत्नी को अस्पताल पहुंचाकर हो गया फरार
दरअसल दो दिन पहले दिलीप नाम का एक युवक सरकारी अस्पताल पहुंचा और वहां अपनी पत्नी जसोदा को भर्ती कराया। डॉक्टर्स को कहा कि एक्सीडेंट हो गया। डॉक्टर्स कोई और पूछताछ करते इससे पहले चैक किया तो पता चला कि जसोदा की मौत हो चुकी है। उसके बाद दिलीप फरार हो गया। अस्पताल से पुलिस के पास फोन गया। पुलिस ने जसोदा के माता - पिता को कॉल किया।

रील बनाने के शौक में बीवी को मार डाला
कल दिलीप को पकड़ा को पता चला कि सिर्फ शक के चलते उसने हत्या कर दी। वह स्टील रेलिंग बनाने का काम करता था। रील बनाने का भी शौक रखता था। पत्नी के साथ घूमने फिरने और मंदिर जाने की कई रील उसने बनाई थी। सोमवार को पत्नी की हत्या करने से दो दिन पहले भी स्थानीय मंदिर में पत्नी के साथ रील बनाई थी।

वजह बने वो 30 हजार रुपए
सोमवार को वह खुद किसी मंदिर गया था। वहां उसके पिता का उसे कॉल आया और पिता ने कहा कि घर में रखे तीस हजार रूपए गायब हैं, बहू जसोदा पर शक है। दिलीप आग बबूला होते हुए घर आया। उसने किचन में काम कर रही जसोदा को खींचा और कमरे में ले गया। वहां जाकर उसके मुंह में कपड़ा ठूंसा, हाथ और पैर बांधे। उसके बाद चार घंटे तक डंडों से पीटता रहा। पास वाले कमरे में ही तीन साल की बेटी और सात साल का बेटा सो रहा था। बाद में जसोदा को चुपचाप अस्पताल में भर्ती कराकर वह फरार हो गया। अब पुलिस ने पति और देवर को अरेस्ट कर लिया। देवर ने सबूत मिटाने में भाई की मदद की थी।

A call came and the husband became a beast: He brutalized his wife by stuffing a cloth in her mouth, then killed her.

The incident will shock your heart... How can a person be so cruel? On the slightest suspicion, he beat his own wife to such an extent that the shadow of their mother was lost to both the children. Late night the police arrested the husband. The brother-in-law who was accompanying him has also been arrested. This is the entire matter of Sundar Vihar Colony located in Transport Nagar police station area of Pali district.

Absconded after taking his wife to the hospital
Actually, two days ago a young man named Dilip reached the government hospital and admitted his wife Jashoda there. Told the doctors that an accident had happened. Before the doctors could do any further investigation, they checked and found out that Jashoda had died. After that Dilip absconded. A call went from the hospital to the police. The police called Jashoda's parents.

Killed his wife because of his hobby of making reels.
Dilip was caught yesterday and found out that he committed the murder just out of suspicion. He used to work in making steel railings. He was also fond of making reels. He had made many reels of traveling with his wife and going to the temple. Two days before he murdered his wife on Monday, he had made a reel with his wife in a local temple.

Those 30 thousand rupees became the reason
On Monday he himself went to a temple. There he got a call from his father and the father said that thirty thousand rupees kept in the house were missing, there was suspicion on daughter-in-law Jasoda. Dilip came home furious. He pulled Jashoda, who was working in the kitchen, and took her into the room. Going there, they stuffed a cloth in his mouth and tied his hands and feet. After that he kept beating with sticks for four hours. A three year old daughter and seven year old son were sleeping in the adjacent room. Later, he quietly admitted Jashoda to the hospital and ran away. Now the police arrested the husband and brother-in-law. Brother-in-law had helped brother in destroying evidence.