Home राजस्थान खुद को सियासत के केन्द्र बिंदु में खड़ी करने में जुटी वसुंधरा...

खुद को सियासत के केन्द्र बिंदु में खड़ी करने में जुटी वसुंधरा राजे, 8 मार्च को हो सकता है खुलासा

0
Rajasthan: खुद को सियासत के केन्द्र बिंदु में खड़ी करने में जुटी वसुंधरा राजे, 8 मार्च को हो सकता है खुलासा– News18 Hindi

राजस्थान की सियासत में बैक फुट पर खड़ी वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) एक बार फिर अपने आपको सियासत (Politics) के केन्द्र बिंदु पर खड़ी करने में जुट गई है. यही वजह है कि राजे राजस्थान से दूर देश की राजधानी दिल्ली में अपने सिंधिया विला में सियासत की शतरंज को सुलझाने में जुटी हैं. बीजेपी (BJP) में चल रही गुटबाजी जयपुर से लेकर दिल्ली तक चर्चा का विषय बनी हुई है.

एक तरफ जहां वसुंधरा राजे प्रदेश बीजेपी की बैठकों से दूरी बना रही है, वहीं वसुंधरा के समर्थक चाहते हैं वसुंधरा को पार्टी सीएम फेस बनाये. लेकिन प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया और राजेन्द्र राठौड़ के तिकड़ी के सामने यह कैसे संभव होगा. क्योंकि सीएम बनना तो सबका सपना है. इसलिए 8 मार्च को अपने जन्मदिन पर वसुंधरा राजे कुछ बड़ा करने की तैयारी में जुटी हुई हैं. इस मौके पर वसुंधरा राजे रैली करके शक्ति प्रदर्शन कर सकती है या भरतपुर में देवी देवताओं के दर्शन करने और 84 कोसी परिक्रमा करने के बाद कुछ बड़ा निर्णय ले सकती हैं.

वर्चस्व को लेकर पार्टी में दो खेमे बने

प्रदेश में जब से सतीश पूनिया ने पार्टी अध्यक्ष की कमान संभाली है तभी से दोनों के बीच रिश्ते ठीक नहीं हैं. अपने-अपने वर्चस्व को लेकर पार्टी में दो खेमे बने हुए हैं. वसुंधरा राजे प्रदेश बीजेपी की बैठक से कोई न कोई बहाना बना कर दूरी बना लेती है. ऐसे में इसी बीच 21 फरवरी को दिल्ली में बीजेपी पदाधिकारियों की बैठक होनी है. इस बैठक में राजस्थान की तरफ से पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष होने के नाते वसुंधरा राजे को शामिल होना है. वहीं प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया को भी शामिल होना है. उनके साथ ही महामंत्री अलका गुर्जर और संगठन मंत्री चन्द्रशेखर भी इसमें शामिल होंगे.

घमासान बढ़ा तो हो सकता है बड़ा नुकसान
पिछले दिनों दिल्ली में वसुंधरा राजे और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा के बीच बैठक हुई थी. उसके बाद से उम्मीद की जा रही है 21 तारीख की बैठक में राजस्थान में चल रही गुटबाजी को सुलझा लिया जाएगा. क्योंकि अगर समय रहते राजस्थान बीजेपी की यह उलझी गुत्थी नही सुलझी तो घमासान और बढ़ सकता है जो कि पार्टी के लिए बड़ा खतरा साबित होगा.

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here