राजस्थान (Rajasthan) के जोधपुर (Jodhpur) शहर के डॉ एसएन मेडिकल कॉलेज में शर्मनाक घटना सामने आई है. कोविड ड्यूटी में लगे एक रेजीडेंट डॉक्टर ने जूनियर छात्रा को नाईट ड्यूटी पर बुलाकर उसके साथ यौन शोषण का प्रयास किया. इस बीच जूनियर छात्रा ने मेडिकल कॉलेज प्रसासन को रेजीडेंट डॉक्टर की शिकायत दर्ज करवाई. छात्रा की शिकायत पर मेडिकल कॉलेज प्राचार्य ने रेजीडेंट डॉक्टर को निलंबित कर दिया. दरसअल मामला 4 मई का है. उस दिन रात को कोविड विंग में तैनात रेजीडेंट डॉक्टर सुरेंद्र सिंह ने कॉलेज के आंठवे सेमेस्टर की एक छात्रा को कोविड आईसीयू में नाईट ड्यूटी के लिए बुलाया.

छात्रा ने उसी रात को हॉस्टल वार्डन से डॉ सुरेंद्र सिंह के खिलाफ यौन शोषण का आरोप लगाया. छात्रा ने बताया कि आईसीयू में डॉ सुरेंद्र सिंह ने यौन शोषण की कोसिस की. इसके बाद हॉस्टल वार्डन ने मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य को शिकायत दर्ज करवाने की बात कही और छात्रा ने प्राचार्य डॉ. एसएस राठोड़ को रेजीडेंट डॉक्टर सुरेंद्र सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई.

एक महीने के लिए निलंबन

मेडिकल कॉलेज ने इस मामले को महिला उत्पीड़न कमेटी को सौंपा. महिला उत्पीड़न कमेटी ने शिकायत को देखते हुए रेजीडेंट डॉक्टर सुरेंद्र सिंह के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की अनुसंशा कर दी. मामले की गंभीरता को देखते हुए. प्राचार्य डॉ. एसएस राठौड़ ने कमेटी की रिपोर्ट पर मेडिसिन के रेजीडेंट डॉ सुरेंद्र सिंह को एक महीने के लिए निलंबित कर दिया. साथ ही रेजीडेंट सुरेंद्र सिंह के रेजीडेंट की कोर्स की अवधि एक माह के लिए बढ़ा दी.

छात्रा ने अन्य छात्राओं को किया प्रेरित

पीड़ित छात्रा ने घटना के बाद हॉस्टल की सभी छात्राओं को ऐसी घटनाओं पर आवाज उठाने के लिए प्रेरित किया. पीड़ित छात्रा ने सोशल साइट्स पर लिखा कि आपकी मर्जी के बिना कोई आपकी उंगली तक को नही छू सकता है. आपके साथ किसी ने कोई हरकत की है. तो उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करवाए. छात्रा ने कहा ऐसे लोगों पर सजा मिलनी ही चाहिए.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here