आंखों से देख नहीं सकते, लेकिन हजारों लोगों की बना दी जिंदगी, जानिये क्या है मामला...

 0
आंखों से देख नहीं सकते, लेकिन हजारों लोगों की बना दी जिंदगी, जानिये क्या है मामला...

आंखों से देख नहीं सकते, लेकिन हजारों लोगों की बना दी जिंदगी, जानिये क्या है मामला...

ये बात सुनकर आपको भी हैरानी होगी कि जो व्यक्ति खुद आंखों से नहीं देख सकता है। उसने कई लोगों की जिदंगी बना दी है। दरअसल वर्तमान में शिक्षा विभाग में 1172 दृष्टिहीन टीचर है। इनमें 140 टीचर तो ऐसे हैं जो लगातार 5 साल से 100% रिजल्ट दे रहे हैं।

जयपुर के धर्मेंद्र पारीक
सबसे पहले बात धर्मेंद्र पारीक की जो जयपुर के जमवारामगढ़ स्थित नटाटा सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पॉलीटिकल साइंस के लेक्चर है। इनका पढ़ाया हुआ एक भी स्टूडेंट 2017 से फेल नहीं हुआ। इसी तरह डीडवाना कुचामन में बवाल क्षेत्र में स्थित सीनियर सेकेंडरी स्कूल के टीचर संदीप त्रिवेदी इंग्लिश पढ़ते हैं। यह स्टूडेंट को पूरा बेसिक क्लियर करवाते हैं।

100 प्रतिशत रिजल्ट दे रहे
देवीकुंड सागर में हिंदी के प्रोफेसर जैसाराम मूंड कई साल से लगातार 100% परिणाम दे रहे हैं। इनका मानना है कि स्टूडेंट को आगे की पढ़ाई तभी करवाई जाए जब उसका पीछे का सब कुछ क्लियर हो। पाली के धीतरिया क्षेत्र में स्थित सरकारी स्कूल के हरदेव चौधरी बचपन से दृष्टिहीन है। लेकिन हिंदी की पढ़ाई पिछले कई सालों से करवा रहे हैं। इनके पढ़ाई बच्चे कभी फेल नहीं होते।

वाइस प्रिंसिपल तक बनें स्टूडेंट
यह टीचर केवल टीचर के पद पर ही नहीं बल्कि प्रमोशन होने के बाद प्रिंसिपल और वाइस प्रिंसिपल के पदों तक भी पहुंचते हैं। दृष्टिहीन टीचर्स ने व्हाट्सएप ग्रुप भी बनाए हुए हैं। इस पर वॉइस नोट के जरिए स्टूडेंट कोई भी चीज पूछ सकते हैं और वॉइस नोट के जरिए ही टीचर उसका जवाब दे देते हैं। वही इस मामले में प्रदेश के शिक्षा मंत्री मदन दिलावर का कहना है कि दिव्यांग शिक्षकों के द्वारा दिया जा रहा रिजल्ट काफी प्रशंसनीय है। इन्हें सम्मानित किया जाएगा।

Can't see with eyes, but has made the lives of thousands of people, know what is the matter...

You will also be surprised to hear that the person who cannot see with his eyes himself. He has made the lives of many people. Actually, currently there are 1172 blind teachers in the education department. Among these, 140 teachers are such who are giving 100% result continuously for 5 years.

Dharmendra Pareek of Jaipur

First of all, let's talk about Dharmendra Pareek who is a lecturer of Political Science in Natata Senior Secondary School located in Jamwaramgarh, Jaipur. Not a single student taught by him has failed since 2017. Similarly, Sandeep Trivedi, a teacher of Senior Secondary School located in Bawal area in Didwana Kuchaman, teaches English. He makes the student clear the entire basic.

Giving 100 percent result
Jaisaram Mund, a Hindi professor in Devikund Sagar, has been giving 100% result continuously for many years. He believes that the student should be given further studies only when everything behind him is clear. Hardev Chaudhary of a government school located in Dhitriya area of ​​Pali is blind since childhood. But he has been teaching Hindi for the last several years. His students never fail.

Students become vice principals

These teachers not only reach the post of teachers but also reach the posts of principal and vice principal after promotion. Blind teachers have also created WhatsApp groups. On this, students can ask anything through voice notes and the teachers answer them through voice notes. In this matter, the state's Education Minister Madan Dilawar says that the results given by disabled teachers are very commendable. They will be honored.