Home उदयपुर मुसलमानों को भारत से अच्छा देश, हिंदू से अच्छा दोस्त और मोदी...

मुसलमानों को भारत से अच्छा देश, हिंदू से अच्छा दोस्त और मोदी जैसा नेता नहीं मिल सकता- शाहनवाज हुसैन

0

बिहार सरकार में उद्योग मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने देश में मुसलमानों की सुरक्षा को लेकर बड़ा बयान दिया है. शाहनवाज हुसैन ने कहा कि देश का मुसलमान पूरी तरह से सुरक्षित है और यदि कोई असुरक्षित महसूस करता है तो वह उनके संज्ञान में लाएं. उस मुसलमान की सुरक्षा की गारंटी वे स्वयं देंगे. शाहनवाज हुसैन ने कहा कि हिंदुस्तान से अच्छा देश, हिंदू से अच्छा दोस्त और मोदी से अच्छा नेता मुसलमानों को नहीं मिल सकता. क्योंकि भारत का मुस्लिम पूरी तरह से सुरक्षित और खुश है, जबकि अन्य इस्लामिक देशों में ही मुसलमानों की स्थिति अच्छी नहीं है.

शाहनवाज हुसैन उदयपुर में एक निजी कार्यक्रम में शरीक होने आए थे, इस दौरान दौरान उन्होंने मीडिया से भी बातचीत की और कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार में उद्योगों को बढ़ाना अब उनकी प्राथमिकता रहेगी. हालांकि उन्होंने इसे चुनौतीपूर्ण कार्य बताया और कहा की पार्टी हमेशा उन्हें कठिन काम देती है और यह विश्वास करती है कि वह उस कार्य में खरा उतरेंगे. शाहनवाज हुसैन ने कहा कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक कमल खिलाने की जिम्मेदारी थी और उन्होंने कश्मीर घाटी में भी कमल खिला कर अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाया.

किसान आंदोलन को लेकर भी शाहनवाज हुसैन ने साफ किया कि जिस तरह का हुड़दंग किसान आंदोलन के नाम पर किया गया है यह किसानों द्वारा नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि इस सरकार का किसानों से बैर नहीं है और देश को बदनाम करने वाली ताकतों की भी खैर नहीं है. पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर भी पूछे गए सवाल पर शाहनवाज हुसैन ने कहा कि कीमत पहले भी बढ़ी है और फिर कम भी हुईं. इस बार भी कीमत बढ़ी हैं. ऐसे में फिर से कम भी होंगी और सरकार यह कोशिश कर रही है कि आम जनता को इससे राहत मिल सके.

शाहनवाज हुसैन नें कहा कि देश में कांग्रेस का दुर्भाग्य है कि उसे सत्ता में रहना नहीं आता और मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाने में भी कांग्रेस कमजोर रही हैं. हुसैन ने राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि दो वर्ष की उपलब्धियों के होर्डिंग्स लगवाने वाली प्रदेश सरकार यदि इस पैसे का इस्तेमाल झीलों के संरक्षण में करती तो ठीक था.

 

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here