Connect with us

देश

मॉडर्ना: भारत को मिली 90% से ज्यादा प्रभावी वैक्सीन, इसके बारे में यहां जानें

Published

on

अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना की वैक्सीन के रूप में भारत को कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ चौथा टीका मिल गया है. तीसरी लहर (Third Wave) के डर के बीच देश बड़े स्तर पर टीकाकरण करने की योजना बना रहा है. ऐसे में विदेशी वैक्सीन को मंजूरी मिलना काफी अहम माना जा रहा है. खास बात यह भी है कि मॉडर्ना की वैक्सीन mRNA प्लेटफॉर्म पर तैयार हुई है. mRNA प्लेटफॉर्म पर तैयार हुए कई वैक्सीन उम्मीदवारों ने ज्यादा प्रभावकारिता के रूप में ट्रायल के दौरान बेहतर नतीजे दिए हैं. आइए इस वैक्सीन को और बेहतर ढंग से जानते हैं.

यह भी पढ़ें:हैवानियत! नई नवेली दुल्हन की पति ने अपनी आंखों के सामने लुटवाई अस्मत, वजह…

सबसे पहले, mRNA वैक्सीन का मतलब क्या होता है?

मॉडर्ना और फाइजर वैक्सीन का निर्माण mRNA प्लेटफॉर्म पर हुआ है. इन दोनों को एक वर्ग की वैक्सीन कहा जा सकता है. क्योंकि ये दोनों प्रमुख रूप से इम्यून सिस्टम को तैयार करने के लिए लक्षित पैथोजन या वायरस के जैनेटिक मटेरियल का इस्तेमाल करती हैं. ऐसी वैक्सीन तैयार करने के लिए वैज्ञानिक वायरस में शामिल जैनेटिक मटेरियल को निकालते हैं और इंसान के शरीर में डालते हैं.

यह भी पढ़ें-   'रामदेव ने अगर आपत्तिजनक बातें कीं तो मानहानि का केस कीजिए', IMA की अर्जी पर HC की टिप्पणी

कोविड-19 की mRNA वैक्सीन के मामले में यह जैनेटिक मटेरियल इंसान के सेल्स को विशेष स्पाइक प्रोटीन तैयार करने के लिए प्रोत्साहित करता है. ये स्पाइक प्रोटीन नोवल कोरोना वायरस की सतह पर ठहरता और लोगों को संक्रमित करने में उसकी मदद करता है. अब जब इंसान के सेल्स इस स्पाइक प्रोटीन को तैयार करते हैं, तो इम्यून सिस्टम इसे खतरे की तरह मानता है और इसके खिलाफ एंटीबॉडीज बनाना शुरू कर देता है. इस प्रक्रिया के चलते शरीर को वायरस के खिलाफ तैयार करने में मदद मिलती है. ये वैक्सीन अच्छी इम्यून प्रतिक्रिया तैयार करती हैं और वायरस का लाइव कंपोनेंट इस्तेमाल नहीं किए जाने के चलते टीके को सुरक्षित माना जाता है.

यह भी पढ़ें:पिता पुत्री ने उठाया यह खौफनाक कदम,फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली

दूसरा, मॉडर्ना वैक्सीन की प्रभावकारिता दर क्या है? क्या यह वेरिएंट्स के खिलाफ सुरक्षा देती है?

अमेरिका में फाइजर के बाद आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी पाने वाली दूसरी वैक्सीन मॉडर्ना की थी. शुरुआती क्लीनिकल डेटा बताता है कि मॉडर्ना की वैक्सीन नोवल कोरोना वायरस के खिलाफ 94.1 प्रतिशत प्रभावी है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, दूसरे डोज के बाद वायरस के खिलाफ पूरी इम्युनिटी तैयार करने में वैक्सीन को करीब दो हफ्ते लगते हैं. क्लीनिकल ट्रायल के अलावा असल दुनिया में भी वैक्सीन 90 प्रतिशत से ज्यादा प्रभावी देखी गई है.

यह भी पढ़ें-   क्या आपके पास भी 500 रुपये का ये नोट है? RBI ने दी अहम जानकारी, फटाफट जानें डिटेल

मॉडर्ना ने 29 जून को कहा था कि उसकी वैक्सीन डेल्टा वेरिएंट का सामना कर सकती है. कंपनी ने कहा था कि mRNA टीका बीटा के मुकाबले डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ एंटीबॉडीज तैयार करने में ज्यादा प्रभावी है. कंपनी के सीईओ स्टीफन बंसेल ने कहा था, ‘नए डेटा प्रोत्साहित करने और हमारा भरोसा दोबारा तैयार करने वाले हैं कि मॉडर्ना वैक्सीन नए वेरिएंट्स के खिलाफ सुरक्षित रहेगी.’

यह भी पढ़ें:मंदिरा बेदी के पति राज कौशल का निधन, दिल का दौरा पड़ने से हुई मौत 

तीसरा, क्या इस वैक्सीन का निर्माण भारत में होगा? इसमें कानूनी और परिवहन संबंधी परेशानियों का क्या?

रिपोर्ट्स से पता चला है कि वैक्सीन के शुरुआती डोज मॉडर्ना के स्थानीय साझेदार सिप्ला की तरफ से आयात किए जाएंगे. इसके बाद ये दान के रूप में आएंगे. इस बात की अभी पुष्टि नहीं हो सकी है कि मॉडर्ना की टीका बाजार में बिकने के लिए कब उपलब्ध होगा.

यह भी पढ़ें-   इसी महीने आ सकती है 3 डोज वाली निडिल फ्री देसी वैक्सीन

मॉडर्ना ने फाइजर की तरह ही ब्रिजिंग ट्रायल और इंडेम्निटी यानि क्षतिपूर्ति का मुद्दा उठाया था. मॉडर्ना की वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए अनुमति देते हुए नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने कहा कि इंडेम्निटी के मुद्दे पर ‘बात हो चुकी है और केंद्र सरकार ने इसे जांच के दायरे में लिया है.’

भारत में mRNA वैक्सीन की लॉन्चिंग के साथ लॉजिस्टिक एक बड़ा मुद्दा है. इन वैक्सीन को बेहद ठंडी जगह पर रखा जाना जरूरी है. हालांकि, पॉल ने का है कि बंद वायल्स को 2-8 डिग्री सेल्सियस तक 30 दिनों के लिए रखा जा सकता है. यह आंकड़ा भारत के कोल्ड स्टोरेज इंफ्रास्ट्रक्चर के लिहाज से ठीक है. वहीं, अगर इस वैक्सीन को लंबे समय के लिए रखना है, तो इसे -20 डिग्री सेल्सियस पर जमाना होगा.

Advertisement Girl in a jacket Girl in a jacket
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Girl in a jacket
Advertisement
Girl in a jacket
क्राइम16 mins ago

बीकानेर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी, दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लूटी हुई कार भी बरामद

देश56 mins ago

‘मन की बात’ का 79वां संस्करण : आज देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

राजस्थान17 hours ago

RAS परीक्षा धांंधली मामले में भाजयुमो के कार्यकर्ताओं ने शिक्षा मंत्री डोटासरा को दिखाए काले झंडे

राजनीति17 hours ago

राजस्थानः वैक्सीनेशन पर आर-पार, बीजेपी ने लगाया डोज वेस्ट का आरोप, कांग्रेस ने किया पलटवार

क्राइम17 hours ago

पोर्नोग्राफी case: क्राइम ब्रांच ने शिल्पा शेट्टी से पूछे ये सवाल, 3-4 बार रोईं फिर बोलीं- मेरी इमेज को बड़ा धक्का लगा है

राजस्थान23 hours ago

राजस्थान को मिलेंगे 17 IAS और 5 IPS, प्रमोशन के लिए गहलोत सरकार ने UPSC को भेजे इन अफसरों के नाम

राजस्थान23 hours ago

राजस्थान: एक लाख का कर्जा चुकाने के लिए मासूम के हाथों में थमा दिया कटोरा

खेल23 hours ago

Tokyo Olympic 2020 : मीराबाई चानू ने भारोत्तोलन में जीता सिल्वर मेडल, ऐसा करने वाली बनीं पहली भारतीय

शिक्षा1 day ago

12वीं बोर्ड कला, वाणिज्य और विज्ञान वर्ग के आज शाम 4 आएंगे नतीजे, ऐसे करें Check

राजस्थान1 day ago

राजस्थान में 2 अगस्त से नहीं खुलेंगे स्कूल:सरकार का यूटर्न, अब 5 मंत्रियों की समिति तय करेगी स्कूल-कॉलेज खोलने की तारीख, CM ने एक दिन बाद ही बदला शिक्षा मंत्री का फैसला

देश3 weeks ago

महिला ने सरकार को नहीं दी जमीन, हाईवे के बीचोंबीच कैद कर दिया घर

बीकानेर3 weeks ago

बीकानेर: कलक्टर की कमान संभालेंगे अरूण प्रकाश

सेहत3 weeks ago

OMG: मास्क पहनकर रनिंग कर रहे शख्स का फट गया था फेफड़ा, बाएं से दाएं खिसककर आया दिल

क्राइम2 weeks ago

ढाबों पर छापा, आपत्तिनजक हालत में मिले 12 युवतियों सहित 3 युवक

देश3 weeks ago

तीन साल के मासूम ने बचाई प्रेग्नेंट मां और दुधमुहे भाई की जान, सोशल मीडिया पर बना हीरो, देखें विडियो

क्राइम3 weeks ago

मंदिर परिसर में मिले खून, तालाब में युवक का खून से लथपथ शव मिलने से सनसनी फैल गई

राजस्थान2 weeks ago

स्कूलें खुलने को लेकर आई यह खबर – मंत्री परिषद का फैसला

बीकानेर3 weeks ago

बीकानेर: किन्नर के साथ अप्राकृतिक दुष्कर्म कर बनाया वीडियों

बीकानेर3 weeks ago

जारी हुई दूसरी लिस्ट, बढ़ी पॉजिटिव की संख्या

मनोरंजन3 weeks ago

आमिर खान और किरन ने एक दूसरे से अलग होने का फैसला किया

Advertisement
Girl in a jacket

Trending