ज्योति स्वामी ने सौंदर्य प्रतियोगिता में जीता मिसेज इंडिया टैलेंटेड 2024 का खिताब: एक सशक्त महिला की कहानी

 0
ज्योति स्वामी ने सौंदर्य प्रतियोगिता में जीता मिसेज इंडिया टैलेंटेड 2024 का खिताब: एक सशक्त महिला की कहानी
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT ADVERTISEMENT

ज्योति स्वामी ने सौंदर्य प्रतियोगिता में जीता मिसेज इंडिया टैलेंटेड 2024 का खिताब: एक सशक्त महिला की कहानी

सशक्त महिला की मिसाल: गुरुग्राम में हुई सौंदर्य प्रतियोगिता, देश प्रदेश  की 22 महिलाएं हुई शामिल असिस्टेंट प्रोग्रामर ज्योति स्वामी के सिर सजा /मिला मिसेज इंडिया टैलेंटेड 2024 का खिताब/ताज शहर के जस्सूसर गेट निवासी पीबीएम अस्पताल के रेडियो डायग्नोसिस विभाग में कार्यरत असिस्टेंट प्रोग्रामर ज्योति स्वामी ने मिसेज इंडिया टैलेंटेड 2024  का खिताब पाया है।इस सौंदर्य प्रतियोगिता का आयोजन गुरुग्राम में हुआ।

इस प्रतियोगिता के लिए देशभर की 22 महिलाओं ने भाग लिया, लेकिन 12 चरण की कड़ी प्रतियोगिता के बाद मिसेज इंडिया टैलेंटेड का ताज ज्योति स्वामी को पहनाया गया।ज्योति स्वामी ने बताया कि वह बेटी, बहु और असिस्टेंट प्रोग्रामर के साथ जैसे ज्वलंत मुद्दों जैसे कॉविड जागरूकता, जल सरक्षन, हेरिटेज सरंक्षण इत्यादि जनजागरण कार्यों में भी बढ़ चढ़ कर अपनी भूमिका निभाती है।  

इसके अलावा उन्हें कोविड वैक्सीनेशन में शहर में जागरूकता के लिए तथा अमृत महोत्सव रंगोली प्रतियोगिता में जिले भर में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर प्रधानमंत्री मोदीजी से भी प्रशंसा पत्र मिल चुका है।वह चाहे रंगोली प्रतियोगिता, मेहंदी प्रतियोगिता हो ड्राइंग प्रतियोगिता सब में मुख्य भूमिका निभाती है। सरकारी आयोजनों में भी वह संयोजक और समन्वयक के रूप में मुख्य भूमिका निभाती है।

घर परिवार के साथ अपने ऑफिस की जिम्मेदारियों के निर्वहन के साथ अपने शौक के लिए समय निकालना एक चुनौती से कम नहीं है।वह कहती है सौंदर्य प्रतियोगिता में खिताब जीतने के बाद देश समाज के लिए  उनकी जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है। इसके लिए उनके पति अनुराग स्वामी द्वारा उन्हें निरंतर प्रोत्साहन और सहयोग मिलता रहा।                            

 महिला द्वारा महिला को आगे बढ़ाना ही सही मायने में सशक्तिकरण है। असिस्टेंट प्रोग्रामर ज्योति स्वामी ने बताया कि वह दैनिक भास्कर की इकोफ्रेंडली गणेश मेकिंग अभियान की मुख्य ट्रेनर भी रही हैं।प्रतियोगिता केवल  एक ग्लैमर शो न होकर योग्यता विकास , साहस और आत्मविश्वास वर्धन  की एक सीढ़ी है ।जो व्यक्तिव विकास में मुख्य भूमिका अदा करेगा ।

इस प्रतियोगिता के लिए पूर्व में ऑडीशन और साक्षातकार हुए। तथा 12 चरणों से होकर गुजरना पड़ा। उनके पिता किशन लाल स्वामी ने बताया कि बेटी बचपन से ही हर क्षेत्र में अग्रणी रही है। अब एक बार फिर बेटी ने परिवार ,समाज , शहर और प्रदेश का नाम रोशन किया है।

Jyoti Swami wins the title of Mrs. India Talented 2024 in the beauty pageant: Story of a strong woman

Example of a strong woman: Beauty pageant held in Gurugram, 22 women from the country and state participated. Assistant Programmer Jyoti Swami was awarded the title/crown of Mrs. India Talented 2024. Assistant Programmer working in the Radio Diagnosis Department of PBM Hospital, resident of Jassusar Gate in the city. Jyoti Swami has won the title of Mrs. India Talented 2024. This beauty pageant was organized in Gurugram.

22 women from all over the country participated for this competition, but after 12 rounds of tough competition, the crown of Mrs. India Talented was given to Jyoti Swami. Jyoti Swami told that she along with her daughter, daughter-in-law and assistant programmer are facing burning issues like Covid. It also plays an active role in public awareness works like water conservation, heritage conservation etc.

Apart from this, she has also received a letter of appreciation from Prime Minister Modiji for creating awareness in the city regarding Covid vaccination and for getting first place in the district in the Amrit Mahotsav Rangoli competition. Be it Rangoli competition, Mehndi competition or drawing competition, she plays a key role in all. Is. She also plays a key role in government events as a convener and coordinator.

Finding time for her hobbies along with her family and office responsibilities is no less than a challenge. She says that after winning the title in the beauty pageant, her responsibility for the country and society increases even more. For this, she continued to receive continuous encouragement and support from her husband Anurag Swami.

Empowerment in the true sense is women taking women forward. Assistant Programmer Jyoti Swami told that she has also been the main trainer of Dainik Bhaskar's Eco-Friendly Ganesh Making Campaign. The competition is not just a glamor show but a step towards competency development, courage and self-confidence. Which will play a major role in personality development.

Auditions and interviews were held earlier for this competition. And had to go through 12 stages. Her father Kishan Lal Swami told that the daughter has been a leader in every field since childhood. Now once again the daughter has brought glory to the family, society, city and state.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT