हे भगवान ऐसी बीवी, सगे भाई से करवा दिये पति के टुकड़े, साले के भी नहीं कांपे हाथ

 0
हे भगवान ऐसी बीवी, सगे भाई से करवा दिये पति के टुकड़े, साले के भी नहीं कांपे हाथ

हे भगवान ऐसी बीवी, सगे भाई से करवा दिये पति के टुकड़े, साले के भी नहीं कांपे हाथ

राजस्थान के कोटा में एक पत्नी ने महज चंद रुपए नौकरी के लिए अपने ही पति को मरवा दिया। पत्नी ने अपने पति को खत्म करवाने की सुपारी भी किसी और को नहीं बल्कि खुद अपने भाई को दी। हैरानी की बात तो यह है कि साले की आंख पर भी पट्टी बंधी थी, उसने अपनी बहन को समझाने की जगह जीजा को ही मौत के घाट उतार दिया।

हत्या की मास्टर माइंड निकली पत्नी
खबर राजस्थान के कोटा जिले से है। कोटा में रेलवे कॉलोनी थाना इलाके में रहने वाले रेलवे कर्मचारी शंभूलाल की हत्या के मामले में पुलिस ने खुलासा किया है। पुलिस ने उसकी पत्नी, उसके भाई समेत पांच लोग गिरफ्तार किए हैं। जिनमें एक बाल अपचारिक भी शामिल है। बाल अपचारी को बाल सुधार गृह भेजा गया है। बाकी अन्य चारों को रीमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है।

क्वार्टर में घुसकर की हत्या
दरअसल बुधवार रात रेलवे वर्कशॉप में काम करने वाले शंभू लाल के क्वार्टर में घुसकर उसकी हत्या कर दी गई थी। रात 2.30 बजे हत्यारे उसके कमरे में घुसे और उसका गला काट दिया। शंभू लाल अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ सोया हुआ था। उसने पत्नी को जगाने की कोशिश भी की लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।

एसपी ने किया अंधे राज का खुलासा
इस पूरे घटनाक्रम में एसपी अमृता दुहान ने बताया कि शंभू लाल की पत्नी मंजू पूछताछ के टारगेट पर थी। उससे सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने अपने भाई मनीष का नाम दिया। मनीष को पकड़ा तो मनीष ने अपने साथियों रामकेश, मोनू , फरदीन का नाम लिया। पुलिस ने चारों को गिरफ्तार किया तब जाकर एक 16 साल का बाल अपचारी भी पकड़ में आया।

आर्थिक तंगी से जूझ रहा था परिवार
मंजू से पूछताछ में सामने आया कि शंभू लाल पर कुछ लोन बकाया था। इस लोन के कारण परिवार आर्थिक तंगी का शिकार हो रहा था ‌ ऐसे में मंजू ने अपने पति को ही रास्ते से हटाकर और उसकी अनुकंपा नौकरी पाने के लालच में अपने भाई को 5 लाख रुपए की सुपारी दी। भाई ने अपने ही जीजा को मार दिया। उसका साथ देने वाले उसके साथियों को भी इसमें से पैसा बांटा गया। इस हत्याकांड का खुलासा होने के बाद अब हर कोई हैरान है।

Oh God, such a wife, got her husband cut into pieces by her own brother, even the brother-in-law's hands did not tremble

In Kota, Rajasthan, a wife got her own husband killed for just a few rupees for a job. The wife gave the contract to kill her husband to no one else but her own brother. The surprising thing is that the brother-in-law's eyes were also blindfolded, instead of convincing his sister, he killed his brother-in-law.

The wife turned out to be the mastermind of the murder

The news is from Kota district of Rajasthan. Police has revealed the case of murder of railway employee Shambhulal, who lived in Railway Colony police station area in Kota. Police has arrested five people including his wife, his brother. Which also includes a juvenile delinquent. The juvenile delinquent has been sent to the juvenile reform home. The other four are being interrogated on remand.

Murdered by entering the quarter
Actually, on Wednesday night, Shambhu Lal, who worked in the railway workshop, was murdered by entering his quarter. At 2.30 am, the killers entered his room and slit his throat. Shambhu Lal was sleeping with his wife and two children. He tried to wake his wife up but she had died by then.

SP revealed the blind secret

In this entire incident, SP Amrita Duhan said that Shambhu Lal's wife Manju was on the target of interrogation. When she was interrogated strictly, she named her brother Manish. When Manish was caught, he named his associates Ramkesh, Monu, Fardeen. The police arrested all four and then a 16-year-old juvenile offender was also caught.

The family was struggling with financial crisis

In the interrogation of Manju, it came to light that Shambhu Lal had some loan outstanding. Due to this loan, the family was suffering from financial crisis. In such a situation, Manju, in the greed of getting her husband out of the way and getting a compassionate job, gave a contract of Rs 5 lakh to her brother. The brother killed his own brother-in-law. The money was also distributed among his companions who supported him. Now everyone is shocked after the disclosure of this murder.