50 सवारी से भरी बस को चला रहे ड्राइवर हो गया बेहोश, उसके बाद जो हुआ वो फिल्म में देखा होगा

 0
50 सवारी से भरी बस को चला रहे ड्राइवर हो गया बेहोश, उसके बाद जो हुआ वो फिल्म में देखा होगा
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

50 सवारी से भरी बस को चला रहे ड्राइवर हो गया बेहोश, उसके बाद जो हुआ वो फिल्म में देखा होगा

राजस्थान की राजधानी जयपुर में चलती बस में ड्राइवर का बैलेंस खराब हुआ और वह बेहोश होकर स्टीयरिंग पर ही गिर गया । बस में उस समय 50 से ज्यादा सवारियां मौजूद थी और बस भीड़ भरे इलाके से होकर गुजर रही थी। सवारियां चीखने चिल्लाने लगी, लेकिन इसी दौरान एक सवारी ने हिम्मत दिखाई और बस का स्टेरिंग थाम लिया । जैसे तैसे बस को काबू किया और तेजी से ब्रेक लगाए । गनी मत रही बस में बैठी सवारी और बाहर मौजूद लोगों में से किसी को कोई चोट नहीं आई। बाद में ड्राइवर को अस्पताल में भर्ती कराया गया । घटना राजधानी जयपुर के कालवाड़ क्षेत्र की है।

युसूफ खान को अचानक पड़ा दौरा और बेहोश हो गया
स्थानीय लोगों ने बताया कि कालवाड़ से होती हुई एक निजी बस गुजर रही थी । यह स्टेट हाईवे था और यहां अक्सर भीड़ रहती है । इस हाइवे पर गाड़ी चलाते समय बस के चालक युसूफ खान को अचानक एक दौरा पड़ा और वह बेहोश हो गया। यह बस जयपुर से होती हुई जयपुर ग्रामीण क्षेत्र में स्थित दाता रामगढ़ कस्बे में जा रही थी।

पास बैठे शख्स ने स्टीयरिंग संभाला और तेजी से ब्रेक लगाए
बस में जयपुर ग्रामीण क्षेत्र के रेनवाल इलाके में रहने वाला धर्मेंद्र नाम का एक युवक भी सवार था। वह ड्राइवर के केबिन में बैठा हुआ था और ड्राइवर से बात भी कर रहा था। लेकिन जब बस ने स्पीड पकड़ी और बस एक बस्ती से होकर गुजरने लगी तो बस का ड्राइवर युसूफ खान बेहोश हो गया। धर्मेंद्र ने तुरंत स्टीयरिंग संभाला और तेजी से ब्रेक लगाए । इस दौरान कुछ सवारियां बेकाबू होकर बस के फर्श पर ही गिर पड़ी, लेकिन गनीमत रही किसी को गंभीर चोट नहीं आई । उसके बाद सवारी ने मिलकर बस ड्राइवर को अस्पताल में भर्ती कराया , समय रहते अस्पताल में भर्ती होने पर बस ड्राइवर की जान बच गई।

The driver driving the bus carrying 50 passengers became unconscious, what happened after that must have been seen in the movie.

In Jaipur, the capital of Rajasthan, the driver lost his balance in a moving bus and fell unconscious on the steering wheel. There were more than 50 passengers present in the bus at that time and the bus was passing through a crowded area. The passengers started screaming, but during this time one passenger showed courage and held the steering wheel of the bus. Somehow he controlled the bus and applied brakes quickly. Ghani Mata remained seated in the bus and none of the people outside were injured. The driver was later admitted to the hospital. The incident took place in Kalwad area of the capital Jaipur.

Yusuf Khan suddenly had a seizure and became unconscious
Local people told that a private bus was passing through Kalwad. This was a state highway and is often crowded. While driving on this highway, bus driver Yusuf Khan suddenly suffered a seizure and became unconscious. This bus was going through Jaipur to Data Ramgarh town situated in Jaipur rural area.

The person sitting nearby took over the steering and applied the brakes quickly.
A young man named Dharmendra, living in Renwal area of Jaipur rural area, was also traveling in the bus. He was sitting in the driver's cabin and was also talking to the driver. But when the bus picked up speed and started passing through a settlement, the bus driver Yusuf Khan became unconscious. Dharmendra immediately took over the steering and applied brakes quickly. During this, some passengers lost control and fell on the floor of the bus, but fortunately no one got seriously injured. After that the passengers together got the bus driver admitted to the hospital, the bus driver's life was saved when he was admitted to the hospital in time.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT