बदमाशों का पुलिस ने बाजार में निकाला जुलूस:व्यापारियों से माफी मंगवाई; मर्डर करने वालों को भी गांव में घुमाया

 0
बदमाशों का पुलिस ने बाजार में निकाला जुलूस:व्यापारियों से माफी मंगवाई; मर्डर करने वालों को भी गांव में घुमाया

बदमाशों का पुलिस ने बाजार में निकाला जुलूस:व्यापारियों से माफी मंगवाई; मर्डर करने वालों को भी गांव में घुमाया

झुंझुनूं में पुलिस ने मंगलवार को 10 बदमाशों का बीच बाजार में जुलूस निकाला। इनमें 4 बदमाश व्यापारियों से 50 लाख की फिरौती मांगने वाले थे, वहीं 6 बदमाशों ने एक युवक की लाठियों से पीट-पीटकर हत्या कर दी थी।

50 लाख की फिरौती मांगी थी, 4 बदमाशों से माफी मंगवाई
झुंझुनूं जिले के गुढ़ा कस्बे के भोड़की चौराहे पर कुछ बदमाशों ने किराना व्यापारी पर फायरिंग कर 50 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। डीएसपी मनोज गुप्ता ने बताया- पुलिस ने चार आरोपियों रवि, देवेंद्र, संजय और मोहित को सोमवार की शाम गिरफ्तार किया गया था।

मंगलवार को कोर्ट में पेशी पर ले जाने से पहले बदमाशों को बाजार में घुमाया गया। इस दौरान थाने से लेकर गुढ़ा बस स्टैंड के बाजार में करीब 20 मिनट तक बदमाशों को हाथ जोड़कर पैदल घूमे। उनके पैर में पट्‌टी बंधी हुर्ह थी और वे व्यापारियों से माफी मांग रहे थे।

गौरतलब है कि इन बदमाशों ने ने पुराने मामले में समझौता करने का दबाव बनाते हुए फायरिंग के बाद पचास लाख रुपए की फिरौती मांगी थी और फिरौती नहीं देने पर अंजाम भुगतने की चेतावनी दी थी।

पर्ची में लिखा था- भाईचारा जिंदाबाद
व्यापारी को थमाई गई पर्ची में लिखा था- मैं कपिल शूटर 50 लाख रुपए और मेरे दो भाइयों का राजीनामा आप समय के साथ कर दीजिए। नहीं तो आपको इस दुनिया से विदाई लेनी पड़ेगी। आपके परिवार को दुख के दिन देखने पड़ेंगे। संजू भार्गव, गुजरवास, जय भगतसिंह ग्रुप, भाईचारा जिंदाबाद।

इधर, सूरजगढ़ में हत्या करने वाले 6 आरोपियों को बाजार और गलियों में घुमाया
इसी तरह सूरजगढ़ के बलोदा में गोशाला में काम करने वाले कर्मचारी की हत्या करने वाले 6 बदमाशों को भी पुलिस ने बाजार और गांव की गलियों में घुमाया। पुलिस ने हत्याकांड के 48 घंटे में 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था।

एसपी राजर्षि वर्मा ने बताया- पुलिस ने 16 मई को आरोपियों दीपेंद्र उर्फ चिंटू, प्रवीण कुमार उर्फ पीके, सुभाष उर्फ चिंटू, सतीश उर्फ सुख निवासी बलोदा, प्रवीण उर्फ बाबा निवासी उरीका थाना सूरजगढ़ को गिरफ्तार कर लिया गया। चार आरोपियों के खिलाफ पहले से मारपीट, आर्म्स एक्ट के कई मामले दर्ज हैं। दीपेंद्र उर्फ चिंटू सूरजगढ़ थाने का हिस्ट्रीशीटर है।

इन 6 आरोपियाें को पुलिस थाने से गांव लेकर पहुंची। यहां बाजार से लेकर गांव की गलियों में इन्हें पैदल घुमाया और लोगों से माफी भी मंगवाई।

सूरजगढ़ थाना इंचार्ज सुखदेव सिंह ने बताया- 14 मई की सुबह गोशाला से लौटकर रामेश्वर एक सवामणी के कार्यक्रम में जाने के लिए सुबह 11 बजे घर से निकला था। निकलते ही बदमाश कैंपर कार में उसे किडनैप कर एक हवेली में ले गए।

वहां उसे बांधकर 6 घंटे तक उसके पैरों और शरीर पर जगह-जगह डंडे बरसाए। जमकर मारपीट की। वीडियो बनाया। दो आरोपियों ने उसके हाथ और पैर पकड़े और और तीसरे ने जमकर लाठियां बरसाईं। उसे कभी लिटाकर तो कभी लटकाकर पीटा गया। बुरी तरह पिटाई के बाद रामेश्वर अचेत हो गया। टॉर्चर को वह सह नहीं पाया और उसने दम तोड़ दिया। शाम 7 बजे आरोपी उसकी डेडबॉडी उसके घर के पास फेंककर फरार हो गए।

Police took out a procession of miscreants in the market: apologized to the traders; Those who committed murder were also taken around the village.

In Jhunjhunu, the police took out a procession of 10 miscreants in the market on Tuesday. Of these, 4 miscreants were demanding ransom of Rs 50 lakh from businessmen, while 6 miscreants had beaten a young man to death with sticks.

Had demanded ransom of Rs 50 lakh, apologized to 4 criminals
Some miscreants opened fire on a grocery trader at Bhodki intersection in Gudha town of Jhunjhunu district and demanded a ransom of Rs 50 lakh. DSP Manoj Gupta said- Police arrested four accused Ravi, Devendra, Sanjay and Mohit on Monday evening.

Before being taken to court on Tuesday, the miscreants were taken for a ride in the market. During this, the miscreants roamed on foot with folded hands for about 20 minutes from the police station to the market of Gudha bus stand. He had a bandage tied on his leg and was apologizing to the traders.

It is noteworthy that these miscreants, while pressurizing them to compromise in the old case, had demanded a ransom of Rs 50 lakh after the firing and had warned of dire consequences if the ransom was not paid.

It was written in the slip – Long live brotherhood
In the slip handed over to the businessman, it was written - I, Kapil Shooter, give the resignation of Rs 50 lakh and my two brothers within time. Otherwise you will have to bid farewell to this world. Your family will have to see sad days. Sanju Bhargava, Gujarwas, Jai Bhagat Singh Group, Bhaichara Zindabad.

Here, 6 accused of murder in Surajgarh were paraded in the market and streets.
Similarly, in Baloda, Surajgarh, six miscreants who murdered an employee working in a cow shed were also taken to the market and village streets by the police. The police had arrested 6 accused within 48 hours of the murder.

SP Rajarshi Verma said - On May 16, the police arrested the accused Deependra alias Chintu, Praveen Kumar alias PK, Subhash alias Chintu, Satish alias Sukh resident of Baloda, Praveen alias Baba resident of Urika police station Surajgarh. Several cases of assault and Arms Act are already registered against the four accused. Deependra alias Chintu is a history-sheeter of Surajgarh police station.

These six accused were taken to the village from the police station. Here he was taken on foot from the market to the streets of the village and also apologized to the people.

Surajgarh police station incharge Sukhdev Singh said - After returning from the cowshed on the morning of 14th May, Rameshwar left home at 11 am to attend a Swamani program. As soon as she left, the miscreants kidnapped her in a camper car and took her to a mansion.

There he was tied and beaten with sticks at various places on his legs and body for 6 hours. Beaten fiercely. Made a video. Two of the accused caught hold of his hands and legs and the third one beat him fiercely. Sometimes he was beaten by making him lie down and sometimes by hanging him. Rameshwar became unconscious after being badly beaten. He could not bear the torture and died. At 7 pm, the accused threw her dead body near her house and fled.