घर के बाहर बैठे दो भाइयों को ऐसी मौत आई किसी को यकीन नहीं हुआ, एक चिता पर दोनों

 0
घर के बाहर बैठे दो भाइयों को ऐसी मौत आई किसी को यकीन नहीं हुआ, एक चिता पर दोनों

घर के बाहर बैठे दो भाइयों को ऐसी मौत आई किसी को यकीन नहीं हुआ, एक चिता पर दोनों

राजधानी जयपुर के चौमू थाना इलाके से बड़ी खबर सामने आ रही है। इस घटना की बारे में जिसे भी पता चला वह हैरान रह गया । पुलिस अफसर तक दंग रह गए। मौत का यह तरीका बिल्कुल यकीन करने योग्य नहीं था । जिन दो लड़कों की मौत हुई है, उनके नाम दीपक और सूरज है । दीपक की उम्र 20 साल है और सूरज 12 साल का है । दोनों दूर के रिश्ते में भाई लगते हैं।

ट्रक ने दोनों भाइयों को रौंद डाला
चौमू थाना पुलिस ने बताया कि नेशनल हाईवे से गुजरने के दौरान कल देर रात एक ट्रक के पिछले दो टायर निकल गए । ट्रक हाईवे पर पलटते पलटते बचा। लेकिन दोनों टायर सर्विस लेन में चले गए और वहां अपने घर के बाहर बैठे दो भाइयों को रौंद दिया । दरअसल टायरों ने तीन लोगों को कुचला था , जिन में से एक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दोनों भाइयों का अंतिम संस्कार एक साथ
दीपक चौमू इलाके में ही एक फैक्ट्री में मजदूरी करता था। कुछ समय पहले उसके पिता की मौत हो गई थी । उसकी मां भी 2 साल से वही मजदूरी कर रही है । लेकिन अब बेटे की भी जान चली गई । वही सूरज की मौत के बाद उसके घर में कोहरा मचा हुआ है । आज दोपहर में दोनों भाइयों का अंतिम संस्कार एक साथ किया गया है । पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है ।

यह खबर भी पढ़ें:-

Two brothers sitting outside the house died in such a way that no one could believe, both on one funeral pyre.

Big news is coming out from Chaumu police station area of the capital Jaipur. Whoever came to know about this incident was shocked. Even the police officers were stunned. This method of death was absolutely unbelievable. The names of the two boys who died are Deepak and Suraj. Deepak is 20 years old and Suraj is 12 years old. Both seem to be brothers in distant relation.

Truck crushed both brothers
Chaumu police station said that the rear two tires of a truck went out late last night while passing through the National Highway. The truck was saved from overturning on the highway. But both the tires went into the service lane and crushed two brothers sitting outside their house there. Actually, the tires had crushed three people, one of whom has been admitted to the hospital.

Cremation of both brothers together
Deepak used to work as a laborer in a factory in Chaumu area. His father had died some time ago. His mother has also been doing the same labor for 2 years. But now the son also lost his life. After the death of Suraj, there is fog in his house. The last rites of both the brothers have been performed together this afternoon. The police have registered a case.