Home राजनीति निकाय प्रमुखों के लिए मतदान शुरू, भाजपा पर कांग्रेस कितनी भारी, आज...

निकाय प्रमुखों के लिए मतदान शुरू, भाजपा पर कांग्रेस कितनी भारी, आज साफ हो जाएगी तस्वीर

0

जयपुर. राज्य की सियासत में सियासी पारा चढ़ाने वाले निकाय प्रमुखों के चुनाव के लिए आज मतदान शुरू हो गया है. मतदान का समय सुबह 10:00 बजे से दोपहर बाद 2:00 बजे रखा गया है. मतदान की समाप्ति के तुरंत बाद मतगणना होगी. राज्य निर्वाचन आयोग की तैयारियां पूरी हैं. आयोग ने निर्वाचन अधिकारियों को स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं.

प्रदेश के 90 में से 87 शहरी निकायों में अध्यक्ष पद पर नाम वापसी के बाद अब 197 उम्मीदवार चुनावी मैदान में रह गए हैं. नागौर की कुचेरा, बांसवाड़ा की कुशलगढ़ और झुंझुनू की मुकंदगढ नगरपालिका में निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए हैं, इसलिए आज 87 शहरी निकायों में अध्यक्ष का चुनाव हो रहा है. अध्यक्ष पद पर 268 उम्मीदवारों के नामांकन सही पाए गए थे, 68 उम्मीदवारों ने नाम वापस ले लिये हैं. 19 निकायों में त्रिकोणीय मुकाबला नाम वापसी के बाद अब 67 शहरी ​निकायों में निकाय अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस-बीजेपी के उम्मीदवार आमने सामने मुकाबले में हैं.

प्रदेश के 19 निकायों में त्रिकोणीय मुकाबला

अध्यक्ष पद पर सबसे ज्यादा 6 उम्मीदवार झुंझुनू की चिड़ावा नगरपालिका में हैं. पार्षदों की संख्या के हिसाब से 90 में से 19 निकायों में कांग्रेस, 25 में बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिला, 46 निकायों में निर्दलीय निर्णायक हैं. अब कई निकायों में कांग्रेस-बीजेपी जोड़तोड़ में लगे हैं, 7 फरवरी को अध्यक्ष पद पर वोटिंग और उसी दिन रिजल्ट आएगा. कांग्रेस ने 50 से ज्यादा निकायों में खुद के अध्यक्ष बनाने का दावा किया है. गंगापुर, नोखा, लाखेरी, सागवाड़ा, भादरा, पीलीबंगा, रावतसर, संगरिया, पोकरण, बगड़, खेतड़ी, सूरजगढ, उदयपुरवाटी, सोजतसिटी, तख्तगढ, खंडेला, लक्ष्मणगढ, रींगस और उनियारा में त्रिकोणीय मुकाबला होने के आसार है.कांग्रेस को सबसे ज्यादा वार्ड में मिली थी जीत

90 निकायों के 3035 वार्डों के लिए हुए चुनाव परिणाम में भाजपा को 1140 वार्ड में जीत मिली. वहीं कांग्रेस पार्टी को 1197 वार्डों में जीत मिली. जबकि 634 वार्डों में निर्दलीयों की जीत हुई है. 90 निकायों में से कांग्रेस को 19 निकायों में ही पूर्ण बहुमत मिला है, तो वहीं भाजपा को 24 निकायों में पूर्ण बहुमत मिला है. जबकि 46 निकाय ऐसे हैं जहां पर निर्दलीयों के हाथों में सत्ता की चाबी है.

चुनाव डालेंगे राज्य की सियासत पर असर

निकाय प्रमुखों के चुनाव राज्य की सियासत में असर डालेंगे. राज्य की सियासत में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो जाएगा. ये चुनाव सियासी तौर पर कांग्रेस के लिए महत्वपूर्ण माने जा रहे. आसार ऐसे लग रहे हैं कि कांग्रेस सबसे ज्यादा निकाय प्रमुख बनाने में सफल रहेगी. यदि ऐसा होता है तो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विरोध के स्वरों को दबाने में सफल रहेंगे.

 

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here