ब्लूटूथ से नकल, डमी के लिए डेढ़ लाख में डील, बीकानेर सहित कई जिलों में डमी कैंडिडेट पकड़े

ब्लूटूथ से नकल, डमी के लिए डेढ़ लाख में डील, बीकानेर सहित कई जिलों में डमी कैंडिडेट पकड़े
07
5
width="150px" 5m12c20d21 width="150px" 13m10c20d21s width="220px"

राजस्थान में एसआई, रीट के बाद पटवारी परीक्षा में भी शनिवार को नकल गिरोह सक्रिय हो गए। पटवारी भर्ती की दोनों पारियां समाप्त हो चुकी है। बीकानेर, डूंगरपुर, बारां, भरतपुर, जोधपुर, जयपुर में डमी कैंडिडेट बनकर व ब्लूटूथ से नकल कराते हुए पकड़े गए है। शनिवार को प्रदेश के अलग-अलग जिलों में हुई कार्रवाई में 15 लोगों को पेपर बेचते हुए पकड़ा गया।

इनमें 5 जोधपुर से थे और 10 भरतपुर के। इसके अलावा परीक्षा में डमी कैंडिडेट भी पकड़ में आए है। इनमें 8 फर्जी कैंडिडेट को पकड़ उनसे पूछताछ की जा रही है। गौरतलब है कि आपको बता दें कि रीट पेपर लीक का मास्टरमाइंड भजनलाल अभी भी फरार है और बीकानेर में डिवाइस लगी चप्पल से नकल कराने वाला तुलसाराम भी फरार है। साथ नकल गिरोह से जुड़े कई लोग पकड़े नहीं जा सके है। ऐसे में पटवारी परीक्षा को नकल गिरोह से बचाना बड़ी चुनौती है।

जोधपुर : पेपर बेचते 5 पकड़े

पुलिस ने 5 लोगों को पेपर बेचते हुए गिरफ्तार किया है। इन्होंने कई युवकों को पटवारी भर्ती परीक्षा का पेपर बेच दिया। हालांकि जांच में पता लगा कि जो पेपर बेचा गया है, वह डमी पेपर है। जिन युवकों को पेपर बेचा गया, उन्हें भी पता नही था कि ये असली पेपर है या फिर नकली पेपर है। पुलिस पांचों युवकों से पूछताछ कर रही है।

भरतपुर : पेपर के साथ 10 पकड़े

पुलिस ने भरतपुर में पटवारी भर्ती के पेपर के साथ 10 युवकों को पकड़ा है। इनका अलवर में सेंटर आया हुआ था। फोन लोकेशन के आधार पर इन्हें नगर से पकड़ा है। ये एक दिन पहले भरतपुर से आगरा गए थे। फिर वापस लौट आए। इनसे पेपर सामग्री मिली है। पुलिस असली पेपर से मिलान कर रही है।

जयपुर : ब्लूटूथ से नकल करते पकड़ा

आदर्श नगर में सेंटर से जयपुर पुलिस ने एक युवक को ब्लूटूथ से नकल करते हुए पकड़ा है। वह सेंटर में ब्लूटूथ लेकर अंदर चला गया था। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

बारां : दो डमी कैंडिडेट पकड़े गए
बारां पुलिस ने दूसरे की जगह पर परीक्षा देते हुए दो डमी कैंडिडेट को पकड़ा है। उसके 4 साथियों को भी पकड़ा गया है। दौसा निवासी चेतन मीणा का सेंटर अपेक्स स्कूल में आया था। उसकी जगह पर पटना निवासी रोशन कुमार पेपर देने पहुंचा। उसकी फोटो मैच नहीं हुई तो रोशन को पूछताछ में पकड़ लिया। इसके अलावा दौसा निवासी दिलराज की जगह पर जोधपुर के कान्हासर निवसाी रोहिताश को पेपर देते हुए पकड़ा है। बिहार के तीन साथियों को हिरासत में लिया है।

डूंगरपुर : डेढ़ लाख रुपए में डमी कैंडिडेट देने पहुंचा
बोरी में गुरूकुल कॉलेज परीक्षा केंद्र पर परीक्षा शुरू होने के अंतिम समय में पाली निवासी अशोक कुमार पहुंचा। उसके प्रवेश पत्र व आईडी कार्ड मांगे गए। दस्तावेजों में काफी चेंज दिखने पर पूछताछ की गई। उसने पुराना फोटो होने की बात कहीं। उसे अंदर परीक्षा देने भेज दिया। उसकी भाषा पर संदेह होने पर नजर रखी। बाद में पुलिस को सूचना देकर बुलाया। जैसे ही वह बाहर आया तो उसे पकड़ लिया। उसने बताया कि वह भरत सिंह निवासी बांसवाड़ा की जगह पर डमी कैंडिडेट बनकर आया था। और डेढ़ लाख रुपए में पेपर की डील हुई थी।

बीकानेर : ब्लूटूथ के साथ दो पकड़े
रीट पेपर में चप्पल में डिवाइस लगाकर नकल कराने वाला तुलसाराम अभी फरार है। पुलिस ने उसके भतीजे सौरव कालेर के घर जयनारायण व्यास कालोनी में छापा मारा। पुलिस को सूचना मिली कि सौरव नकल कराने का सामान बेच रहा है। सौरव पुलिस के पहुंचने से पहले फरार हो गया। मकान की तलाशी में काफी नकल कराने का सामान मिला। पुलिस ने उम्मेदाराम व चौधरी कॉलोनी निवासी राजाराम को ब्लूटूथ के साथ गिरफ्तार किया है।

.

.

.

After SI, REET in Rajasthan, copying gangs became active in the Patwari examination on Saturday. Both the shifts of Patwari recruitment are over. In Bikaner, Dungarpur, Baran, Bharatpur, Jodhpur, Jaipur, they have been caught as a dummy candidate and copying through Bluetooth. In the action taken in different districts of the state on Saturday, 15 people were caught selling paper.


Of these, 5 were from Jodhpur and 10 from Bharatpur. Apart from this, dummy candidates have also come in the exam. Out of these, 8 fake candidates are being caught and interrogated. Let us tell you that Bhajanlal, the mastermind of Reet paper leak is still absconding and Tulsaram, who copied the slippers fitted with the device in Bikaner, is also absconding. Along with this, many people associated with the copying gang could not be caught. In such a situation, it is a big challenge to save the Patwari exam from the cheating gang.

Jodhpur: 5 caught selling paper
Police has arrested 5 people while selling paper. He sold the Patwari recruitment exam paper to many youths. However, during investigation, it was found that the paper sold was a dummy paper. The youths to whom the paper was sold did not even know whether it was real paper or fake paper. Police are interrogating the five youths.

Bharatpur: 10 caught with paper

Police has caught 10 youths in Bharatpur with Patwari recruitment papers. He had come to the center in Alwar. On the basis of the phone location, they have been caught from the city. He had gone from Bharatpur to Agra a day earlier. Then came back. Paper material has been received from them. Police is matching the original paper.


Jaipur: Caught copying through bluetooth

From the center in Adarsh ​​Nagar, Jaipur Police has caught a young man copying through Bluetooth. He had gone inside with Bluetooth in the centre. Police is interrogating him.

Baran: Two dummy candidates caught
Baran Police has caught two dummy candidates while giving the exam instead of the other. Four of his associates have also been arrested. Dausa resident Chetan Meena's center came to Apex School. In his place, Patna resident Roshan Kumar reached to deliver the paper. When his photo did not match, Roshan was caught in interrogation. Apart from this, in place of Dilraj, a resident of Dausa, he has been caught giving paper to Rohitash, a resident of Jodhpur's Kanhasar. Three accomplices from Bihar have been detained.

Dungarpur: Arrived to give dummy candidate for one and a half lakh rupees
Ashok Kumar, a resident of Pali, reached the Gurukul College examination center in Bori at the last minute of the commencement of the examination. His admit card and ID card were asked for. Inquiries were made after there were significant changes in the documents. He talked about being an old photo. He was sent inside to take the exam. He kept an eye on suspicion of his language. Later the police was called after giving information. As soon as he came out, he caught him. He told that he had come to the place of Bharat Singh resident of Banswara as a dummy candidate. And the paper deal was done for one and a half lakh rupees.


Bikaner : Holding two with bluetooth
Tulsaram, who copied the device in the slipper in the reet paper, is still absconding. The police raided his nephew Saurav Kaler's house in Jaynarayan Vyas Colony. The police got information that Saurav was selling counterfeit goods. Saurav fled before the police arrived. During the search of the house, a lot of counterfeit goods were found. The police have arrested Rajaram, a resident of Ummedaram and Chaudhary Colony, with Bluetooth.