बेरोजगार आदमी ने घर में ही लगा ली नोट छापने की मशीन, किया ऐसा खेल की पुलिस भी रह गई हक्का-बक्का

 0
बेरोजगार आदमी ने घर में ही लगा ली नोट छापने की मशीन, किया ऐसा खेल की पुलिस भी रह गई हक्का-बक्का

बेरोजगार आदमी ने घर में ही लगा ली नोट छापने की मशीन, किया ऐसा खेल की पुलिस भी रह गई हक्का-बक्का

राजस्थान के जोधपुर जिले में सिलेंडर डिलिवरी का काम करने वाले एक शख्स ने घर में ही नोट छापने की मशीन लगा ली। दो सौ और पांच सौ के इतने नोट छाप दिए कि खुद को भी पता नहीं, नोट छापकर चला भी दिए। अचानक पैसे वाला बना तो इंटेलिजेंस विंग तक इसकी सूचना पहुंच गई। लोकल पुलिस भी नजर रखने लगी। दोनों टीमों की जांच के बाद पता चला कि सिलेंडर डिलीवरी करने वाले ने घर में ही नोट छापने की मशीन लगा ली। उसके पास से पौने तीन लाख रुपए से भी ज्यादा के नकली नोट बरामद किए गए हैं। ये दो सौ और पांच सौ रुपए के नोट हैं। इसके अलावा पहले ही काफी संख्या में नोट चलाए जा चुके हैं।

मामले की जांच कर रही जोधपुर ग्रामीण के औसिंया थाना पुलिस ने बताया कि बाबूराम विश्नोई को अरेस्ट किया गया है। वह बागड़वा की ढाणी महादेव नगर का रहने वाला है। कुछ महीने पहले तक वह महाराष्ट्र में सिलेंडर डिलेवरी करने का काम करता था। लेकिन कुछ दिन पहले ही वापस गांव आ गया था और बेरोजगार था। उसने इंदौर से विशेष प्रिंटर, कागज की कटिंग, कलर और विशेष तरह के केमिकल खरीदें और उनसे नोट छापने लगा। यूट्यूब से नोट छापने के तरीके लगातार सर्च करता रहा और नोट छापता रहा।

जोधपुर पुलिस ने जानकारी जुटाने के बाद की कार्रवाई
शुरुआत में नोट हूबहू नहीं निकले, लेकिन वह लगातार उसे दुरुस्त करता चला गया। आखिर पांच सौ और दो सौ के हूबहू नोट छापने के बाद उसने इन्हें बाजारों में चलाना शुरू किया। उसने कई नोट बाजार में चला भी दिए। लोकल पुलिस को किसी ने सूचना दी कि गांव में रहने वाला बेरोजगार अचानक पैसे वाला बनता जा रहा है। पुलिस ने इंटेलिजेंस को इसकी जानकारी दी और बाद में उसके बारे में जानकारी जुटाई जाती रही। आखिर अब विश्नोई को अरेस्ट कर लिया गया। जब उसे पकड़ा गया तब भी वह नोट ही छाप रहा था। उसके पास से पौने तीन लाख से ज्यादा नकली कैश मिला है। यह पैसा एक दम असली पैसे जैसा है।

Unemployed man installed a note printing machine at home, did such a trick that even the police were stunned

In Jodhpur district of Rajasthan, a person who used to do cylinder delivery work installed a note printing machine at home. He printed so many notes of two hundred and five hundred that he himself did not know, he printed and circulated the notes. When he suddenly became rich, the intelligence wing was informed about it. Local police also started keeping an eye. After investigation by both the teams, it was found that the cylinder delivery person installed a note printing machine at home. Fake notes worth more than three and a quarter lakh rupees have been recovered from him. These are notes of two hundred and five hundred rupees. Apart from this, a large number of notes have already been circulated.

Ausiya police station of Jodhpur rural, which is investigating the case, said that Baburam Vishnoi has been arrested. He is a resident of Dhani Mahadev Nagar of Bagdawa. Till a few months ago, he used to work as a cylinder delivery person in Maharashtra. But a few days ago he had come back to the village and was unemployed. He bought special printer, paper cuttings, colour and special chemicals from Indore and started printing notes with them. He kept searching the methods of printing notes on YouTube and kept printing notes.

Jodhpur police took action after gathering information

Initially the notes were not exactly the same, but he kept correcting them. Finally, after printing exact notes of five hundred and two hundred, he started circulating them in the market. He also circulated many notes in the market. Someone informed the local police that an unemployed person living in the village was suddenly becoming rich. The police informed the intelligence about this and later information about him was gathered. Finally, Vishnoi was arrested. When he was caught, he was still printing notes. More than three and a quarter lakh fake cash was found from him. This money looks exactly like real money.