Home जोधपुर आनंदपाल के सहयोगी को मारने के लिए हथियार देने वाले को जयपुर...

आनंदपाल के सहयोगी को मारने के लिए हथियार देने वाले को जयपुर जेल से लेकर आई पुलिस, जेल भेजा

0

आखिरकार पुलिस ने गैंगस्टर ओमा ठेहट को हथियार सप्लाई करने वाले को गिरफ्तार कर लिया। उजागर सिंह​ जयपुर जेल में बंद था जिसको सीकर की उ़द्योगनगर थाना पुलिस प्रोडक्शन वारंट पर पकड़ कर लाई है।

थानाधिकारी पवन चौबे ने बताया कि झोटवाड़ा के सत्यनगर निवासी उजागर सिंह को जयपुर जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाए है। दरअसल आनंदपाल सिंह के साथी शक्तिसिंह को मारने के लिए ओमा ठेहट ने कुछ गुर्गे भेजे थे। उनको हथियार भी ओमा ने दिलवाए थे। 28 जून 2020 को बदमाश शक्ति सिंह को मारने के लिए जा रहे थे, लेकिन रास्ते में सदर थाना पुलिस से टकरा गए। मुठभेड़ के बाद पुलिस ने कुछ बदमाशों को पकड़ लिया।

बदमाशों के पास विदेशी पिस्टल बरामद हुई। संजय धायल पुत्र श्रवण कुमार जाट निवासी कोटडी धायलान रींगस, संजेश बैरवाल उर्फ गट्टू पुत्र रामनिवास जाट निवासी परडोली सीकर, हर्षवर्धन सिंह पुत्र राजेश कुमार जाट निवासी जाट बहरोड, शाहजहांपुर अलवर, हर्ष पुत्र राजेंद्र कुमावत निवासी चेजारों का मोहल्ला पिलानी को गिरफ्तार किया था। बदमाशों को पकड़े जाने के बाद उन्होंने गैंगस्टर राजू ठेहट के भाई ओमा ठेहट का नाम लिया। ओमा ठेहट उस दौरान जेल में बंद था। इसके बाद हथियारों को लेकर ओमा से पूछताछ की तो सामने आया कि झोटवाड़ा निवासी उजागर सिंह ने हथियार सप्लाई किए है। इसके बाद पुलिस प्रोडक्शन वारंट पर उजागर सिंह को लाई और कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया।

बदमाश उजागर सिंह जयपुर के सिंधीकैंप में वाहन चोरी और झोटवाड़ा में दर्ज एक मुकदमे में फरार चल रहा था। फरारी काटने के दौरान पुलिस को चकमा देने के लिए गाडियां बदलता रहता है। वह नीमकाथाना में फरारी काट रहा था। जयपुर पुलिस ने मनीष सैनी गैंग के साथ उसे खोहनागोरियान थाना इलाके में पकड़ा था। जिसके बाद से वह जयपुर जेल में बंद था।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here