सचिन पायलट ने भरी ‘हुंकार’- कृषि कानून जब तक वापस नहीं होंगे तब तक लड़ते रहेंगे

जयपुर, राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस के सीनियर नेता सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने कहा है कि जब तक केंद्र सरकार किसानों के बिल को वापस नहीं लेती है तब तक वह अपना संघर्ष जारी रखेंगे। सचिन पायलट शुक्रवार को राजस्थान (Rajasthan) के चाकसू में किसानों के समर्थन में महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) आयोजित करने के बाद एनबीटी से बात कर रहे थे।

किसान महापंचायत सचिन पायलट का शक्ति प्रदर्शन भी माना जा रहा है। अभी उन्हाेंने राज्य में तीन महापंचायत की हैं। शुक्रवार की महापंचायत में आई भीड़ पर सचिन पायलट ने एनबीटी से कहा कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) दोनों ने ऐलान किया है कि किसानों के पक्ष में आंदोलन जारी रहेगा। कांग्रेस (Congress) ने भी साफ संकेत दिया है कि किसानों के साथ संघर्ष क इस समय वह पूरी तरह साथ खड़ा रहेगी और इसी फैसले क अनुरूप वह किसानों के लिए आंदोलन को और मजबूत कर रहे हैं।

तीनों कृषि कानून वापस ले केंद्र: सचिन पायलट
उन्होंने कहा कि मूल रूप से तीन मांग हैं-केंद्र तीनों कृषि कानून वापस ले, न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए कानून बनाए, पेट्रोल डीजल और गैस के दाम कम करे, इन मांगों के पूरा करने के लिए संघर्ष जारी रखेंगे। सचिन पायलट ने यह भी कहा कि किसानों को सहानुभूति नहीं समाधान चाहिए।

3

कांग्रेस ने ही किसानों के मसलों को सुना है: पायलट
केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए सचिन पासलट ने कहा कि 80 दिन से अधिक समय से किसान आंदोलन करते हुए सड़क पर हैं लेकिन उनकी मांगों को अनदेखी कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ही किसानों के मसलों को सुना है और शीर्ष नेतृत्व का ही प्रयास था कि किसानों के पक्ष में दो दर्जन विपक्षी दल एक मंच पर आ चुके हैं।