इन 4 महिला प्रत्याशियों की हर तरफ चर्चा, राजस्थान से लोकसभा के रण में दे रही जोरदार टक्कर

 0
इन 4 महिला प्रत्याशियों की हर तरफ चर्चा, राजस्थान से लोकसभा के रण में दे रही जोरदार टक्कर
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

इन 4 महिला प्रत्याशियों की हर तरफ चर्चा, राजस्थान से लोकसभा के रण में दे रही जोरदार टक्कर

लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर अब चुनावी बिसात बिछ चुकी है जहां बीजेपी और कांग्रेल दोनों ही दलों के प्रत्याशियों के नामांकन भरने का सिलसिला शुरू हो चुका है. वहीं प्रत्याशी अपने अपने इलाकों में जाकर चुनावी बिगुल बजा चुके हैं. इस बीच सूबे में कई महिला प्रत्याशियों की काफी चर्चा हो रही है जो बीजेपी और कांग्रेस दोनों खेमों से उतरी हैं.

बीजेपी और कांग्रेस दोनों दलों से हम बात करेंगे राजस्थान की उन 4 महिला प्रत्याशियों की जिनके चुनावी मैदान में उतरने के बाद हर कोई चर्चा कर रहा है. इन चार महिला प्रत्याशियों में 2 को हाल में विधानसभा चुनाव में हार मिली थी. वहीं कांग्रेस से संगीता बेनीवाल और गहलोत सरकार में मंत्री रहे प्रमोद जैन भाया की पत्नी उर्मिला जैन भाया को उतारा है.

नागौर से मैदान में ज्योति मिर्धा
बीजेपी की लिस्ट में पहला नाम नागौर से पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा का आया था जो 2019 में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ी थी लेकिन हनुमान बेनीवाल के सामने हार गई थी. इसके बाद 2023 में उन्होंने बीजेपी में शामिल होकर विधानसभा का चुनाव लड़ा लेकिन चुनाव हार गई. वहीं बीजेपी ने एक बार उन्हें अब लोकसभा का टिकट दिया है. ज्योति मिर्धा परिवार से आती है और जाट बाहुल्य क्षेत्रों में ज्योति के परिवार का बड़ा प्रभाव है.

दरअसल, पिछले चुनाव में नागौर में ज्योति मिर्धा के लिए एक नारा चला था ‘बाबा की पोती है, नागौर की ज्योति है’. इस बार भी माना जा रहा है कि नागौर में मिर्धा परिवार कम से कम 7 सीटों पर समीकरण बिगाड़ सकता है. ज्योति नाथू राम मिर्धा की पोती है और हर कोई जानता है कि जाट लैंड में नाथूराम मिर्धा परिवार का बड़ा असर है. ज्योति कांग्रेस के टिकट पर नागौर से 2009 में लोकसभा सांसद भी रही हैं.

पाली से उम्मीदवार है संगीता बेनीवाल
वहीं हमारी लिस्ट में दूसरा नाम संगीता बेनीवाल का है जिन्हें पाली से कांग्रेस ने उम्मीदवार बनाया है. संगीता बेनीवाल इससे पहले दो बार राज्य बाल अधिकार संरक्षण की अध्यक्ष रह चुकी है. वह पूर्व सीएम अशोक गहलोत की करीबी मानी जाती है. वहीं संगीता के ससुर पाली में मजिस्ट्रेड रहे हैं.

बारां झालावाड़ से उर्मिला जैन भाया
वहीं लिस्ट में एक नाम वसुंधरा राजे के गढ़ से उर्मिला जैन भाया का है जो गहलोत सरकार में मंत्री रहे प्रमोद जैन भाया की पत्नी है. 2009 में इन्होंने दुष्यंत सिंह के सामने चुनाव लड़ा था लेकिन उस दौरान सांसद का चुनाव हार गई थी. वहीं इस बार उर्मिला के पति भी विधानसभा चुनाव हार गए.

These 4 women candidates are being discussed everywhere, they are giving strong competition in the battle of Lok Sabha from Rajasthan.

The electoral chessboard has now been laid for the Lok Sabha elections 2024, where the process of filing nominations for the candidates of both BJP and Congress parties has started. The candidates have gone to their respective areas and sounded the election bugle. Meanwhile, there is a lot of discussion in the state about many women candidates who have come from both the BJP and Congress camps.

We will talk to both BJP and Congress parties about those 4 women candidates of Rajasthan whom everyone is talking about after entering the electoral fray. Of these four women candidates, 2 were defeated in the recent assembly elections. Whereas Congress has fielded Sangeeta Beniwal and Urmila Jain Bhaya, wife of Pramod Jain Bhaya, who was a minister in the Gehlot government.

Jyoti Mirdha in field from Nagaur
The first name in the BJP list was that of former Nagaur MP Jyoti Mirdha, who had contested the elections on Congress ticket in 2019 but lost to Hanuman Beniwal. After this, in 2023, she joined BJP and contested the assembly elections but lost the elections. At the same time, BJP has once given him Lok Sabha ticket. Jyoti comes from Mirdha family and Jyoti's family has a big influence in Jat dominated areas.

In fact, in the last election, a slogan was raised for Jyoti Mirdha in Nagaur, 'Baba ki poti hai, Nagaur ki Jyoti hai'. This time too it is believed that the Mirdha family can spoil the equation on at least 7 seats in Nagaur. Jyoti is the granddaughter of Nathu Ram Mirdha and everyone knows that the Nathuram Mirdha family has a big influence in Jat land. Jyoti has also been a Lok Sabha MP from Nagaur in 2009 on Congress ticket.

Sangeeta Beniwal is the candidate from Pali.
The second name in our list is that of Sangeeta Beniwal, who has been made the candidate by Congress from Pali. Sangeeta Beniwal has been the president of State Child Rights Protection twice before. She is considered close to former CM Ashok Gehlot. Sangeeta's father-in-law has been a magistrate in Pali.

Urmila Jain Bhaya from Baran Jhalawar
One name in the list is that of Urmila Jain Bhaya from Vasundhara Raje's stronghold, who is the wife of Pramod Jain Bhaya, who was a minister in the Gehlot government. In 2009, she had contested the election against Dushyant Singh but had lost the MP election during that time. This time Urmila's husband also lost the assembly elections.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT